पीलीभीत पहुंचे सांसद वरुण गांधी ने लोगों से जन संवाद किया और महंगाई बेरोजगारी के मुद्दे पर की बात*

 *

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट*

पीलीभीत। सांसद वरूण गांधी ने शुक्रवर को बरखेड़ा ब्लॉक क्षेत्र के भैंसा ग्वालपुर, मुडिया कुंडरी, जगीपुर, कोकिला, मुड़िया हुलास, कबूलपुर, कटकावरा, पुरैना, खिड़किया, कडेला, विचपुरी, ढकिया, डांडिया भगत आदि गांवों में जनसंवाद कार्यक्रम को संबो​​धित किया। 


जनसंवाद कार्यक्रम में सांसद वरुणा गांधी ने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए कहा देश में बडुी संख्या में सरकारी नौकरियां खाली है, जो भरी  नहीं जा रही है। हर घर में कोई न कोई बेरोजगार है। मैंने पूछा कि नौकरी क्यों नहीं दी जाती है तो बताया कि इस पैसों से लोगों को आटा, दाल और चना दिया जाता है। यह कैसा दुर्भाग्य है। सांसद ने कहा लोग पैसों और नाम के लिए नेता बनते हैं, लेकिन मेरी राजनीति लोगों की भलाई के लिए है। सांसद ने कहा किसान आंदोलन के दौरान कोई उनकी मदद के लिए नहीं आया। देश का अकेला सांसद


उनकी मदद के लिए आवाज उठाई। कहा मेरा प्रयास रहता है कि आम इंसान को पूरा सम्मान मिले, लेकिन अन्य नेता ऐसा नहीं सोचते हैं। सांसद कहा कि मेरा मानना है कि देश के सांसद, विधायक, डीएम, एसपी सहित बड़े नेता व अ​धिकारियों के बच्चों को सरकारी स्कूल में पढाया जाना अनिवार्य कर देना चाहिए। सरकारी अस्पताल में इलाज कराना अनिवार्य कर देना चाहिए, ताकि उनको भी आम आदमी की परेशानी का पता चल सके। सांसद ने कहा कि पीलीभीत में उनका कोई भी घर नहीं है। पीलीभीत हमारा परिवार है। हर एक व्य​क्ति हमारा है। उनकी मदद के लिए मैं हमेशा तैयार हूं। सांसद ने कहा किसी को कोई परेशान है तो वह किसी भी समय याद कर सकता है। सांसदने कहा कि गरीबों के पसीने से लोग नेता बन जाते हैं, लेकिन गरीबों का ध्यान नहीं रखते हैं। कहा कि कोरोना के दौरान किसी भी नेता ने किसी की मदद नहीं की, लेकिन मैंने लोगों के लिए दवाइयां उपलब्ध कराई। रसोई चलाई, ताकि कोई भूखा न रहे। कहा कि बरेली, लखीमपुर, शाहजहांपुर में कोरोना के दौरान काफी लोगों की मौत हुई थी, लेकिन पीलीभीत में काफी कम लोगों की मृत्यु हुई। यहां पर समय से ऑक्सीजन, दवाएं उपलब्ध करा दी गई है। सुबह में सांसद वरुण गांधी ने शंकर सॉल्वेंट पर जनता की समस्याएं भी सुनी।

कार्यक्रमों के दौरान सांसद सचिव कमलकांत, प्रभारी राकेश शहरावत, सूरज शुक्ला, प्रभारी संजय शर्मा, प्रभारी मनोज शर्मा,  प्रभारी गोपाल, प्रभारी तिलक शर्मा, बंटी मिश्रा, सतीश पांडेय, सोनू पांडेय, बबलू वर्मा, बालकराम वर्मा,  राज वर्मा, सुरेंद्र वर्मा, प्रदीप वर्मा, राजीव मिश्रा, कमलेश वर्मा, सुमित मिश्रा, राजीव गंगवार, राजेश सिंह, अनमोल सिंह आदि मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश