अक्षय खन्ना चमक-दमक से रहना चाहते हैं दूर

मशहूर अभिनेता विनोद खन्ना के बेटे अक्षय खन्ना के गालों के डिंपल्स कभी महिलाओं और युवतियों में आकर्षण का सबब थे। विनोद खन्ना द्वारा प्रोड्यूस की गई फिल्म 'हिमालयपुत्र' से अपने करियर की शुरुआत करनेवाले अक्षय खन्ना ने कॉमेडी से लेकर रोमांटिक और निगेटिव भूमिकाएं भी निभाईं। अक्षय खन्ना की फिल्म 'सब कुशल मंगल' रिलीज पर है। इस फिल्म में अपनी भूमिका को लेकर वे बेहद खुश हैं। पेश है अक्षय खन्ना की पूजा सामंत के साथ हुई बातचीत के प्रमुख अंश-
'सब कुशल मंगल' करने की कोई खास वजह?
बॉलीवुड के दिग्गज निर्माता नितिन मनमोहन मेरे दोस्त हैं। मैं उन्हें कैसे और क्यों इंकार करूं? फिल्म का किरदार मुझे पसंद आ गया और ये एक मनोरंजक फिल्म है। फिल्म साइन करते वक्त मैं उसमें कुछ नया ढूंढ़ता हूं और वो एक्स फैक्टर मुझे इसमें मिल गया।
आपके जीवन का कुशल-मंगल क्या है?
मेरे फिल्म करियर को २३ वर्ष हो चुके हैं और मुझे आज भी अच्छी फिल्मों में काम करने के मौके मिल रहे हैं। यही मेरे जीवन का कुशल-मंगल है।
अपने फिल्मी सफर को आप कैसे देखते हैं?
सबसे अहम बात ये है कि मैं खुद को सीनियर नहीं मानता। मैं सीनियर की तरह बिहेव नहीं करता। मुझे नहीं लगता कि मैंने बहुत कुछ अचीव किया है। करियर की बात करूं तो मुझे लगता है कि मैं अगर २० साल और काम करूं तब भी मुझे संतुष्टि नहीं मिलेगी। अभी बहुत कुछ करना बाकी है। उतार-चढ़ाव तो आते रहते हैं, जिंदगी में हमेशा संघर्ष चलता रहता है। मैं इसे सीरियसली नहीं लेता। ये उतार-चढ़ाव ही हैं जो आपको बहुत-कुछ सिखाते हैं।
नए कलाकारों के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
रवि किशन की बेटी रीवा किशन और पद्मिनी कोल्हापुरे-टुटु शर्मा का बेटा प्रियांक शर्मा भी फिल्म 'सब कुशल मंगल' से डेब्यू कर रहा है। मैं उनके लिए बहुत प्रोटेक्टिव रहता हूं और चाहता हूं कि उनके साथ कुछ गलत न हो। फिल्म सफल हो और उनका काम सबको पसंद आए।
आज हर दूसरा स्टार फिल्में प्रोड्यूस कर रहा है। क्या आप भी करना चाहेंगे?
मैं एक्टिंग की अपनी दुनिया में ही खुश हूं। फिल्म निर्माण के लिए बहुत ग्राउंड वर्क चाहिए। अभिनय के साथ प्रोडक्शन करना यह मेरे बस की बात नहीं है।
आपके हमेशा लो प्रोफाइल रहने की कोई खास वजह?
मैं अपनी जिंदगी लो प्रोफाइल तरीके से ही जीना चाहता हूं। मुझे हाई प्रोफाइल जिंदगी नहीं सूट करती। लो प्रोफाइल जिंदगी में ही मुझे कंफर्ट फील होता है। मैं सादगी और शांति से जिंदगी जीना पसंद करता हूं।
आपकी फिटनेस का राज क्या है?
सही समय पर खाना, सोना, उठना, व्यायाम करना आदि करता हूं। इसके लिए मैं बहुत मेहनत करता हूं। मैं अपनी डाइट पर ध्यान देता हूं।
अपने पिता की किस सीख को आप अपने जीवन में उतारते हैं?
मेरे पिता कभी ज्ञान नहीं बांटते थे। वे 'जियो और जीने दो' पर विश्वास करते थे। मैंने अपना पूरा बचपन और जिंदगी उनके साथ बिताई है लेकिन उन्होंने कभी किसी की आलोचना नहीं की। जो ठीक लगे उसे करने की सलाह देते थे। शायद इन्हीं गुणों का प्रभाव मुझ पर पड़ा।
जन्मतारीख – २८ मार्च
जन्मस्थान – जालंधर, पंजाब
कद – ५ फुट ९ इंच
वजन – ६९
प्रिय परिधान – फॉर्मल और वैâजुअल
मनपसंद व्यंजन – दाल, चावल, अचार, पापड़
पर्यटन स्थल – मांडवा स्थित हमारा फॉर्म हाउस
प्रिय कलाकार – विनोद खन्ना, राहुल खन्ना


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत