आज़मगढ़ के लोगों को मनबढ़ बोलने वाले निरहुआ पर दर्ज हो मुकदमा

 आज़मगढ़ के लोगों को मनबढ़ बोलने वाले निरहुआ पर दर्ज हो मुकदमा


निरहुआ ने आज़मगढ़ के लोगों के ऊपर हिंसात्मक हमले की धमकी देते हुए उकसाया


भाजपा सांसद का बयान आज़मगढ़ की पहचान, सम्मान, अस्मिता और जिले की गरिमा पर हमला


आज़मगढ़ 21 नवम्बर 2022. सांसद दिनेश लाल निरहुआ द्वारा आज़मगढ़ के लोगों को मनबढ़ बोलते हुए हिंसा कारित करने वाले बयान पर रिहाई मंच, पूर्वांचल किसान यूनियन, किसान संग्राम समिति ने विरोध दर्ज करते हुए दिनेश लाल यादव पर आज़मगढ़ पुलिस अधीक्षक से मुकदमा दर्ज करने की मांग की.

किसान संग्राम समिति के दुखहरन राम, रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव, पूर्वांचल किसान यूनियन के वीरेंद्र यादव, अधिवक्ता विनोद यादव ने संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा कि आज़मगढ़ के सांसद दिनेश लाल निरहुआ के एक बयान का वायरल वीडियो जिसमें वो आज़मगढ़ के लोगों को मनबढ़ बोल रहे हैं उसने आज़मगढ़ के होने के नाते हमारी भावनाओं को आहत किया है. भाजपा सांसद का बयान पहचान, सम्मान, अस्मिता और जिले की गरिमा पर हमला है.

पुलिस अधीक्षक को दिए शिकायती पत्र में कहा है कि वायरल हेट स्पीच में मुबारकपुर विधानसभा स्थित रासेपुर में शनिवार को सभा को संबोधित करते हुए दिनेश लाल यादव ने कहा "...मनबढ़ई खतम होई कैसे मनबढ़ई खतम करने का एक्के उपाय है कि या त मनबढ़ के जेल के भीत्तर नहीं त सीधा ऊपर ज्यादा मनबढ़ है तो ठेहुना पंचर मारके ठेहुनवये तोड़ दा... ." 

सांसद का यह बयान संसदीय गरिमा के विरुद्ध है जिसमें वो कानून व्यवस्था को धता बताते हुए हत्या और हिंसा की धमकी देते हुए उकसा रहे हैं. इस बयान से आज़मगढ़ के लोगों में आतंक का माहौल है और सरकार और सरकार के लोग इस बयान से प्रेरित होकर हिंसा कारित कर सकते हैं. 

द्वारा-

राजीव यादव

महासचिव, रिहाई मंच

9452800752

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

बारातियों की तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर पलटी एक की मौत, कई घायल

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा