दिल के छेद की बीमारी से पीड़ित बच्ची की बचाई जान।

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट

दिल के छेद की बीमारी से पीड़ित एक बच्ची 'के लिए राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आर.बी.एस.के.) टीम काफी  मददगार साबित हुई। ब्लाक अमरिया की टीम से राखी कुमारी 17 वर्ष पुत्री ज्ञान प्रकाश ग्राम बगनेरा ब्लाक अमरिया की राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम टीम से मिली टीम ने परिक्षण कर बच्ची को नोडल अधिकारी आर.बी.एस.के. एवं डी.ई.आई.सी.प्रबन्धक मो जुबैर के सहयोग से अलीगढ़ मेडिकल कालेज भेजा गया, वहॉ पर बच्ची की सफल सर्जरी हो गयी है। आपरेशन के बाद बच्ची अब पूर्ण रूप से ठीक है। 


        मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आलोक कुमार शर्मा ने बताया कि अब तक लगभग दिल के छेद की बीमारी के 180 मरीज़ खोजे जा चुके हैं जिनमे से अब तक 30 बच्चों की सफल सर्जरी की जा चुकी हैं। दिल के छेद की बीमारी  एक जन्म-जात बीमारी है, इसका उपचार किया जा सकता है। आर.बी.एस.के. कार्यक्रम के अंतर्गत माह अप्रैल 2022 से माह अगस्त 2022 तक (5860) बच्चों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है। जन्मजात बीमारी से ग्रसित बच्चों को निशुल्क उपचार हेतु डी.ई.सी.प्रबंधक मो जुबैर से (7536844761) पर भी संपर्क किया जा सकता है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया