जिला चिकित्सालय पीलीभीत में डॉक्टर के नाम पर दिव्यांग से रिश्वत मांगने वाले ट्रेनी फार्मेसिस्ट के खिलाफ कोतवाली में डॉक्टर रमाकांत द्वारा दर्ज कराई गई एफ आई आर

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से ब्यूरो चीफ शाहिद खान की रिपोर्ट, 

पीलीभीत, जिला चिकित्सालय में दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने आए ग्रामीण संजीव कुमार से डॉक्टर के नाम पर मागंना महिला अस्पताल में ट्रेनी

फार्मेसिस्ट को पड़ गया महंगा, दिव्यांग से डॉक्टर के नाम पर रिश्वत मांगे जाने का वीडियो वायरल होने के बाद जिला अस्पताल में मच गई खलबली, जिसके बाद एक तरफ विभागीय कार्रवाई की तलवार लटकने के साथ दूसरी तरफ मामला डॉक्टर के संज्ञान में आने पर डॉक्टर ने अपने नाम पर ट्रेनी फार्मेसिस्ट रवि कुमार द्वारा रिश्वत मांगे जाने की कोतवाली में दर्ज कराई एफआईआर |




आपको बताते चलें जिला अस्पताल में डॉक्टरों के समय से ना पहुंचने बाहर से दवाई लिखने समेत कई तरह के आरोप लगने के प्रकरण सामने आते रहते हैं | परंतु एक दिन पूर्व भ्रष्टाचार से जुड़ा रिश्वत मांगने का मामला सामने आया था | दिव्यांग संजीव कुमार दिव्यांग प्रमाण पत्र बनवाने के लिए जिला अस्पताल पहुंचा जहां पर ग्रामीण दिव्यांग संजीव कुमार से महिला अस्पताल में तैनात ट्रेनी फार्मेसिस्ट रवि कुमार ने दो हज़ार रुपए की रिश्वत अपने लिए नहीं बल्कि जिला अस्पताल के वरिष्ठ फिजिशियन डॉक्टर रमाकांत सागर के नाम पर मांगी गई | जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो गया | जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गयागया| और ट्रेनी फार्मेसिस्ट रवि कुमार के खिलाफ विभागीय कार्यवाही होना तय मानी जा रही थी| इस दौरान वायरल वीडियो संज्ञान में आने पर वरिष्ठ फिजिशियन डॉक्टर रमाकांत सागर ने सख्त कदम उठाते हुए कोतवाली जाकर मामले की नामजद तहरीर दी| जिसके बाद कोतवाली में भ्रष्टाचार से जुड़ी धाराओं में एफ आई आर दर्ज की गई है| जिसकी विवेचना नगर क्षेत्राधिकारी सुनील दत्त को दी गई है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया