|अखिलेश यादव और अब्दुल्ला आजम के बीच 20 मिनट तक बंद कमरे में हुई बातचीत बनी हुई है, चर्चा का विषय?

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

अखिलेश यादव और अब्दुल्ला आजम के बीच 20 मिनट तक बंद कमरे में हुई बातचीत बनी हुई है, चर्चा का विषय? 

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में बजट सत्र शुरू हो चुका है| के साथ राजनीतिक सरगर्मियां भी जारी है| वही सीतापुर जेल से आने के बाद मोहम्मद आजम खान लगातार चर्चा में बने हुए हैं| सोमवार को आजम खान विधानमंडल दल की कार्रवाई में भी शामिल नहीं हुए| 




विश्वस्त सूत्रों की माने   तो समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और मोहम्मद आज़म खान के बेटे अब्दुल्लाह आज़म की सोमवार को दोपहर करीब 20 मिनट तक बंद कमरे में बातचीत हुई| वहीं विधानसभा में शपथ ग्रहण करने के बाद मोहम्मद आज़म खांन चले गए| परंतु उनके बेटे अब्दुल्लाह आज़म सदन में मौजूद रहे| सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद अखिलेश यादव ने उन्हें अपने पास बुलाया फिर दोनों विधानमंडल में मौजूद पार्टी कार्यालय पहुंचे| यहां अखिलेश यादव और  अब्दुल्लाह आज़म दोनों बंद कमरे में करीब 20 मिनट तक बातचीत करते रहे| आखिर दोनों तरफ से ही बातचीत के संबंध में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया| परंतु कमरे से निकलने के बाद अखिलेश यादव और अब्दुल्ला आजम के चेहरे पर संतुष्टि के भाव साफ दिखे| इसका मतलब बगैर आजम खान के इशारे के अखिलेश यादव और अब्दुल्लाह आजम के बीच बंद कमरे में  बात होना असंभव है| यहां यह बताना भी जरूरी है की  विधान भवन में प्रवेश करते वक्त आज़म खांन ने किसी भी तरह की नाराजगी से इनकार किया| हालांकि मुलायम सिंह यादव से बातचीत होने के सवाल पर आज़म खांन ने बड़े सधे हुए अंदाज में तंज़ कसा और कहा कि हो सकता है कि उनके (मुलायम सिंह) हमारा नंबर ना हो| उधर विधानसभा में जिस वक्त सपा विधायक विभिन्न मुद्दों को लेकर सदन में हंगामा कर रहे थे,उस वक्त अब्दुल्लाह आजम बरेली के भोजीपुरा से विधायक शहज़िल इस्लाम और शिवपाल सिंह यादव चुपचाप अपनी सीट पर बैठे  सदन में हो रहे हंगामे पर वे मुस्कुराते रहे, लेकिन सदन में हो रहे हंगामे में शामिल नहीं हुए| सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद इसकी राजनीतिक दृष्टि से चर्चा होती रही|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया