क्या सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और अमित शाह के गुप्त समझौते की वजह से उत्तर प्रदेश में दोबारा बनी है भाजपा की सरकार ?

m a mansoori
बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की खा़स रिपोर्ट, 

 लखनऊ, संभल में सपा सांसद शफीक उर      रहमान वर्क के बयान के बाद की समाजवादी पार्टी  मुसलमानों के लिए क्या कर रही है ? उसके बाद मानो अखिलेश यादव के खिलाफ जिंदा जमीर मुस्लिम नेताओं ने सपा से इस्तीफे देकर  सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की खामोशी पर सवाल उठाना शुरू कर दिए, अखिलेश यादव पर सवालों का सिलसिला संभल से शुरू होकर रामपुर बरेली सुल्तानपुर सहित कई शहरों में उठना शुरू हो गया | समाजवादी पार्टी के कद्दावर मुस्लिम नेता पूर्व मंत्री मोहम्मद आजम खान के समर्थकों ने रामपुर में अखिलेश यादव से जो सवाल किए हैं उन सवालों के जवाब अब रामपुर ही नहीं पूरे उत्तर प्रदेश का मुस्लिम समाज सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से जवाब चाहता है |

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव जवाब दें, 

रामपुर में जब आजम खान साहब की यूनिवर्सिटी तोड़ी गई तो आप खामोश क्यों थे? आजम खान साहब के खिलाफ फर्जी मुकदमे दर्ज हुए आप ने सरकार के खिलाफ एक दिन भी सड़क पर उतर कर विरोध नहीं किया आखिर क्यों? आपने रामपुर में सिर्फ अपनी साइकिल यात्रा का दिखावा किया आखिर क्यों? जब आजम खान साहब के लोगों पर फर्जी मुकदमे लग रहे थे आपने उन लोगों का कभी हाल तक नहीं पूछा आखिर क्यों? लेकिन इसके बावजूद आजम खान साहब और उनके कार्यकर्ताओं ने 2022 विधानसभा चुनाव में आपके लिए मजबूती से चुनाव लड़ा और जीते भी, आपसे उम्मीद थी कि आप आजम खान साहब और उनकी कौम के लिए कुछ ना कुछ जरूर बोलेंगे, प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी और पहले दिन सही उत्तर प्रदेश में मुसलमानों पर जुल्म शुरू हो गया, मुस्लिम विधायकों के घर व्यापार पर अवैध ढंग से बुलडोजर चलने लगा और आप अभी भी खामोश है आखिर क्यों? यूपी के मुसलमानों के पक्ष में आप कभी भी नहीं बोले, आपको डर था मुसलमानों के पक्ष में बोलने से कहीं हिंदू एक तरफा ना हो जाए, लेकिन आपका अपना कैडर वोट यादव भी खुलकर भाजपा के समर्थन में चला गया, और सब मुसलमानों ने आपको एक तरफा वोट किया, फिर भी आप अपने ही मुस्लिम विधायकों पर बुलडोजर चलता देख रहे हैं आखिर क्यों? आखिर कब तक मुसलमान आप को वोट करेगा? क्या आपके बारे में चल रही बात की अखिलेश यादव व अमित शाह में चुनाव से पहले डील हुई थी भाजपा सरकार बनाने की, क्या इस पर यकीन कर लिया जाए? अगर आप सच्चे हैं और यह अफवाहें हैं तो मीडिया के सामने आइए और आजम खान साहब के साथ तमाम विधायकों और समाजवादी नेताओं पर चल रहे अवैध बुलडोजर को रोकने का ऐलान कीजिए और सड़कों पर अपने 1 11 विधायकों को लेकर उतरिये, वरना आप साफ कहिए आप भाजपा के मिशन 2024 के लिए गुप्त समझौता कर चुके हैं | क्योंकि जो नेता अपने विधायकों के लिए आवाज नहीं उठा सकता वह आम कार्यकर्ताओं के लिए क्या आवाज उठाएगा |

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत