उर्स ए क़ादरी खानकाहे उस्मानिया क़दीरिया मोहल्ला शेर मोहम्मद पीलीभीत में 6 मार्च से पारंपरिक तौर से शुरू होगा, हसन मियां

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से दानिश अली की रिपोर्ट

पीलीभीत, आज दिनांक 6 मार्च 2022 को मुफ्ती मोहम्मद हसन मियां कदीरी के निवास खानकाहे  उस्मानिया कदीरिया मोहल्ला शेर मोहम्मद पीलीभीत पर उनके वालिद सूफी मोहम्मद उस्मान मियां कादीरी रहमतुल्ला अलेह के दसवें पारंपरिक उर्स 6 मार्च 2022 से प्रारंभ हो रहा है जिसकी तैयारी आयोजकों ने प्रशासन द्वारा कोरोना काल की दृष्टिगत रखते हुए दिए गए दिशा-निर्देशों का पूर्ण रुप से पालन करते हुए पूरी तैयारी करते हुए 11 सदस्यों की टीम गठित की गई है।



जिसमें टीम द्वारा समस्त कार्यक्रम पूर्ण रूप से व सुचारू ढंग से करवाए जाएंगे और इस वर्ष भी कोरोना वायरस व अभी हाल में चल रहे चुनाव के मद्देनजर जिले में पुलिस फोर्स की कमी होने के कारण 7 मार्च 2022 को निकलने वाली चादर शरीफ के पारंपरिक जुलूस को भी इस वर्ष के लिए आयोजकों द्वारा स्थगित कर दिया गया है बाकी सारे कार्यक्रम अपने समय व स्थान पर किए जाएंगे 6 मार्च 2022 को सुबह बाद नमाज ए फजर कुरान खानी व लंगर होगा 7 मार्च 2022 सोमवार को बाद नमाज ए फजर कुरान खानी व देश दुनिया और लोगों के लिए दुआ की जाएगी इस कार्यक्रम में हिंदुस्तान के मशहूर स्कॉलर हजरत अल्लामा प्रोफेसर डॉक्टर हाफिजुर रहमान साहब दिल्ली और बुलबुले बागे मदीना शायरे इस्लाम हजरत अल्लामा सैयद काशिफ अदीब साहब मकनपुर शरीफ से तशरीफ ला रहे हैं 8 मार्च 2022 को सुबह कुल शरीफ होगा उसके बाद लंगर तकसीम किया जाएगा व नमाजे ईशा के बाद महफिले सिमा कव्वाली का कार्यक्रम होगा जिसमें हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल तशरीफ ला रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग