नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र से बसपा सुप्रीमो मायावती ने युसूफ जरीवाला को प्रत्याशी बनाकर दलित मुस्लिम के सहारे जीत का रास्ता किया आसान,

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

दो लाख दलित मुस्लिम मतदाता बसपा प्रत्याशी युसूफ जरीवाला की बनेंगे जीत का आधार, 

बरेली जिले की 121 नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी ने युसूफ जरीवाला को प्रत्याशी बनाकर विरोधियों के खेमे में हलचल पैदा कर दी है पिछले 20 सालों से नवाबगंज की राजनीति के समीकरणों में भूचाल पैदा हो गया जहां तक बात करें बहुजन समाज पार्टी की आखिरी पलों में बहुजन समाज पार्टी ने नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र से युसूफ जरी वालों को प्रत्याशी बनाकर जो तुरुप का इक्का पेश किया है उसको सीधा मुकाबला बीजेपी और बीएसपी में होता नज़र आ रहा है



कहीं-कहीं समाजवादी पार्टी भी  त्रिकोणीय  मुकाबले में नजर आएगी ऐसी सूरत में अगर नवाबगंज के दलित और मुस्लिम समीकरण और अहमदाबाद फैक्टर अपना रंग दिखाएगा तो यकीनन युसूफ जरीवाला का रास्ता कोई नहीं रोक पाएगा बहुजन समाज पार्टी ने युसूफ जरीवाला को प्रत्याशी बनाकर दलित मुस्लिम के साथ ही सपा और भाजपा से नाराज मतदाताओं को साधने की जो कोशिश की है यह कोशिश कामयाब होती नजर आ रही है बसपा प्रत्याशी युसूफ जरीवाला ने आज अपने चुनाव कार्यालय का नवाबगंज में उद्घाटन किया उस मंज़र को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे चुनाव से पहले नतीजा घोषित होने वाला है आज कार्यालय उद्घाटन के अवसर पर बहुजन समाज के लोगों के साथ ही मुस्लिम समाज के लोगों का जोश ओ खरोश देखकर ऐसा लग रहा था जैसे बसपा सुप्रीमो ने नवाबगंज के लिए सही फैसला लिया है आज कार्यालय उद्घाटन के दौरान भाजपा सपा और कांग्रेस के कई मजबूत लोगों का बहुजन समाज पार्टी में शामिल होना बसपा सुप्रीमो को के फैसले को सही दर्शाता है गौरतलब है मुस्लिम मतदाताओं में इस बात की भी बेचैनी देखी गई कि जिला पंचायत चुनाव में उन्होंने तो अपने वोट का सही इस्तेमाल किया परंतु जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा का  अध्यक्ष होने से मुस्लिम मतदाताओं में पनप रहा आक्रोश बसपा की जीत की इबारत लिखने जा रहा है नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र का त्रिकोणीय मुकाबला बसपा की जीत का आधार होगा क्योंकि 65000 दलितों के साथ 135000 मुस्लिम मतदाताओं का गणित बसपा सुप्रीमो मायावती के फैसले पर जीत की मुहर लगाता है आपको बताते चलें बरेली जनपद की 9 विधानसभा क्षेत्रों में नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र मात्र एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर भाजपा सपा और कांग्रेस के साथ ही आम आदमी पार्टी का प्रत्याशी एक ही वर्ग से होने के कारण बसपा की जीत नवाबगंज में ऐतिहासिक होती दिख रही है बसपा सुप्रीमो मायावती ने आखरी समय में अपने पत्ते खोल कर राजनीतिक पंडितों के समीकरणों को ध्वस्त करते हुए यह कहने पर मजबूर कर दिया कि इस बार नवाबगंज से बसपा उम्मीदवार के जीतने की संभावनाएं अधिकतर हो गई हैं अब देखना यह है के नवाबगंज विधानसभा क्षेत्र के जागरूक मतदाता अपने वोट का किस तरह इस्तेमाल करेंगे बसपा प्रत्याशी यूसुफ जरीवाला के कार्यालय उद्घाटन के अवसर पर मुख सेक्टर प्रभारी राजेश सागर जगदीश प्रसाद बाबूजी जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह सेक्टर प्रभारी सुमेर सिंह जिला उपाध्यक्ष तारीक नियाजी सेक्टर प्रभारी राजवीर सिंह सी बी कुरील राजेंद्र कश्यप जिला संगठन सचिव राज बाबू पटेल मंडल संयोजक पिछड़ा वर्ग पंकज कुरील आदि की उपस्थिति में नवाबगंज पत्रकार यूनियन के तहसील अध्यक्ष रियाज अंसारी के साथ बड़ी संख्या में लोगों ने बहुजन समाज पार्टी की  सदस्यता ग्रहण    करके युसूफ जरीवाला की जीत की राह आसान की,

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

बारातियों की तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर पलटी एक की मौत, कई घायल

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा