संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन के एक साल पूरा होने पर शहीद किसानों को याद करते हुए, राष्ट्रपति के नाम डुमरियागंज उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

 संविधान दिवस के मौके पर अन्यदाताओं की मांगे पूरी करने के लिए राष्ट्रपति के नाम उपजिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन

 न्यूनतम समर्थन मूल्य ( M.S.P ) की कानूनी गारण्टी किया जाए - पीपुल्स एलाइंस

लखीमपुर खीरी नरसंहार के आरोपी भाजपा गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त व गिरफ्तार करो - संयुक्त किसान मोर्चा

सिद्धार्थनगर, 26 नवंबर 2021 : संयुक्त किसान मोर्चा, सिद्धार्थनगर ने किसान आंदोलन का आज एक साल पूरा होने पर शहीद किसानों को याद करते हुए किसानों को उचित मुआवजा देने और एमएसपी पर गारंटी कानून बनाए जाने को लेकर माननीय महामहिम राष्ट्रपति के नाम उपजिलाधिकारी, डुमरियागंज के उपजिलाधिकारी के अनुपस्थिति में नायब तहसीलदार के जरिए ज्ञापन सौंपा। 


भारत कृषि प्रधान देश है, किसान देश का अन्यदाता है। 

किसान आंदोलन का आज एक साल पूरा हो रहा है। दिल्ली में पूरे देश के किसान बड़ी संख्या में एकत्रित होकर तीन कृषि कानून और एमएसपी पर गारंटी कानून बनाने के लिए बैठा। जिसमें तीन कृषि कानून को सरकार वापस लेने के लिए तैयार हुई है लेकिन अभी एमएसपी पर कानून बनानी की कोई बात नहीं की है। इस एक साल के आंदोलन में सात सौ से ज्यादा किसानों की शहादत हुई और लखीमपुर खीरी में किसानों के काफिले पर भाजपा गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे ने गाड़ी चढ़ाकर 04 किसान और 01 पत्रकार को शहीद कर दिया।

संयुक्त किसान मोर्चा, सिद्धार्थनगर के किसान नेता व  पीपुल्स एलाइंस के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य शाहरुख अहमद ने एक साल के आंदोलन में 700 से ज्यादा शहीद किसानों को याद करते हुए कहते हैं कि सरकार शहीद हुए किसानों के परिवारों को मुआवजा देने और उनके परिवार के पुनर्वास की घोषणा करे और सिंघू मोर्चा में उनके नाम पर स्मारक बनाने के लिए जमीन आवंटित करे।

उन्होंने कहा कि सिद्धार्थनगर में क्रय केंद्र नाम मात्र के लिए है। क्रय-केन्द्रों पर किसान अपना उपज बेच नहीं पा रहा है। क्रय केंद्रों पर बिचौलियों का कब्जा है जो किसानों से औने पौने दाम में 900 रुपये से लेकर 1200 रुपये तक धान का उपज लेकर क्रय-केन्द्रों पर सरकारी रेट 1940 रुपये में बेच रहा है। ऐसे में किसानों के खेती के लागत भी नहीं निकल पा रहा है। प्रसाशन को क्रय-केन्द्रों को सुचारू रूप से चलाए जाने और वंहा पर किसानों का उपज लिया जाए। सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे फसल न बिकने को लेकर कानून बनाए। जिससे बिचौलियों, दलालों और घूसखोरों पर अंकुश लगाया जा सके। वंही पीपुल्स एलाइंस के सिद्धार्थनगर के जिला संयोजक ने कहा कि प्रशासन खाद की कालाबाजारी पर रोक लगाए और खाद की किल्लत दूर कराए। उन्होंने कहा की लखीमपुर खीरी नरसंहार के आरोपी भाजपा गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त व गिरफ्तार किया जाए। वंही तौफीक ने कहा कि सिद्धार्थनगर के किसानों का बाढ़ से खरीब फसलें पूरी तरह नष्ट हो गई हैं। ऐसे में सरकार बाढ़ से तबाह फसलों के नुकसान का वास्तविक आंकलन कर किसानों को उचित मुआवजा दे। ज्ञापन देने में मौजूद पीपुल्स एलाइंस नेता शाहरुख अहमद, जिला संयोजक अज़ीमुश्शान, सुनील कुमार, तौफीक, सालिकराम, जावेद, शादाब हाशमी, फजलुर्रहमान, मिन्हाज, राज प्रजापति आदि लोग मौजूद रहे।

द्वारा जारी- 

संयुक्तव किसान मोर्चा, सिद्धार्थनगर

शाहरुख अहमद

9455944411

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग