महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराई जाए - कमलेश यादव

 प्रयागराज अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के सिलसिले में गिरफ्तार उनके शिष्य आनंद गिरी  को आज 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है. उनके साथ बड़े हनुमान जी मंदिर के पुजारी अद्या तिवारी को भी जेल भेजा गया है। आनंद से पुलिस दो दिन तक पूछताछ कर चुकी है।महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में इन दोनों को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का दोषी बताया था। 18 सदस्यों वाली एसआईटी नरेंद्र गिरि के मौत की जांच कर रही है। राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने एक बयान जारी करके कहा कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराई जाए ताकि निष्पक्ष जांच हो सकेऔर दूध का दूध पानी का पानी हो सके। उन्होंने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत का रहस्य तब तक नहीं सुलझ सकता जब तक निष्पक्ष जांच नहीं होगी।

इस मामले में सीबीआई जांच के सवाल पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि देखिए जो भी जरूरी है वह किया जाएगा, अभी पुलिस जांच कर रही है, एसआईटी गठित की जा चुकी है और हमें लगता है कि पुलिस मामले के तह तक पहुंच रही है और इसपर कोई बयान नहीं दिया जा सकता। उन्होंने कहा कि जो भी चीजें हैं जांच के दायरे में है और जो भी अपराधी होगा, अगर पूज्य महाराज जी की हत्या हुई होगी तो हत्यारा नहीं बचेगा और हत्या करने के लिए वह किसी ने बाध्य किया है तो वह भी नहीं बचेगा।पुलिस सही तरह से जांच कर रही है। राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष कमलेश यादव ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य द्वारा पुलिस की जांच को संतोषजनक बताने पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह ऐसा मामला है इसमें सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से निष्पक्ष जांच हुए बिना कोई भी पुलिस की जांच पर विश्वास नहीं कर पाएगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया