मेरठ जिले के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और 3 बच्चों को मारने के बाद खुद कर ली आत्महत्या

 मेरठ । कहते हैं के वैवाहिक जीवन को  सुख में बनाइए और अगर वैवाहिक जीवन सुख में नहीं है और पति पत्नी में बात बनती नहीं है तो फिर दोनों अलग हो जाइए क्योंकि यह एक समझौते की तरह है और शादी दो दिलों का बंधन है अगर इसमें दोनों एक दूसरे को समझ कर नहीं चल सकते हैं तो फिर अलग हो जाने में समझदारी है नहीं तो इसका अंजाम कितना बयान है और कितना बुरा हो सकता है मेरठ की है घटना दर्शाती है ।जिले में 37 साल के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और तीन बच्चों की गला घोंटकर हत्या कर दी और फिर उसने आत्महत्या कर ली। यह घटना गुरुवार शाम को मेरठ के परीक्षितगढ़ इलाके में हुई। रशीद के रूप में पहचाने गए व्यक्ति द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट घर में पाया गया। नोट में कहा गया है कि वह वैवाहिक विवाद के कारण ये कदम उठा रहा है।पत्नी और बच्चों के शव बिस्तर पर पाए गए, जबकि पति छत के पंखे से लटका पाया गया।

पत्नी और तीन बच्चों की गर्दन के आसपास गला घोंटने के निशान थे।खबरों के मुताबिक, 35 साल के राशिद अहमद और 35 साल की उनकी पत्नी रिहाना की शादी 2013 में हुई थी। यह राशिद की दूसरी शादी थी और रिहाना की तीसरी।उनके दो बेटे, अफान (10) और हैदर (7) राशिद की पहली शादी से थे और 4 साल की अयात, दंपति की बेटी थी।एसएचओ परीक्षितगढ़ पुलिस स्टेशन, आनंद मिश्रा ने संवाददाताओं को बताया कि ऐसा प्रतीत होता है कि राशिद ने पहले अपनी पत्नी और फिर तीन बच्चों का गला घोंट दिया। फिर उसने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।अपने सुसाइड नोट में, राशिद ने कहा है कि उनके परिवार में पांच भाई हैं, जिन्हें परेशान नहीं किया जाना चाहिए।राशिद ड्राइवर और पार्ट-टाइम वेल्डर का काम करता था।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय साहनी ने कहा कि शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच जारी है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग