इरफान अंसारी को जिता कर झारखंड की जनता ने सांप्रदायिक शक्ति को दिया जवाब

झारखंड की जनता ने सांप्रदायिक राजनीति को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। यहां बीजेपी ने हिंदुत्व का राग अलापते हुए जिस मुस्लिम प्रत्याशी को हराने की अपील की, उसे जनता ने भारी मतों से जिता दिया है।बात जामताड़ा सीट पर खड़े कांग्रेस प्रत्याशी इरफान अंसारी की हो रही है। जिन्होंने बीजेपी प्रत्याशी वीरेंद्र मंडल को 38,741 वोट से हराया है। बता दें कि इस सीट को जीतने के लिए बीजेपी ने एड़ी-चोटी का ज़ोर लगाया था। यहां बीजेपी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने एक सभा को संबोधित करते हुए बेहद सांप्रदायिक बयान दे डाला था। उन्होंने लोगों से वोट की अपील करते हुए कहा था, “कोई इरफान अंसारी जीतेगा तो मंदिर तो नहीं बनाएगा न”।16 दिसंबर को यहां चुनावी सभा में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था, “और आप ऐसे भी जान सकते हैं। कोई इरफान अंसारी जीतेगा तो मंदिर तो नहीं बनाएगा न। उसके लिए तो कोई बिरेंद्र मंडल चाहिए न। जो एक-एक शिला लेकर आपको लेकर अयोध्या पहुंच सके और भव्य राम मंदिर के निर्माण में शीला लगवाने में योगदान दे सके”।लेकिन योगी की ये सांप्रदायिक अपील जामताड़ा की जनता को पसंद नहीं आई और उन्होंने पिछली बार करीब 9000 मतों से जीतने वाले इरफान अंसारी इस बार करीब 39000 मतों से जिता दिया। सोशल मीडिया पर इरफान अंसारी की जीत को हिंदुस्तान की जीत बताया जा रहा है। यूज़र्स कह रहे हैं कि हिंदुस्तान धर्मनिर्पेक्ष देश है, ये बात जामताड़ा की जनता ने साबित कर दी।वहीं इरफान अंसारी की जीत को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर ज़ोरदार हमला बोला है। सूबे के अगले मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं सोरेन ने ट्वीट कर लिखा, “झारखंडियों ने अपने मत द्वारा देश का भाईचारा तोड़ने वाली शक्तियों को मुँहतोड़ जवाब दिया है। विधायक इरफान अंसारी जी को पिछले बार से भी ज़्यादा अंतर से जिता कर पूरे राज्य की जनता ने उत्साह से कहा है 'विजयी भव”। साभार : BH


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत