एटीएम क्लोन बनाकर रुपए निकालने वाले गिरोह का भंडाफोड़










दिल्ली जिला special staff की टीम ने (ATM) क्लोन (Clone) कर खातों से रुपए निकाल लेने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। टीम ने गिरोह के दो सदस्यों को (Arrest) किया है, जिन्होंने न सिर्फ ( Delhi NCR) बल्कि महाराष्ट्र, ओडि़शा, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और मध्य प्रदेश के शहरों में भी वारदात को अंजाम दिया है। गिरफ्तार आरोपी कृष्ण गोपाल और सुमित गोला के कब्जे से पुलिस ने  विभिन्न बैंकों के 300 क्लोन्ड डेबिट व क्रेडिट कार्ड, देसी कट्टा, तीन कारतूस, स्कीमर डेवाइस, बैट्री और कैमरा स्कैनर बरामद किए हैं। 


300 से अधिक लोगों के कार्ड क्लोनिंग कर खातों में लगा चुके हैं सेंध 
 डीसीपी देवेंद्र आर्या ने बताया कि गत दिनों एटीएम क्लोन कर खाते से रुपए निकाले वालों की गिरफ्तारी के लिए जिला स्पेशल स्टाफ के एसीपी निरीक्षण और इंस्पेक्ट दिनेश कुमार के नेतृत्व में एसआई मुकेश, शिक्षित, एएसआई अरविंद की टीम ने जांच शुरू की। इसी दौरान टीम को दिल्ली में दो ऐसे बदमाशों के सक्रिय होने सूचना मिली तो एटीएम में स्कीमर लगाकर कार्ड क्लोन कर लेते हैं।


पुलिस की नजरों से बचने के लिए छोड़ा शहर 
सूचना के आधार पर टीम ने दोनों के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की। इसी दौरान टीम को दोनों के महिपालपुर इलाके में आने की सूचना पर टीम ने होती कैंप के पास वाहनों की जांच शुरू की। इसी दौरान दोनों एक बइक पर सवार हो छतरपुर रोड की ओर से आते दिखे। जब टीम ने उन्हें रोककर उनकी जांच शुरू की तो दोनों फरार होने की कोशिश करने लगे। पर सतर्क टीम ने दोनों को दबोच लिया।  आरोपी कृष्णा पहले भी कटक में एटीएम कार्ड क्लोनिंग और लूट की वारदातों को अंजाम दे चुका था। दोनों ने ऑनलाइन (Online) शॉपिंग साइट  (Alibaba) से एटीएम कार्ड क्लोनिंग में उपयोग आने वाले स्कीमर, स्कैनर, कैमरा (Camera) और बैटरी आदि मंगवाए। इसे एसेंबल कर दोनों ने बिना सुरक्षाकर्मी के एटीएम बूथों के मशीन में लगाने लगे। ये दोनों पुलिस की नजरों से बचने के लिए थोड़े थोड़े समय पर शहर बदल लिया करते थे। 


जर्मनी के हैकर से है संपर्क 
दोनों ने बताया कि ये दोनों स्कीमर के माध्यम से एटीएम कार्ड का पूरा डाटा कलेक्ट करते थे। उस डाटा को जो जर्मनी में रहने वाले एक हैकर, जिससे संपर्क कृष्णा के एक साथी कटक के अजय ने करवाया था, को भेज देते थे। वह हैकर वीकर और टोटानोटा (Tutanota) जैसे ऑनलाइन एप (Online APP) के माध्यम से इन्हें भेजे गए स्कीमर के इनक्रिप्टेड डाटा को खोल कर खाता का ब्यौरा इन्हें भेज दिया करता था। इसके लिए दोनों हैकर को 100 रुपए प्रति खाता से लेकर 12 सौ रुपए प्रति खाता बिटक्वाइन के रूप में भेजा करते थे। 


कंपनी के कर्मचारियों से लूटे ढाई लाख
न्यू अशोक नगर इलाके में नकाबपोश बदमाशों ने पिस्टल के बल पर एक कंपनी के कर्मचारियों से लाखों की नकदी लूट ली। बदमाशों ने वारदात को उस समय  अंजाम दिया जब कर्मचारी कंपनी के रुपये लेकर घर लौट रहा था। पुलिस घटना स्थल की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।   पीड़ित सुनील गर्ग परिवार के साथ न्यू कोंडली इलाके में रहते हैं और न्यू कोंडली स्थित हल्दीराम नमकीन कंपनी के दफ्तर में काम करता है। बुधवार रात वह दफ्तर में काम करने वाले बृजेश के साथ दफ्तर से पैदल घर लौट रहा था। बृजेश के पास कंपनी के ढाई लाख रुपये बैग में थे। जब दोनों शनि बाजार रोड पर एमआईजी के गेट के अंदर पहुंंचे। तभी नकाबपोश दो बदमाश आए और दोनों के सीने पर पिस्टल तान दी। फिर बृजेश से बैग लेकर थोड़ी दूरी पर खड़ी बाइक पर बैठकर फरार हो गए। सुनील की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


 


 










 







टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश