सेमरखेड़ा में गन्ने के खेत में बाघ ने जमाया डेरा। गन्ने के खेत में बाघ देखे जाने से ग्रामीणों में फैली दहशत।*

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से संवाददाता शाहिद खान की रिपोर्ट*

वन विभाग की लापरवाही ग्रामीणों पर पड़ सकती है भारी।पीलीभीत के मरौरी विकास खंड के गांव सेमरखेड़ा में गन्ने के खेत में बाघ देखे जाने से ग्रामीणों में दहशत फैल गई है।


ग्रामीणों ने बाघ देखे जाने की सूचना वन विभाग को दी और बाघ को रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा पकड़वाने की मांग की है सूचना मिलते ही वन विभाग के कर्मचारी गांव पहुंचे लेकिन घेराबंदी करने की जगह गांव में आकर बैठ गए जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है।


इस समय गन्ने की गुड़ाई का सीजन चल रहा है ऐसे में जंगल से निकलकर वन्यजीवों का खेतों की तरफ जाना खतरे से खाली नहीं है पता नहीं कब खेतों में काम करने बाला कौन सा किसान बाघ के हमले का शिकार हो जाए बाघ देखे जाने से ग्रामीणों ने खेतों में काम करना छोड़ दिया है वन विभाग लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन में लगातार लापरवाही कर रहा है ग्रामीणों का आरोप है कि वन विभाग के अधिकारी रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर लगातार टाल-मटोल कर रहे हैं जिससे ग्रामीणों को बाघ कभी भी अपना शिकार बना सकता है अब तक बाघ के हमले में तमाम लोग अपनी जान गंवा चुके हैं लेकिन जिम्मेदार ग्रामीणों की सुरक्षा को लेकर लगातार लापरवाही कर रहे हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत