ताजुश्शरिया मोहम्मद अख़्तर रज़ा खांन क़ादरी (अज़हरी मियां) का दो रोज़ा उर्स ए ताजुश्शरिया 15 व 16 मई को मथुरापुर स्थित मदरसा जामियातुर रज़ा में मनाया जाएगा।

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट।

बरेली, सुन्नी बरेलवी मसलक के रहनुमा मुफ़्ती मोहम्मद अख़्तर रज़ा खांन क़ादरी अज़हरी मियां का दो रोज़ा उर्स ए ताजुश्शरिया का आग़ाज़ होने जा रहा है।

उर्स ए ताजुश्शरिया की सभी रस्में क़ाज़ी ए हिंदुस्तान मुफ्ती मोहम्मद असजद रज़ा खांन क़ादरी की सर परस्ती में जमात रज़ा ए मुस्तफ़ा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं उर्स प्रभारी सलमान मियां की सदारत व जमात रज़ा ए मुस्तफ़ा के राष्ट्रीय महासचिव फ़रमान मियां की निगरानी में दरगाह ताजुश्शरिया और


मथुरापुर स्थित मदरसा जामियातुर रजा़ में 15 व 16 में को मनाया जायेगा। जमात रज़ा ए मुस्तफ़ा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उर्स प्रभारी सलमान मियां ने बताया कि बाद नमाज़ ए फ़जर

क़ुरान ख्वानी व नात व मनक़बत की महफिल सजाई जाएगी। बाद नमाज़ ए असर परचम कुशाई की रस्म अदा की जाएगी।


पहला परचम सय्यद कैफ़ी के निवास शाहबाद स्थिति मिलन शादी हाल से निकलेगा। दूसरा परचम मोहम्मद साजिद आजमनगर स्थित हरी मस्जिद से निकलेगा। तीसरा परचम समरान खांन के निवास सैलानी स्थित रज़ा चौक से निकलेगा।

वही चादर का जुलूस जोगी नवादा से आएगा। तीनों परचम क़ाज़ी ए हिंदुस्तान के हाथों दरगाह ताजुश्शरिया पर पेश किए जाएंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र