दरगाह आला हजरत / ताजुशरिया पर 83 वां उर्स ए हामीदी 2 दिसंबर को मनाया जाएगा।

 रिपोर्ट-मुस्तकीम मंसूरी 

जमात रज़ा ए मुस्तफा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सलमान हसन खांन (सलमान मियां) 83 वां उर्से हामिदी 2 दिसम्बर को जांनाशीने ताजुश्शरिया क़ाज़ी ए हिन्दुस्तान क़ाइदे मिल्लत मुफ्ती मुहम्मद असजद रजा खां कादरी की सरपरस्ती में  खानकाहे ताजुश्शरिया में मनाया जाएगा।


उर्से हामिदी का कार्यक्रम इस प्रकार है l

बामुकाम खानकाहे ताजुश्शरिया में बाद नमाज़े फजर कुरआन खव़ानी नातों मनकबत का सिलसिला चलेगा और बाद नमाज़े ईशा नातों मनकबत व बहार से उलमा ए किराम की तकरीर होगी जिसमे हुज़ूर हुज्जतुल इस्लाम की दीनी ख़िदमात व ज़िन्दगी पर रौशनी डाली जाएगी | कुल शरीफ हुज्जतुल इस्लाम 10 बज कर 35 मिनट पर होगा। बहार से आये उलेमा किराम व मेहमानो के लिए लंगर का भी इंतेज़ाम किया गया है | सलमान मिया ने बताया कि आला हजरत के बड़े बेटे हुजूर हुज्जतुल इस्लाम अल्लामा हामिद रज़ा खान साहब के नाम से दुनिया जानती और पहचानती है l हुज्जतुल इस्लाम अपने इल्म और फ़ज्ल में तो लाजवाब थे ही साथ ही साथ उनका चेहरा ऐसा नूरानी था की जो देखता था दीवाना हो जाता था ना जाने कितने गैर मुस्लिमो को हज़रत के चेहरे से ही इस्लाम की हक़्क़ानियत समझ में आयी और लाताद लोग कलमा पढ़कर इस्लाम में दाखिल हुए और आप आला हज़रत के जानशीन थे l

इस मौके पर मुफ्ती नश्तर फारूकी, डॉ मेहंदी हसन, इकराम रजा़,मोइन खान शमीम अहमद, कौसर अली मौलाना आबिद रजा़, मौलाना शम्स, , गुलाम हुसैन, बख्तियार खान,सैयद रिजवान  दन्नी अन्सारी आदि लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश