बैलेट-पेपर/EVM/नोटा-बटन मे बलवान कौन--बहुजन हसरत पार्टी BHP--?

 सेवा मे:--

*1..आदरणीय महामहिम राष्ट्रपति महोदया साहिबा जी, भारत सरकार, राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली-110004*

*2..माननीय प्रधानमंत्री जी, प्रधानमंत्री कार्यालय, भारत सरकार, नई दिल्ली-110011* 

*3..माननीय केन्द्रीय चुनाव/निर्वाचन आयोग, निर्वाचन सदन, अशोक रोड, नई दिल्ली-110001*

*4..आदरणीय लोकसभा स्पीकर संसद भवन, भारत सरकार, नई दिल्ली-110001*

*5..माननीय केंद्रीय कानून मंत्री, चौथी मंजिल, 'ए' विंग, शास्त्री भवन, नई दिल्ली-110001*

*6..माननीय न्याय-विधि मंत्रालय कैबिनेट सेक्रेटरिएट, रायसिना हिल, नई दिल्ली-110001* 

*7..भारतीय विधिज्ञ परिषद /BAR COUNCIL OF INDIA, 21 राउस एवेन्यू इंस्टिट्यूशनल एरिया,नई दिल्ली-110002* 

*8..सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार, सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग, B-2,पंडित दीनदयाल अन्त्योदय भवन, ग्राउंड फ्लोर, CGO काम्प्लेक्स  लोधी रोड, नई दिल्ली-110003*

*9..सेक्शन ऑफिसर, PMO, साउथ ब्लॉक, नई दिल्ली-110011*

*10..सचिव, राष्ट्रिय पिछड़ा वर्ग आयोग (NCBC) : त्रिकूट-1, भीकाजी कामा पैलेस, नई दिल्ली-110066*


*11..सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग शास्त्री भवन, नई दिल्ली-110001*


*माननीय महोदय/महोदया जी*


*विषय:--नीचे दिये गये सभी 12- बिन्दु को तथा 28/5/23 के संलग्न अंतिम रिमाइंडर को देशहित-जनहित में कानूनन विषय मे सामिल किया जाय उसी के सम्बन्ध मे--?*


*(1)--भारत सरकार द्वारा चुनावी ड्यूटी पर तैनात मतदाता, दिव्यांग-जन व बुजुर्ग आदि को ''पोस्टल-बैलेट'' के माध्यम से वोट कराने हेतु बनाए गए कानून के दिनाँक 23/08/2023 के गैज़ेट का आदेश दिनाँक 04/10/2023 को प्राप्त पत्र के संबंध में.......*


*(2)--बहुजन हसरत पार्टी  BHP व अन्य लगभग 3000 से ज्यादा गैर-मान्यता प्राप्त पंजीकृत राजनैतिक दलों के ऑडिट कराने के केंद्रीय चुनाव आयोग का दिनाँक 20/09/2023 व मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय, उत्तर प्रदेश के दिनांक 03/10/2023 का पत्र जो दिनाँक 17/10/2023 को प्राप्त पत्र के संबंध में......*


*(3)--जब-तक EVM से चुनाव होते रहेंगे तब-तक बहुजन हसरत पार्टी BHP क्या अन्य सभी नये-नये छोटे-छोटे गैर-मान्यता-प्राप्त दल को कोई न चंदा देता है नाहिं पार्टी में जुड़ना पसंद करता है इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित अन्य हजारों नये-नये छोटे-छोटे दल ऑडिट दाखिल करने या कराने में घोर असमर्थ है उसी के संबंध में......*


*(4)--जब-तक ''बैलेट-पेपर'' कि बजाय काँग्रेसी EVM देवता यंत्र से लोकसभा और विधानसभा का चुनाव होते रहेंगे तब-तक बहुजन हसरत पार्टी BHP क्या सभी नये-नये छोटे-छोटे दलो का उदय हो पाना मुश्किल ही नही ना-मुमकिन है इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता रद्द कर दी जाय उसके भी संबंध में......* 


*(5)--जब-तक ''बैलेट-पेपर'' कि बजाय EVM से चुनाव होते रहेंगे तब-तक देश कि आन-बान-शान व लोकतंत्र-संविधान-मानवता-भाईचारा व मौलिक-अधिकार को बचाने के लिए कानूनन किसी भी नए दल को मान्यता न देने के संबंध में.....*


*(6)--बहुजन हसरत पार्टी BHP ने खाशकर 3743 OBC यानि बुद्ध के शूद्र आज के Muslim Sc St Obc वंचित कलाकार जाति-पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर बहुजन लोगों को SC ST भाईयों कि तरह ''सेवा और खिदमत'' के नाम पर राजनैतिक-आरक्षण  लोकसभा-राज्यसभा-विधानसभा-विधान परिषद आदि मे मिले इसके लिए 28/5/19 से लेकर 28/5/23 तक करीब लगभग 48-महीने के इर्द-गिर्द आप सभी देश के 10-11 महानुभाव-गण व मसीहा-रहबर को 1000-1200 स्पीड पोस्ट रजिस्टर्ड भेजकर ऐसी माँग देशहित-जनहित मे कि थी उसके भी सम्बन्ध मे---*


*(6-1)--''कला और पेशा'' मे बँटी वंचित हजारों कलाकार जाति-पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर लोग हिन्दू-मुस्लिम दोनो समुदायो में पाये जाते है जिनकी जनसँख्या पूरे देश मे करीब 70% के इर्द-गिर्द है जिनका आधा से ज्यादा पूरा देश है जो 96% OBC कि श्रेणी में आते है मंडल-आयोग कि रिपोर्ट में भी :--आर्टिशियन-कास्ट--: अनेकों बार आया हुआ है और --:आर्टिशियन-कास्ट--: का मतलब ''कला और पेशा'' ही होता है इन्ही को हाई-कोर्ट इलाहाबाद में और सुप्रीम-कोर्ट नई दिल्ली कि अदालत में 7/7 P.I.L और SLP (C) दाखिल करके तीन-तीन संस्थाओं के जरिये 1> बहुजन मुस्लिम पार्टी 2>--बहुजन नवाब पार्टी 3>--बहुजन हसरत पार्टी BHP बनने के पहले महान नया नाम कलाकार जाति पेशेवर जाति  दिया गया है उसके सम्बन्ध मे------*


*(7)--लगातार 2-चुनाव न लड़ने कि अनिवार्य-शर्त को खारिज करके लगातार 10-से 15-चुनाव तक लड़ने हेतु कानून मे संशोधन किया जाय या कानून बनाकर देशहित-जनहित मे सभी पार्टियों कि मान्यता बरकरार रखी जाय क्योंकि EVM कि वजह से ऐसी छूट होनी चाहिए उसके सम्बन्ध मे------*


*(8)--''नोटा-बटन'' कि भाँति काँग्रेसी EVM देवता यंत्र मशीन पर 2/दो-चुनाव निशान वाला बटन होना चाहिए पहला-EVM मशीन यंत्र और दूसरा "बैलेट-पेपर" का होना चाहिए क्योंकि उम्मीदवार से ज्यादा जब ''नोटा-बटन'' पर ज्यादा वोट पड़ता है तो वहाँ दूसरे नंबर वाले पार्टी के प्रत्याशी को विजयी घोषित करने के बजाय चुनाव ही रद्द किया जाए ऐसी माँग करने वाले माननीय सुप्रीम कोर्ट के कद्दावर वकील साहब श्री अश्विनी कुमार उपाध्याय के इस बे-फिजूल माँग को देशहित-जनहित मे कानूनन ठुकराया जाय इसका मुख्य कारण 96% मतदाता-गण काँग्रेसी EVM देवता यंत्र के खिलाफ ही ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल करके वोट देते है यह जमीनी हकीकत है क्योंकि किसी भी पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ या-या-या EVM के खिलाफ मतदाता-गण जब ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल करके वोट देते है तो इसका खुलासा किसी भी स्तर से नही हो पाता है कि वोटर-मतदाता-गण ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल आखिर किसके खिलाफ किये है उसके सम्बन्ध मे------*


*(9)--सभी राजनैतिक पार्टियों को बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारों "कलाकार जाति पेशेवर जाति" वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग है  इनको जनसँख्या-नुसार चुनाव में टिकट देना अनिवार्य किया जाय ऐसा व्हिप जारी किया जाए तथा जनता-जनार्दन के हित को देखते हुए देशहित-जनहित में ऐलान करते हुए कुछ इस तरह का कानून भी बनाया जाय... जो आज समय कि माँग भी यही चिल्ला-चिल्लाकर ऐसा कहने पर मजबूर है उसके सम्बन्ध मे------*


*(10)---देश के इन 140-करोड़ जनता-जनार्दन में जागरूक नागरिक/मतदाता-गण के वोट से ही पंचायत, विधानसभा, लोकसभा सदस्य व आदि को जैसे चुना जाता है ठीक वैसे ही यदि ''सुप्रीम कोर्ट-हाई कोर्ट'' के ''जजगण'' को और ''चुनाव-आयुक्त'' को भी वोट के माध्यम से चुना जाए या-या-या ''अधिवक्ता-आयोग'' का गठन करके ''अधिवक्ता-आयोग'' के माध्यम से चुना जाए तो न्यायोचित ढंग देशहित-जनहित मे इतना अच्छा होगा जिसका जवाब और मिशाल बहुजन हसरत पार्टी BHP के पास क्या शायद ही किसी के पास होगा ऐसी माँग-अपील-निवेदन देशहित-जनहित मे 28/5/19 से लेकर 28/5/23 तक सैकड़ो बार उदाहरण पे उदाहरण देते हुए पेश करती चली आ रही है खाशकर ''अधिवक्ता-आयोग'' के गठन के लिए बहुजन हसरत पार्टी BHP ने इस दिनाँक 14/01/2021, 21/01/2021, 6/8/2021, 20/8/2021, 13/03/2023, 15/03/2023, 18/03/2023 को तथा  सुप्रीम-कोर्ट व हाईकोर्ट के जजगण कि नियुक्ति-निष्कासन के लिए तथा चुनाव-आयोग कि नियुक्ति-निष्कासन के लिए इस दिनाँक 14/01/2021, 21/01/2021, 6/8/2021, 09/03/2022, 13/03/2023, 15/03/2023, 18/03/2023 को बहुजन हसरत पार्टी ने अन्य माँगो के साथ-साथ ऐसी माँग देशहित-जनहित मे कि थी उसके सम्बन्ध मे------*


*(11)--EVM के रहते हुए मात्र सिर्फ BJP-काँग्रेस ही केन्द्र मे पक्ष-विपक्ष कि भूमिका ही कैसे बनी रहती है, आखिर काँग्रेस-BJP के अलावाँ बहुजन समाज पार्टी BSP-RJD-JDU-आदि अन्य पार्टियाँ केन्द्र कि दहलीज पर स्थायी रूप से सरकार बनाने में सफल क्यों नही हो पा रही है आखिर क्योँ जनाधार होने के बावजूद भी इस काँग्रेसी EVM देवता यंत्र ने BSP, JDU RJD, शिवसेना आदि पार्टियों को राजनीति के क्षेत्र में विलुप्त कर दिया है ऐसी लोगो में अंदरूनी तौर पर अफवाहन सवाल पे सवाल पैदा हो रहा है जिसका अंत देशहित-जनहित मे कानूनन होना चाहिए यदि-यदि-यदि ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव हो गया तो बहुजन हसरत पार्टी BHP के अलावाँ अन्य पार्टियाँ विलुप्त होने से बच जाएगी उसके संबंध में........*


*(12)---बहुजन हसरत पार्टी BHP ने हाल ही में दिनाँक 19/5/2023, 24/05/2023, 28/05/2023 तथा तथा पूर्व मे 28/04/2020, 04/05/2020, 15/01/2021, 22/01/2021 को आप सभी को करोना-काल मे देश कि विषम-परिस्थिति से निपटने के लिए ''फ़िल्म-नायक'' कि भाँति भीमवादी दलित शेरनी बहन मायावती जी को या-या-या भीमवादी क्षत्रिय माननीय श्री  राजनाथ सिंह साहब को देश का कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाने का देशहित-जनहित में सुझाव व सलाह दिया था जिससे आप लोगों ने नहीं माना था क्योंकि बहुजन हसरत पार्टी BHP कि अपील-माँग-निवेदन को EVM के विरोध के कारण ठुकरा दिया जाता है......परन्तु देश मे OBC जनगणना करवाने के लिए तथा SC ST OBC महिलाओं को अलग से आरक्षण दिलवाने के लिए तथा बहुजन हसरत पार्टी BHP कि उक्त माँग को पूरी करने के बजाय क्यों ठुकरा दिया गया जबकि बहुजन हसरत पार्टी BHP ने खुद के लिए कोई माँग नही कि थी बल्कि-बल्कि-बल्कि बुद्ध के शूद्र आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारों कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर लोग है इनक राजनैतिक-आरक्षण लोकसभा-राज्यसभा-विधानसभा-विधान परिषद आदि मे देने के लिए माँग कि थी उसके  सम्बन्ध मे------*


*(स्पेशल नोट)--खासकर माननीय केंद्रीय चुनाव आयोग नई दिल्ली को 25/11/2020 से 28/5/2023 तक नीचे दिये जा रहे सैकड़ों बिन्दुओं पर  कानून बनाने के बजाय केंद्रीय चुनाव आयोग ने उक्त विषय क्रमांक 1 व 2 पर कानून बनाये/अध्यादेश लाए जिसका खुलासा बहुजन हसरत पार्टी BHP ने पहले ही किया है जो देशहित-जनहित मे इस प्रकार से निम्न है।*


*(A)--EVM में गड़बड़ी होती है इसलिए 95% लोग व वोटर EVM से चुनाव नही चाहते है वे मतदाता-गण ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव चाहते, सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे मानते हुए  08/10/2013 के अपने EVM के साथ VVPAT लगाकर चुनाव किए जाए ऐसा आदेश दिया था।*


*(B)--बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित अन्य छोटे दलों से लोग EVM के कारण इच्छा व ताकत होने के बावजूद चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नही रखते है और नाहि चंदा वगैरह ही देते है इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP आज तक चुनाव नहीं लड़ पाई है तथा पदाधिकारी-गण अभी तक पार्टी के संविधान के मुताबिक सालाना फीस भी नही जमा कर सकी है बल्कि रजिस्ट्रेशन करावाकर सबसे बड़ी भूल और गलती कि है जिसे देशहित-जनहित में माफ करते हुए बहुजन हसरत पार्टी BHP कि अपील-माँग-निवेदन स्वीकार करते हुए पार्टी कि मान्यता रद्द कर दी जाय माननीय केन्द्रीय चुनाव आयोग सहित सभी का उपकार होगा।*  


*(B-1)--बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित सैकड़ो छोटे नये-नये दलों का जनाधार तो है परन्तु-लेकिन-मगर जनाधार होने के बावजूद काँग्रेसी EVM देवता यंत्र कि वजह से लोग बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित नये-नये छोटे-छोटे दलों मे सामिल होने से ऐसा कतराते है मानो जैसे नये-नये छोटे-छोटे दलो को कोढ़-कोढ़-कोढ़ लग गया हो।*


*(C)--जिसके कारण बहुजन हसरत पार्टी BHP का मछलीशहर के बैंक ऑफ बड़ौदा में जो करंट-एकाउंट खोला गया था उस खाता में जो 5000/-रुपए से खोला गया है वही 5000-हजार ही होंगे।*


*(C-1)--चुनाव आयोग द्वारा ऑडिट जमा कराने का पत्र विषयांकित बिंदु नंबर 2 केंद्रीय चुनाव आयोग का दिनाँक 20/09/2023 व मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय, उत्तर प्रदेश के दिनांक 03/10/2023 का पत्र जो दिनाँक 17/10/2023 को बहुजन हसरत पार्टी BHP के कार्यालय के पते पर आया वह हमें प्राप्त हुआ है और हम जानते है कि बिना ऑडिट जमा किये वगैर, भविष्य मे हम/बहुजन हसरत पार्टी  BHP चुनाव नही लड़ पायेंगी।क्योंकि 2019 के लोकसभा चुनाव मे बहुजन हसरत पार्टी BHP को चुनाव आयोग महोदय द्वारा चुनाव निशान रेजर/REZOR दाढ़ी बनाने कि मशीन दी गई थी।*


*(C-2)--इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP ने 25/11/2023 से 28/5/2023 तक आपको भेजे गए लगभग सभी अपील में ऑडिट जमा न करने के संबंध में असमर्थता जाहिर कर चुकी है जो आज पुनःह कर रही है तथा आपके कार्यालय को जो 28/05/2019 से लेकर 28/05/2023 तक भेजे गए 1000-1200 रजिस्ट्री में बहुजन हसरत पार्टी BHP के सभी मुख्य पदाधिकारियों के फ़ोन नंबर पहले से ही अंकित है। जो आज फिर सभी लेटर हेड मे पदाधिकारी के नाम व फोन नम्बर को देखा जाना चाहिए आप लोगो का एहसान होगा।*


*(D)--5-पोलिंग स्टेशन के सिस्टम को खारिज करके 25-पोलिंग स्टेशनों यानि लगभग 75-बूथ कि EVM मशीन के साथ-साथ V-VPAT कि पर्चियों का मिलान मतगणना के शुरुआत में ही सभी पार्टी के प्रत्याशी के पोलिंग-एजेन्ट कि मौजूदगी मे "पोस्टल-बैलेट" के साथ-साथ किया जाए।*


*(D-1)-चुनाव आयोग द्वारा चुनाव ड्यूटी पर नियुक्त मतदाता, बुजुर्ग, दिव्यांग जन को वह लोग जहाँ भी हो उसी बूथ में मतदान करने का कानून बनाया है यह पत्र विषयांकित बिंदु नंबर 1 दिनाँक 20/09/2023 को हमे प्राप्त हुआ है।*


*(D-2)--मतगणना के शुरुआत में ही 75 पोलिंग बूथ के EVM से VVPAT का मिलान करते हुए उसी के साथ ''पोस्टल-बैलेट'' कि गणना कराने के बजाय आपने (सिर्फ चुनाव आयोग) उसे नजर अंदाज करते हुए विषयांकित बिंदु-1 चुनाव ड्यूटी पर नियुक्त मतदाता, बुजुर्ग, दिव्यांग जन को वह लोग जहाँ भी हो उसी बूथ में मतदान करने का कानून बनाया है यह कोई बड़ी उपलब्धि नही है, जब कि आप जानते ही हो कि ''पोस्टल-बैलेट'' में भी गड़बड़ी संभव है जिसे देशहित-जनहित में न्याय कि नजर से देखते हुए किसी भी स्तर से झुठलाया नही जा सकता है।*


*(E)--चुनाव आयोग द्वारा खुद सर्टिफिकेट देते समय या रजिस्ट्रेशन करते हुए या पार्टियों को रजिस्टर्ड करके सर्टिफिकेट को भेजते समय सर्टीफिकेट मे यह दर्शाया गया है कि लगातार 2-चुनाव में 5%-5% उम्मीदवार न उतार पाने वाले लगभग सभी 3000 के इर्द-गिर्द जो नये-नये छोटे-छोटे दल व पार्टियाँ है उन पार्टी के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है किन्तु EVM के रहते हुए नये-नये छोटे-छोटे दलों को न कोई चंदा वगैरह देता है न पार्टियों से जुड़ता है इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित 2-चुनाव न लड़ने वाले अन्य दलों कि मान्यता बहुजन हसरत पार्टी BHP के बाद किसी भी न रद्द कि जाय सिर्फ बहुजन हसरत पार्टी BHP कि तत्काल/फौरन रद्द कि जाय बल्कि लगातार 2-चुनाव न लड़ने कि अनिवार्य-शर्त को खारिज करके लगातार 10-से 15-चुनाव तक लड़ने हेतु कानून मे संशोधन किया जाय  यही अपील-माँग-निवेदन बहुजन हसरत पार्टी BHP 28/5/2017 से लेकर 28/5/23 के बीच में जो 1000/1200 के इर्द-गिर्द स्पीड पोस्ट रजिस्टर्ड भेजकर अन्य माँगो के साथ-साथ यह भी माँग लगातार करती चली आ रही है।*


*(F)--या यदि ऐ सम्भव न हो तो-तो-तो एक पर्ची पर 2-चुनाव निशान पहला-EVM मशीन यंत्र और दूसरा "बैलेट-पेपर" का होवे तब पारदर्शिता को ध्यान मे रखते हुए सभी 3000 के इर्द-गिर्द पंजीकृत राजनैतिक दल व गैर-मान्यता प्राप्त दल के 5-पदाधिकारी-गण जैसे राष्ट्रीय अध्यक्ष/उपाध्यक्ष/कोषाध्यक्ष/ महासचिव/सचिव आदि से नोटरी एफिडेविट/हलफनामा द्वारा लिखित पूँछा जाय कि ये लोग EVM से चुनाव चाहते है कि "बैलेट-पेपर" से चुनाव चाहते है।*


*(F-1)--इन सभी 3000-पार्टियों में से प्रत्येक पार्टी 5-हजार मतदाता-गण से लिखित एफिडेविट लेवे कि मतदाता-गण EVM से चुनाव चाहते है कि ''बैलेट पेपर'' से चुनाव चाहते है जिससे लोगो के मन मे EVM या ''बैलेट-पेपर'' के प्रति जो रूझान होगा वह रूझान भी सामने आ जायेगा*


*(F-2)--1/1 एफिडेविट पर वोटर ID कार्ड नंबर सहित 25 से 30 मतदाताओं दस्तखत हो उसे मान्यता देकर 5000 मतदाताओं का एफिडेविट न जमा करने वाले उन सभी पार्टियों पर उनकी आर्थिक हैसियत के हिसाब से थोड़ा-बहुत जुर्माना लगाकर उन पार्टियों को 1-2 मौका देने के बाद ही ऐसे पार्टियों का रजिस्ट्रेशन तब रद्द किया जाय तो न्याय कि नजर से न्यायोचित ढंग देशहित-जनहित मे अच्छा होगा।*


*(G)--भविष्य मे देश कि चन्द रूलिंग पार्टियों के साथ-साथ जो भी 3000-हजार के इर्द-गिर्द गैर-मान्यता प्राप्त नये-नये राजनैतिक दल है उन दलों को भी मान-सम्मान देते हुए तथा उन दलों कि इज्जत बढ़ाते हुए EVM-हैकिंग के लिए बुलाया जाए जिससे आप सभी महानुभाव-गण द्वारा नये-नये छोटे-छोटे दलों को जनता-जनार्दन-मतदाता-गण-वोटरों के बीच मे एक अपनी पहचान बन सके।*


*(G-1)--इसके अलावाँ ''बैलेट-पेपर-NOTA-नोटा-बटन'' आदि मामलों मे भी मीटिंग के लिए बा-कायदा नोटिस जारी करके देशहित-जनहित मे सभी गैर-मान्यता प्राप्त दलों को भी बुलाने के लिए आमंत्रित किया जाए जिससे माननीय केन्द्रीय चुनाव आयोग कि भूमिका पर उठ रहे सवाल को एक नई दिशा मिल सके जो न्याय-संगति भी ऐसा करने के लिए सहमत है।*


*(H)--असल में 96% लोग EVM के खिलाफ है ये देशहित-जनहित मे सत्य से बड़ा सत्य है परन्तु-लेकिन-मगर कोई दूसरा विकल्प न होने के कारण ये मतदाता-गण लोग EVM के प्रति गुस्सा दिखाने के लिए ''NOTA-नोटा-बटन'' दबाकर EVM का विरोध करते है यही गोपनीय खबर जन-जन के मन मे भरी पड़ी है। किन्तु इसका खुलासा कोई क्यों नही करना चाहता है यह अपने मे एक पहेली और सवाल पैदा हो गया है।*


*(I)--बहुजन हसरत पार्टी BHP ने आप सभी को 19/03/2021 के पत्र में तथा अन्य बहुत से पत्र मे लिखा कि मतदाताओं ने ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल पार्टी-प्रत्याशी के खिलाफ किये है कि गुस्से मे EVM मशीन यंत्र के खिलाफ किये है यह कतई सिद्ध नही होता है यदि अगर EVM मशीन मे दो ''नोटा-बटन'' होते (एक)-बटन पार्टी-प्रत्याशी के खिलाफ और (दूसरा)-काँग्रेसी EVM देवता यंत्र के खिलाफ---तब-फिर-तब सच्चाई से पर्दा अपने आप उठाया जा सकता था तब दूध का दूध पानी का पानी अपने आप साफ हो जायेगा कि मतदाता-गण किसके खिलाफ ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल चुनाव मे किये है*


*(J)--इसलिए जिस तरह  तत्कालीन महाराष्ट्र विधान-सभा के अध्यक्ष मा०-माननीय नाना पटोले साहब के नेतृत्व में संविधान कि धारा-328 के तहत महाराष्ट्र विधान सभा ने जैसे राज्य को EVM के साथ-साथ "बैलेट-पेपर" से वोट करने का विकल्प ''NOTA-नोटा-बटन'' कि तर्ज पर कानून बनाने का आदेश/सुझाव दिया था मगर वह भी बनने के पहले मानो दफन कर दिया गया।*


*(J-1)--उसी तर्ज पर सभी राज्यों कि विधानसभा और लोकसभा में भी मतदाताओं को EVM के साथ-साथ "बैलेट-पेपर" से वोट करने का विकल्प ''नोटा-बटन'' कि तर्ज पर मतदाताओं को संतुष्टि देने के लिये कानून बनाने कि अपील कि थी जो आज पुनःह फिर वही शब्द और माँग-अपील-निवेदन देशहित-जनहित मे बहुजन हसरत पार्टी BHP दोहरा रही है जिसे मान्यता दिया जाय रद्द न किया जाए तो न्यायोचित होगा।*


*(नोट-1):--क्योंकि उम्मीदवार से ज्यादा ''नोटा-बटन'' पर जब प्रत्याशी से ज्यादा वोट पड़ता है तो वहाँ दूसरे नंबर वाले पार्टी के उम्मीदवार को विजयी घोषित करने के बजाय व चुनाव ही रद्द किया जाए ऐसी माँग करने वाले माननीय सुप्रीम कोर्ट के कद्दावर वकील साहब श्री अश्विनी कुमार उपाध्याय के इस बे-फिजूल माँग को देशहित-जनहित में खारिज करते हुए बहुजन हसरत पार्टी BHP ने पहले ही जमीनी वास्तविकता बताई थी कि कुल 110-करोड़ मतदाता में से 95% मतदाता-गण किसी प्रत्याशी के खिलाफ ''नोटा-बटन'' का इस्तेमाल नही किया करते है बल्कि-बल्कि-बल्कि काँग्रेसी EVM देवता यंत्र मशीन के खिलाफ जनता-जनार्दन-मतदाता-गण ''NOTA-नोटा-बटन'' दबाकर EVM के प्रति अपना गुस्सा उतारते है जमीनी स्तर पर ऐसा प्रतीत होता है कि इन मतदाताओं का सब्र अब टूट गया है और यदि भविष्य में EVM से ही चुनाव होता रहेगा तो-तो-तो ये 95% मतदाता-गण लोग इस काँग्रेसी EVM देवता मशीन यंत्र को तोड़ ही देंगे यदि ऐसा भी होता है तो देश कि आन-बान-शान व सुख-शांति पर एक बदनुमा दाग धब्बा लग सकता है जो न्याय-संगति कभी माफ नही करेगा हकीकत में जमीनी स्तर पर ''NOTA-नोटा'' पर बटन दबाने वाले हजारों लोगों ने बहुजन हसरत पार्टी BHP को देश का हवाला देते हुए व ताना मारते हुए यह बताने से गुरेज नही करते है।*


*(K)--सभी पार्टियों के MP/MLA को भी ''लोक-प्रतिनिधी'' होने के अनुसार आम नागरिकों में ही गिना जाये और उनका भी मत आम नागरिक जैसा ही लिया जाये/माना जाय क्योंकि कानून कि नजर में सभी समान है...।*


*(L)--देश के इंजिनियर व बुद्धिजीवी लोगो को भी ''खुले-मंच'' पर EVM हैकिंग करने के लिये आमंत्रित किया जाये तथा सभी 3000 पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्ष व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व राष्ट्रीय महासचिव व राष्ट्रीय सचिव  व राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष मे कम से कम 3-पदाधिकारी-गण को EVM मशीन को हैक करने के लिए सिर्फ केन्द्रीय चुनाव आयोग महोदय आप द्वारा उन सभी को देशहित-जनहित में अवश्य आमंत्रित किया जाए तो यह न्यायोचित होगा।*


*(M)--आखिर EVM के रहते हुए मात्र सिर्फ BJP-काँग्रेस ही केन्द्र मे पक्ष-विपक्ष कि भूमिका मे कैसे बनी रहती है लोगो मे अंदरूनी तौर पर अफवाहन सवाल पे सवाल पैदा हो रहा है जिसका अंत देशहित-जनहित मे होना चाहिए आखिर काँग्रेस-BJP के अलावाँ बहुजन समाज पार्टी BSP-RJD-JDU-आदि अन्य पार्टियाँ केन्द्र कि दहलीज पर स्थायी रूप से सरकार बनाने में सफल क्यों नही हो पा रही है आखिर यदि ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव होते तो बहुजन हसरत पार्टी BHP सहित अन्य पार्टियाँ भी चुनाव में अवश्य बाजी मारकर चुनाव जीत जाती परन्तु-लेकिन-मगर जनाधार होने के बावजूद भी इस काँग्रेसी EVM देवता यंत्र ने BSP, RJD,JDU LAPTOP व शिवसेना आदि पार्टियों को राजनीति के क्षेत्र में विलुप्त कर दिया है यदि भविष्य मे देश कि आन-बान-शान के खातिर ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव हो गया तो अन्य पार्टियाँ विलुप्त होने से बच जाएगी।*


*(N)--जब-तक ''बैलेट-पेपर'' कि बजाय EVM से चुनाव होते रहेंगे तब-तक किसी भी नए दल का रजिस्ट्रेशन ही न किया जाना चाहिए तो देशहित-जनहित मे बहुत ही अच्छा होगा जिससे तानाशाही रवैये को लोकतंत्र कहने से बचाया जा सके अर्थात लोकतंत्र कि उपाधि से बचाया जाय इतना ही नही मौलिक-अधिकार को भी डूबने से बजाय जा सके।*


*(O)--इसलिए EVM मशीन हटाकर ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव नही होता है तो बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता ही रद्द कि जाए ऐसी अपील दिनाँक 17/12/2022, 22/12/2022, 31/12/2022, 02/01/2023, 03/03/2023, 06/03/2023, 09/03/2023, 25/03/2023, 28/03/2023 को आप सभी लोगों से अपील कि थी जो आज पुनःह फिर कि जा रही है आखिर देश कि आन-बान-शान के खातिर बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता रद्द कर दो तथा रद्द करते समय बहुजन हसरत पार्टी BHP के कार्यालय पर लिखित भेजने कि महान कृपा कीजिएगा कि बहुजन हसरत पार्टी BHP को किस बिन्दु के तहत दोषी मानते हुए रद्द किया गया है।*


*(P)--बहुजन हसरत पार्टी BHP ने बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारों कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग है इन्हे खाशकर 3743-OBC कलाकार जाति-पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर लोगों को  SC ST भाईयों कि तरह ''सेवा और खिदमत'' के नाम पर राजनैतिक-आरक्षण लोकसभा-राज्यसभा-विधानसभा-विधान परिषद आदि मे मिले इसके लिए 28/5/19 से लेकर 28/5/23 तक 3-रिमाइंडर के साथ करीब लगभग 48-महीने से आप सभी महानुभाव-गण को 1000-1200 स्पीड पोस्ट रजिस्टर्ड भेजकर माँग कि थी, दिनाँक 28/05/2023 तीसरे और आखरी रिमाइंडर कि ज़ेरॉक्स कॉपी आप सभी के संज्ञान मे लाने के लिए देशहित-जनहित मे क्षमा माँगते हुए संलग्नक कर रहे है जिसे देशहित-जनहित मे न्याय कि नजर से देखते हुए न्यायोचित ढंग से निराकरण करने कि महान कृपा कीजिए।*


*(नोट-2 ):--नीचे दिये गये ऐतिहासिक महत्वपूर्ण माँग-अपील-निवेदन को देशहित-जनहित मे कानूनन स्वीकार करने कि महान कीजिए जो करीब-करीब 28/5/19 से लेकर 28/5/23 तक करी गयी है 28/5/23 के अंतिम रिमाइंडर को एक बार देखना उतना ही जरूरी है जितना रेगिस्तान मे प्यासे को पानी कि जरूरत होती है.....28/5/23 के अंतिम रिमाइंडर कि ज़ेरॉक्स कॉपी संलग्नक है।*


*(अ)--जिस तरह आप लोगों ने कश्मीर से धारा 370 व 35-A हटाया है।*


*(आ)--जिस तरह आप लोगों ने मुस्लिम समाज कि महिलाओं के उद्धार के लिऐ 3-तलाक पर कानून बनाये हो।*


*(इ)--जिस तरह आप लोगों ने आनन-फानन मे 10% गरीब सवर्ण भाईयों आर्थिक आधार पर आरक्षण दिये हो...*


*(3-मुख्य नोट):--ठीक उसी तरह बहुजन हसरत पार्टी कि 28/05/2019 से लेकर 28/5/23 तक माँग-अपील-निवेदन को देशहित-जनहित में आप सभी महानुभाव-गण को मसीहा-रहबर मानकर कि थी जो आज फिर देशहित-जनहित में फिर वही माँग-अपील-निवेदन हाँथ जोड़कर कर रही है आज तक कि गई सभी माँगे पूरी करने कि महान कृपा कीजिए...I*


*(Q)--बहुजन हसरत पार्टी BHP उक्त माँगें पूरी करने के लिए खुद अपनी मान्यता रद्द  करवाने कि जोखिम भी उठाई है परन्तु 28/05/2019 से लेकर 28/05/2023 तक लगभग 48-महीने 1000-1200 रजिस्ट्री बहुजन हसरत पार्टी BHP द्वारा आप सभी को देशहित-जनहित- ''कलाकार जाति पेशेवर जाति'' वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोगो को ऊपर के उक्त  बिन्दु {अ+आ+इ} में दर्शाये गये बिन्दु कि भाँति उक्त बिन्दु पर कानून बनाने के लिए माँग-अपील-निवेदन कि थी अफसोस बहुजन हसरत पार्टी BHP कि देशहित-जनहित मे दिए हुए सुझाव को नजर-अंदाज करके या यूं कहे उसके विपरीत कानून-योजना बनाई है जैसे:-------*


*(क)--आपने न तो मतगणना के शुरुआत में ही विधानसभा कि 75-पोलिंग/बूथ पर EVM के साथ VVPAT कि पर्ची के साथ-साथ ''पोस्टल-बैलेट'' कि गिनती करने कि बात मानी है बल्कि उल्टा ''पोस्टल-बैलेट'' जहाँ संबंधित अधिकारी/मतदाता कि ड्यूटी होगी वहाँ  से वोट कराने का कानून बनाया जब कि इस तरह से तो ''पोस्टल-बैलेट'' में भी गड़बड़ी संभव है....जैसे कि सोशल मीडिया व प्रिन्ट मीडिया में एक अफवाह फैली हुई है कि आज तक 2-लाख EVM मशीन कहाँ गायब हो गयी है आज तक उसका खुलासा नही हो पाया है जिसकी वजह मानो न्याय-संगति लहु-लुहान हो गया है अर्थात मानो जैसे फाँसी पर लटकने के लिए मजबूर है।*


*(ख)--जनगणना में जाति का उल्लेख कराने के बजाय आपने 2020 में ही 2021 में होने वाली जनगणना नही होगी ऐसी सरकार कि घोषणा कर डाली.....परन्तु बिहार में जातिय जनगणना करवाकर केन्द्र सरकार कि बजाय अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी तथा उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव जी अपनी जय-जयकार करवाने से पीछे नही हट रहे है बल्कि नीतीश कुमार जी और तेजस्वी यादव साहब जी OBC कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर समाज के मसीहा-रहबर रहनुमा बन गए है यदि केन्द्र सरकार बुद्ध के शूद्र जो आज के 3743-OBC कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर लोग है इनकी जाति जनगणना करवा देवे तथा मंडल-आयोग को राजनैतिक आरक्षण तौर पर लागू कर दिये और आधार-कार्ड/राशन-कार्ड/स्कूल-कॉलेज के सर्टिफिकेट व जन्म प्रमाणपत्र मे तथा अन्य सभी सरकारी डोकुमेन्ट मे जाति का और ''कला और पेशा'' का उल्लेख कर देवे तो माननीय मोदी जी को तीसरी-बार क्या आजीवन प्रधानमंत्री बनने से कोई _''माँई का लाल''_ रोक नही पायेगा ये बहुजन हसरत पार्टी BHP का दावा नही है बल्कि बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारों कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग है हकीकत मे इन सभी का देशहित-जनहित मे भीमवादी-हसरत मोहानी-वादी वाला दावा है जो सत्य से बड़ा सत्य है।*


*(ग)--परन्तु-लेकिन-मगर कलाकार जाति पेशेवर जाति के लोगो को SC ST भाईयों के तर्ज पर लोकसभा-राज्यसभा-विधानसभा-विधान परिषद में राजनैतिक आरक्षण देने के बजाय उनके मुँह पर मारकर जैसे:-------*


*><><•••माटी कला बोर्ड*

*><><•••विश्वकर्मा कौशल विकास,योजना*


*---आदि जातिय योजना चलाकर बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हज़ारों कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोगो का मानो जैसे अपमान किया जा रहा हो।*


*(घ)--सच्चर-समिति के अनुसार मुस्लिम महिलाओं को 16% राजनैतिक-आरक्षण देने के बजाय महिला आरक्षण बिल-नारी शक्ति बिल में मुस्लिम महिलाओं कि बात को तो छोड़ो SC ST OBC महिलाओं को भी इस 33% आरक्षण में से अलग आरक्षण नही दिया गया पता नहीं बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc के लड़के-लड़की व पुरूष-महिलाओं के साथ क्या खेल खेला जा रहा है*


*(च):--यदि बहुजन हसरत पार्टी BHP कि उक्त पूर्व में कि गई तमाम माँगों को आप सभी लोग स्वीकार करते हुए उस पर विचार-विमर्श करते हुए कानून बनाते हो तथा खासकर OBC जनगणना करवाते हो कलाकार जाति पेशेवर जाति के लोगो को SC ST भाईयों के तर्ज पर लोकसभा-राज्यसभा-विधानसभा-विधान परिषद में राजनैतिक आरक्षण देते हो तथा महिला आरक्षण में MUSLIM SC ST OBC महिलाओं को अलग से आरक्षण दिलवाते हो तो 2024 में ही क्या अगले 50 साल तक आप और BJP का प्रधानमंत्री बनने से भीमवादी दलित शेरनी बहन मायावती जी ही क्या नीतीश कुमार जी और काँग्रेस भी NDA-BJP वाले मोदी को कोई भी प्रधानमन्त्री बनने से रोक नही सकता है और तो और बहुजन हसरत पार्टी BHP ही क्या तमाम पार्टियाँ में से चंद पार्टियों को छोडकर बाकी सभी BJP में अपना विलय करने पर मजबूर हो जायेगी।*


*(4-विशेष/नोट):--हमने बहुजन हसरत पार्टी BHP बनाकर बहुत बड़ी गलती कि है हमें लगा था कि दुनियाँ कि तरह INDIA-भारत मे ही EVM बंद होकर ''बैलेट-पेपर'' का दौर चालू हो जायेगा तो भविष्य मे बहुजन हसरत पार्टी BHP को भी पसन्द करने वाले बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारो कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग है ये आगे आयेंगे और BHP को मजबूती प्रदान करेंगे परन्तु नही पता था कि दुनियाँ के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत मे लोकतंत्र कि धज्जियाँ उड़ाने के लिए तथा भारत को पुनःह विदेशी ताकतों का गुलाम बनाने के लिए हमेशा EVM से चुनाव होगा, बहुजन हसरत पार्टी BHP को लगा था कि जल्द ही ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव होंगे भारत मे पुनःह लोकतंत्र कि बहाली होगी व मौलिक-अधिकार व लोकतंत्र-संविधान-मानवता-भाईचारा में बहार आएगी परन्तु 20-लाख EVM मशीन गायब होने के बावजूद भी EVM से चुनाव हो रहे है इसलिए लोकतंत्र को बचाने के लिए बहुजन हसरत पार्टी BHP ने अपनी मान्यता खुद रद्द करने कि जोखिम व माँग उठाई है। यदि बहुजन हसरत पार्टी BHP के उक्त माँग को मानते हुए आप बहुजन हसरत पार्टी कि मान्यता रद्द करते हो तो कृपया बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता को किस बिन्दु के तहत रद्द कि जा रहा है उसका लिखित जवाब बहुजन हसरत पार्टी BHP के केन्द्रीय कार्यालय को ये दी दिया जाए यह प्रार्थना है किन्तु एक बात सत्य से बड़ा और सत्य से ऊपर है:----------यदि-यदि-यदि BSP-भीमवादी दलित शेरनी बहन मायावती जी देश कि प्रधानमन्त्री होती तो-तो-तो बहुजन हसरत पार्टी BHP जो 28/5/19 से लेकर 28/5/23 तक सभी माँग-अपील-निवेदन देशहित-जनहित मे करी है उसे कानूनन लीगल तौर पर जायज ठहराते हुए कब से पूरा कर दी होती और यदि भीमवादी क्षत्रिय नेता माननीय राजनाथ सिंह साहब भी प्रधानमन्त्री होते तो-तो-तो बहुजन हसरत पार्टी BHP कि उक्त सभी माँगो में से 50% से भी ज्यादा माँगे भी कब कि पूरी कर देते ऐसा बहुजन हसरत पार्टी BHP को इन दोनों नेताओँ-मसीहा-रहबर पर 101℅ विश्वास है........क्योंकि बहुजन हसरत पार्टी BHP को बहन मायावती जी मे बाबा-साहेब तथा भीमवादी दलित बब्बर शेर मान्यवर काँशीराम साहब तथा भीमवादी क्षत्रिय भूत-पर्व प्रधानमंत्री श्री. V.P सिंह साहब कि छवि दिखती है और भीमवादी क्षत्रिय नेता माननीय राजनाथ सिंह साहब जी मे भी भीमवादी क्षत्रिय भूतपर्व प्रधानमंत्री श्री. V.P सिंह साहब कि छवि दिखती है, परन्तु-लेकिन-मगर BSP के जनाधार को काँग्रेसी EVM देवता यंत्र ने राजनीति के तौर पर बौना साबित कर दिया है।*


       *अत: माननीय महामहिम राष्ट्रपति महोदय साहिब जी, माननीय प्रधानमंत्री जी, माननीय केन्द्रीय निर्वाचन आयोग आदि सभी महानुभाव-गण व देश मसीहा-रहबर-रहनुमा से कर-बद्ध निवेदन है कि आप सभी लोग देश के भाग्य-विधाता हो और आप लोग ही बुद्ध के शूद्र जो आज के Muslim Sc St Obc वंचित हजारों कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग है उनके रहनुमा-मसीहा-रहबर भी हो देश कि उत्पन समस्या का समाधान व निदान के लिए हम आप सभी से व माननीय चुनाव आयोग महोदय से हाँथ जोड़कर नत-मस्तक होकर पूर्व कि भाँति पुनःह आज फिर देशहित-जनहित मे अपील कर रहे है पूर्व कि सभी माँगो के साथ-साथ विषयांकित मे दर्शाये गये बिन्दु 1 से 12 तक कि समस्त माँग को और इस निवेदन में दिए हुए सभी 'A' लगायत 'Q' बिंदु, और सभी 'अ, आ, ई,' व  'क' लगायत 'च' उप-बिंदु व सभी नोट जैसे:----स्पेशल नोट, नोट 1, नोट - 2, मुख्य नोट अपील-माँग y नोट व सभी आदि माँग को देशहित-जनहित मे पूरी करने कि महान कृपा करिये जो देश के लोकतंत्र-संविधान व विकास के लिए बहुत ही जरूरी है व नितांत आवश्यक भी है माननीय केन्द्रीय निर्वाचन आयोग/चुनाव आयोग से भी अपील-माँग-निवेदन पूर्व में भेज दिये थे कि EVM मशीन यंत्र ही महान भारत देश कि तबाही कि असली समस्या है जिसे देशहित-जनहित मे हटाकर ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव कराने के लिए आदेश दिया जाय यदि EVM के जगह ''बैलेट-पेपर'' से चुनाव कराने का आदेश नही दे सकते हो तो-तो-तो बहुजन हसरत पार्टी BHP कि मान्यता रद्द तो कर दीजिए इसलिए बहुजन हसरत पार्टी BHP ने अभी तक ऑडिट वगैरह मजबूरी और लाचारी और बेबसी में नही जमा कर सकी है जिसके लिए हम क्षमा प्रार्थी है यदि अपील-माँग-निवेदन करने मे कोई अपराध या गलती हो गई हो तो देशहित-जनहित मे बहुजन हसरत पार्टी BHP के सभी पदाधिकारी-गण कि गलती व अपराध को माफ करने कि महान कृपा कीजिए तथा 28/5/23 का रिमाइंडर इसमे इसलिए संलग्न किया गया है जिससे आप सभी को देशहित-जनहित मे भली-भाँति मालूम हो जावे कि बहुजन हसरत पार्टी BHP ने क्या-क्या माँग-अपील-निवेदन करी है तथा कलाकार जाति पेशेवर जाति वाले कामगार-श्रमिक-मजदूर-बहुजन लोग कौन-कौन है*


*संलग्नक कॉपी निम्न इसमे अटैच है जैसे::--?*


*(1)--28/5/23 का अंतिम रिमाइंडर कि छाया-प्रति*


*(2)--पोस्टल-बैलेट वाली इस दिनाँक 28/03/2023 कि छाया-प्रति व 04/10/2023 को प्राप्त भारत सरकार के 23/08/2023 के गैज़ेट के आदेश कि छाया-प्रति*


*(3)--केन्द्रीय चुनाव आयोग व राज्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश का लेटर इस दिनाँक 20/09/2023 व 03/10/2023 का पत्र है उसकी छाया-प्रति*


*28/10/2023*

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश