बसपा जिला संगठन में इकलौते मुस्लिम जिला उपाध्यक्ष का अपने संबोधन में नाम ना लेकर मुस्लिम विरोधी होने का एहसास जरूर कर दिया

 मंडल कार्यालय बरेली पर 77 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पार्टी कार्यालय पर ध्वजारोहण के बाद बैठक में बसपा जिलाध्यक्ष ओंकार कातिब ने बसपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जहां संगठन में सुधार के लिए गुटबाजी को खत्म करने का आवाहन किया वहीं अपने संबोधन के दौरान बसपा के सभी वर्तमान व पूर्व पदाधिकारीयों का नाम लिया परंतु बसपा जिला संगठन में इकलौते मुस्लिम जिला उपाध्यक्ष का अपने संबोधन में नाम ना लेकर मुस्लिम विरोधी होने का एहसास जरूर कर दिया इस संबंध में पत्रकारों ने संगठन की गुटबाजी के बारे में जानना चाहा तो पत्रकारों के सवालों के घुमा फिरा कर जवाब देते हुए कहा






टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश