विधानसभा में CM केजरीवाल बोले- मणिपुर को लेकर दुनिया में थू-थू हुई, फिर भी PM चुप रहे,

 विधानसभा में CM केजरीवाल बोले- मणिपुर को लेकर दुनिया में थू-थू हुई, फिर भी PM चुप रहे, नेहरू को गाली देकर चीन से डरते हैं, विरोध पर 4 BJP विधायकों को बाहर निकाला

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए दिल्ली से रुबि न्यूटन की रिपोर्ट,

दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी और पीएम मोदी पर निशाना साधा। न सिर्फ मणिपुर हिंसा को लेकर, बल्कि अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा में हुई हिंसा, महिला पहलवानों, किसानों और चीन का ज़िक्र करते हुए बीजेपी को घेरा।


इसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये लोग मणिपुर की चर्चा तक नहीं होने देना चाहते हैं। इतने दिनों तक मणिपुर जलता रहा। पूरी दुनिया में इसकी चर्चा हुई। पूरी दुनिया में थू थू हुई, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने मणिपुर में शांति की अपील तक नहीं की। पीएम ने मणिपुर का नाम भी नहीं लिया। पीएम को कम से कम शांति की अपील तो करनी ही चाहिए थी। आखिर मणिपुर के लोगों के दिल पर क्या गुजरी होगी। यहां तक मणिपुर की एक महिला का वीडियो भी वायरल हो गया। इसके बाद भी पीएम मोदी चुप रहे। अरविंद केजरीवाल ने कहा- प्रधानमंत्री पिता तुल्य हैं। उन्होंने मणिपुर की बेटियों से मुंह मोड़ लिया। आप अपने कमरे में बैठे रहे। पूरा देश प्रधानमंत्री की चुप्पी का कारण पूछ रहा है। यह पहली बार नहीं है कि वह चुप हैं। जब भी पिछले नौ वर्षों में संकट की स्थिति आई प्रधानमंत्री चुप्पी साधे रहे।

अरविंद केजरीवाल ने नेहरू को लेकर भी बीजेपी पर निशाना साधा। केजरीवाल ने कहा कि ये लोग जवाहर लाल नेहरू को बार बार गाली देते हैं। नेहरू ने कम से कम चीन के साथ आँख में आँख डालकर तो बात की और युद्ध भी किया। ये सरकार तो चीन का नाम भी नहीं लेती। चीन हमें ललकार रहा है। हमारी ज़मीन पर कब्जा कर रहा है, फिर भी पीएम मोदी चुप रहे। मणिपुर के मुद्दे पर चर्चा का विरोध करने को लेकर दिल्ली विधानसभा की कार्यवाही के दौरान भारतीय जनता पार्टी के चार विधायकों को मार्शलों ने बाहर कर दिया। आम आदमी पार्टी विधायक दुर्गेश पाठक ने पूर्वोत्तर राज्य में हिंसा पर अल्पकालिक चर्चा शुरू की जिसके बाद भाजपा विधायक विरोध में खड़े हो गए और कहा कि दिल्ली से संबंधित मुद्दों पर सदन में बहस होनी चाहिए। उप सभापति राखी बिधलान ने भाजपा विधायकों के विरोध पर सवाल उठाते हुए कहा, क्या उन्हें लगता है कि मणिपुर विधानसभा में चर्चा के लिए कोई मुद्दा नहीं है? उत्तर प्रदेश विधानसभा में भी मणिपुर मुद्दे पर चर्चा हुई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश