राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आय़ोग एवं अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के संयुक्त तत्वाधान में पसमांदा मुस्लिम बच्चों के अधिकारों पर संगोष्ठी आयोजित*

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट*

पसमांदा मुस्लिम बच्चों के हितों की रक्षा करने को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की भूमिका महत्वपूर्ण : प्रियंक कानूनगो

मोदी सरकार की नीतियों ने पसमांदा मुस्लिम समाज को मुख्यधारा में लाने का काम किया : जावेद मलिक 

भोपाल : प्रशासनिक अकादमी भोपाल में प्रदेश भर से आए पसमांदा मुस्लिम समाज के प्रतिनिधियों के साथ राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के द्वारा अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के आग्रह पर पसमांदा मुस्लिम समाज के बच्चों के अधिकारों के संरक्षण पर चर्चा का आयोजन किया गया।


चर्चा का आयोजन राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई दिल्ली में किया। पसमांदा मुस्लिम समाज के बच्चों के अधिकारों और उनके विकास में बाधा डाल रहे प्रमुख बिंदुओं पर आधारित इस महत्वपूर्ण चर्चा में मध्य प्रदेश राज्य के पसमांदा मुस्लिम समाज के  प्रतिनिधियों अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष जावेद मलिक व मध्य प्रदेश अध्यक्ष ज़फर अंसारी के नेतृत्व में हिस्सा लिया।

आयोग के अध्यक्ष श्री प्रियंक कानूनगो ने चर्चा की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित प्रतिभागियों के समक्ष उन चुनौतियों को रखा जिससे मुस्लिम समाज के बच्चे अपने संवैधानिक और वैधानिक अधिकारों से वंचित हो रहे हैं और विकास की गति में पिछड़ गए हैं। उन्होंने मुस्लिम समाज के बच्चों की शिक्षा पर विशेष बल देते हुए कहा कि जब तक हम मुस्लिम समाज के बच्चों को धार्मिक शिक्षा के साथ बुनियादी शिक्षा से नहीं जोड़ते तब तक समुदाय के बच्चों का विकास संभव नहीं है। इस संबंध में आयोग प्रयास कर रहा है और इस दिशा में पसमांदा मुस्लिम समाज का सहयोग जरूरी है। 


पसमांदा मुस्लिम समाज के बच्चों के अधिकारों को सुनिश्चित करने तथा उन तक विकास के अवसर पंहुचाने का आश्वासन देते हुए आयोग के अध्यक्ष श्री प्रियंक कानूनगो जी ने अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के साथ हुए एक एमओयू पर किये गए कार्यों पर चर्चा  की। इस एमओय़ू के माध्यम से पसमांदा मुस्लिम समुदाय के बच्चों के अधिकारों के रक्षण, शिकायत निवारण, अनाथ, दिव्यांग, एकल अभिभावक की संतान, मदद की आवश्यकता वाले, रोगग्रस्त, शाला त्यागी बच्चों को लाभ पंहुचाने तथा जागरूकता का ऐसा तंत्र विकसित किया जाएगा जिससे कि बच्चों को सरकारी योजनाओं से जोड़ा जा सके और मुख्यधारा में लाया जा सके। 

अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के अध्यक्ष श्री जावेद मलिक ने पसमांदा मुस्लिम समाज की ओर से प्रतिनिधियों का प्रतिनिधित्व किया और आयोग के समक्ष बाल श्रम से मुक्ति, नशा की समस्या का समाधान, EWS श्रेणी का लाभ समेत कई समस्याओं को रखा और आयोग का सहय़ोग मांगा। इसके साथ ही उनके द्वारा यह आश्वासन दिया गया कि वह आयोग के द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चों के लिए किए जा रहे प्रयासों में अपना पूर्ण समर्थन देंगे। इस मौके पर मध्य प्रदेश वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष सनव्वर पटेल जी ने कहा कि वक़्फ़ के माध्यम से पसमांदा मुस्लिम बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे, इस मौके पर अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के प्रदेश अध्यक्ष ज़फर अंसारी ने कहा कि 85% पसमांदा मुस्लिम समाज को उनका हक़ दिलाने के किये हर संभव प्रयास किये जायेंगे,आयोग की सदस्य सचिव श्रीमती रुपाली बनर्जी ने प्रदेश भर भर से आए हुए सभी प्रतिनिधियो का धन्यवाद ज्ञापित किया, इस अवसर पर पसमांदा मुस्लिम समाज के जनप्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया गया

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश