एयरपोर्ट विस्तारीकरण को लेकर झूठी आख्या दे रहे हैं लेखपाल, कानूनगो

 खिरिया बाग के किसान सांसदों और कृषि मंत्री के सामने रखेंगे अपनी मांगे

खिरिया बाग, आजमगढ़ 6 जुलाई 2023. खिरिया बाग में 267 वें दिन किसानों मजदूरों का धरना जारी रहा. किसानों मजदूरों ने कहा कि शासन, प्रशासन को जो शिकायतें हमारी तरफ से भेजी जा रही हैं उन पर लेखपाल, कानूनगो झूठी आख्या लगा रहे हैं. झूठी आख्या लगाकर शासन, प्रशासन को भ्रामक सूचनाएं भेजने वाले राजस्वकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. किसान कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के सामने भी अपनी मांगे रखेंगे. पिछले दिनों आजमगढ़ आए कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने आजमगढ़ सांसद दिनेश लाल निरहुआ और कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के एयरपोर्ट पर दिए विरोधाभाषी बयानों पर बोले थे कि ये अपने मन की बात बोलते हैं इन्हें गंभीरता से नहीं लेना चाहिए. जुलाई में चलने वाले मानसून सत्र में खिरिया बाग के किसानों मजदूरों के पक्ष में संसद में आवाज उठे इसके लिए किसान मजदूर सांसदों के समक्ष अपनी बात रखेंगे. 

वक्ताओं ने कहा कि एक तरफ किसानों को रोपनी की चिंता है तो दूसरी तरफ जमीन बचाने की. सुबह से खेतों में रोपनी कर शाम के वक्त किसान मजदूर खिरिया बाग धरना स्थल पर पहुंच जाते हैं. ठंड से बचने के लिए सरपत, कास की बनी मड़ई किसानों मजदूरों ने बनाई थी. बारिश के पानी से बचने की भी तैयारी में किसान मजदूर हैं. माताओं बहनों के नेतृत्व में चल रहे धरने ने शुरू में ही ऐलान किया था की जिस तरह से दिल्ली किसान आंदोलन के बाद प्रधानमंत्री मोदी को किसानों की बात मानते हुए किसान विरोधी कानूनों को रद्द करना पड़ा था ठीक उसी तरह अंतरराष्ट्रीय एयर पोर्ट की परियोजना रद्द करनी होगी.

धरने पर अवधेश यादव, नंदलाल यादव, प्रेम चंद, रामचंद्र यादव, प्रमोद, संदीप उपाध्याय, जटाशंकर, शशिकांत, नीलम, मीना, किस्मती, फूलमती, सुनीता, सुनील, सीता यादव, अजय यादव, बिंदु यादव आदि मौजूद रहे.


द्वारा-

जमीन मकान बचाओ संयुक्त मोर्चा, आजमगढ़

खिरिया बाग, जमुआ हरिराम, मंदुरी, आजमगढ़

276141

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र