पार्षद ना होते हुए भी पार्षद से कहीं अधिक कार्य कराते हैं समाजसेवी इकबाल अहमद,

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए अलीगढ़ से संजय शर्मा की रिपोर्ट, 

अलीगढ़, ईद उल अजहा के मौके पर नगर निगम अलीगढ़ के वार्ड नंबर 70 के समाजसेवी इकबाल अहमद जो किसी भी पर्व के मौके पर अपने सामाजिक कार्यों से लोगों का दिल जीतने का काम करते हैं| इकबाल अहमद क्षेत्रीय पार्षद ना होते हुए भी अपने क्षेत्र के पार्षद से अधिक कार्य करा कर क्षेत्रीय जनता का लगातार दिल जीतने का कार्य करते हैं|


इसी क्रम में ईद उल अज़हा के मौके पर क्षेत्रीय पार्षद ना होते हुए भी अपने क्षेत्र की सफाई व्यवस्था बेहतर कराने के उद्देश्य नगर निगम अलीगढ़ के अधिकारियों से लगातार संपर्क कर वार्ड नंबर 70 के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी सफाई व्यवस्था दुरुस्त कराने के लिए निगम के कर्मचारियों के साथ लगकर क्षेत्र में बेहतर सफाई कार्य कराने का जो कार्य किया है| उसकी चर्चा हर क्षेत्रीय नागरिक कर रहा है| संबंध में जब हमारे

संवाददाता ने क्षेत्र का भ्रमण कर क्षेत्रीय जनता से बात की तब क्षेत्रीय जनता ने बताया इकबाल अहमद समाज सेवा के कार्य में लगातार लगे रहते हैं| अपने क्षेत्र और आसपास के क्षेत्रों में भी लोगों की समस्याओं का समाधान कराना उनकी दिनचर्या में शामिल है| इकबाल अहमद के बारे में क्षेत्रीय जनता का कहना है| जो कार्य जनता के द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधियों को करवाना चाहिए था| उन कार्यों को किसी भी धर्म के पर्व पर उस क्षेत्र में सफाई व्यवस्था के साथ ही लोगों की राशन कार्ड से संबंधित एवं पेंशन या अन्य जिला प्रशासन या नगर निगम से संबंधित समस्याओं का समाधान कराने में हमेशा सक्रिय रहते हैं| लोगों का कहना है इस बार ईद उल अज़हा के मौके पर वार्ड नंबर 70 और आसपास के क्षेत्रों में इकबाल अहमद ने अपनी मौजूदगी में खड़े होकर निगम के कर्मचारियों से सफाई कराने का जो कार्य किया है| वह अपने आप में बड़ा कार्य है| क्षेत्रिय लोगों ने बताया की ईद के मौके पर कुर्बानी की वजह से क्षेत्र में गंदगी ना फैले इसके लिए जगह-जगह ट्राली रखवा कर, उनमें कूड़ा डालने की व्यवस्था कराने के साथ ही क्षेत्रीय जनता से इस बात का भी आग्रह किया कि जिस किसी के यहां कुर्बानी हो वह कुर्बानी के बाद जो भी फेंकने वाली चीज हो उसको सड़कों पर ना डालकर ट्राली में ही डालें बेहतर सफाई व्यवस्था में नगर निगम प्रशासन का प्रयोग करें खुले में कुर्बानी ना करें और कुर्बानी वाले जानवर का खून नालियों में ना बहाएं जहां पर मिली-जुली आबादी हो वहां पर विशेष ध्यान रखा जाए|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश