बिना भेदभाव मोदी योगी सरकार की नीतियों का लाभ पसमांदा मुस्लिम समाज तक सीधे पहुंच रहा : जावेद मलिक

 *मोदी योगी की सरकार में पसमांदा मुस्लिम को राजनीतिक,आर्थिक व सामाजिक लाभ मिला* 


बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट*


बिना भेदभाव मोदी योगी सरकार की नीतियों का लाभ पसमांदा मुस्लिम समाज तक सीधे पहुंच रहा : जावेद मलिक 


 पसमांदा मुस्लिम सम्मेलन में को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा पश्चिम उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष व अखिल भारतीय पसमांदा मुस्लिम मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष जावेद मलिक ने सम्बोधित करते हुए कहा कि  अभी तक किसी भी प्रधानमंत्री ने पसमांदा मुसलमानों की सुध नहीं ली। नरेंद्र मोदी भारत के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने पसमांदा मुसलमानों के दर्द को समझा। राजनितिक, आर्थिक एवं सामाजिक रूप से पिछड़े हुए पसमांदा मुसलमानों को सभी राजनितिक दलों ने अपने फायदे के लिए इस्तेमाल किया। पसमांदा मुसलमानों को उनके हाल पर छोड़ दिया। भाजपा ने ही सच्चे अर्थों में पसमांदा मुसलमानों की हितैषी साबित हुई है। 



जावेद मलिक ने गुरुवार में एक बैंकट हॉल में महाजनसम्पर्क अभियान के तहत पसमांदा मुस्लिम सम्मेलन में हजारों की संख्या में आये पसमांदा मुसलमानों को संबोधित करते हुए कहा कि आज पसमांदा मुसलमान हाशिये पर आप आ चुका था पर जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समाज को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है तबसे पसमांदा समाज का भरोसा मोदी में और गहरा हुआ है। आजादी के बाद से पिछले सत्तर साल में देश व प्रदेश में कांग्रेस, सपा समेत अन्य विपक्षी दलों ने पसमांदा मुस्लिमों को गुमराह किया है। इन दलों ने अपने फायदे के लिए मुस्लिम समाज का भरपूर इस्तेमाल किया है। सिर्फ वोट बटोरने के लिए मुस्लिम समाज को गुमराह किया जाता है। अब सही समय है अपने खोए हुए राजनीतिज्ञ सम्मान को वापस लाने का, पिछड़ेपन को दूर करने का, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की डबल इंजन की सरकार ने बिना भेदभाव किए सबका साथ सबका विकास का नारा देते हुए पिछड़े मुस्लिम समाज को सभी योजनाओं का लाभ पहुंचाते हुए पिछड़ेपन को दूर करने का काम किया है। जावेद मलिक ने कहा कि पसमांदा मुस्लिम समाज को अब किसी विपक्षी दल के बहकावे में नहीं आना है। यह पार्टियां सिर्फ़ गुमराह करके अपने फायदे के लिए सिर्फ मुस्लिम समाज का इस्तेमाल करते हैं और अपनी राजनीतिज्ञ रोटियां सेकते हैं। ये दल कभी भी आपके पिछड़ेपन को दूर नहीं कर सकते हैं। इन दलों को सिर्फ आपकी वोट चाहिए उसके बाद मुस्लिम समाज को भूल जाते हैं। मोदी सरकार ने बिना भेदभाव के मुस्लिम समाज को मुफ्त राशन, मुफ्त घर, मुफ्त शौचालय और पाँच लाख तक के मुफ्त इलाज की सुविधा दी है।

जावेद मलिक ने कहा कि आपकी भी ज़िम्मेदारी बनती है कि जिस तरह बिना भेदभाव के सरकार में पसमांदा मुसलमानों को हिस्सेदारी मिली है। सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिला है। उसी तरह पसमांदा मुस्लिम समाज को भी आने वाले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को मजबूत करने का काम करना चाहिए। इससे यह सन्देश मोदी तक पहुंचे कि पसमांदा समाज की चिंता अगर आपने की है तो पसमांदा समाज ने भी वोट देकर आपका हक़ अदा किया है। देश का पसमांदा मुसलमान आज मोदी के साथ खड़ा है और आगे भी खड़ा रहेगा। इस मौके पर पसमांदा मुस्लिम मंच के क्षेत्रीय अध्यक्ष गुलबहार चौधरी ने भी पसमांदा मुसलमानों के लिए किये गए कार्यों व सरकार कि योजनाओं से अवगत कराया। सम्मेलन को जिलाध्यक्ष व कार्यक्रम संयोजक आदिल सिद्दीकी , राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सगीर प्रधान, अय्यूब मलिक, रहीस चौधरी ,गुलबहार चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष व मदरसा बोर्ड सदस्य इमरान अहमद,  एम पी बख्शी , मौनी चोधरी, शारिक ज़िया, ने भी सम्बोधित किया

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र