मौलाना तौकीर ने उत्तर प्रदेश में एनकाउंटर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि हालात किसी से छिपे नहीं हैं। जो कुछ हो रहा है, जुल्म है। विकास दुबे से लेकर अब तक जो एनकानंटर हुए हैं, उन सबकी जांच होनी चाहिए।

 बरेली में इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) के प्रमुख मौलाना तौकीर ने उत्तर प्रदेश में एनकाउंटर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि हालात किसी से छिपे नहीं हैं। जो कुछ हो रहा है, जुल्म है। विकास दुबे से लेकर अब तक जो एनकानंटर हुए हैं, उन सबकी जांच होनी चाहिए।मौलाना तौकीर सोमवार को अपने निवास पर मीडिया से बात कर रहे थे। उनका आरोप है कि पुलिस और गुंडों के बीच गठबंधन बन गया है, जिसकी सरपरस्ती सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि प्रदेश में अमन कायम रहे। पुलिस हमारा साथ नहीं दे रही


मौलाना तौकीर रजा ने यह भी कहा है कि जब पुलिस और कानून व्यवस्था नहीं संभाल पा रहे हैं तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दे देना चाहिए। 

अतीक अहमद और अशरफ की हत्या के मामले में पूछे गए सवाल पर मौलाना ने कहा कि हम अतीक और अशरफ की नहीं, हम सारे मामले की बात कर रहे हैं। बाकी जो कुछ भी हुआ पुलिस का नजरिया साफ दिखाई दे रहा है, जिसे सब ने देखा।

इससे पहले मौलाना तौकीर रजा ने बताया कि प्रेसवार्ता बुलाने के लिए आईएमसी मीडिया प्रभारी मुनीर इदरीसी से प्रेसवार्ता के लिए सूचना भिजवाई थी, जिसे लेकर मीडिया प्रभारी के घर पर नोटिस चस्पा कर दिया गया।

उन्होंने कहा कि पुलिस नहीं चाहती हैं कि हम अपने आवास पर भी प्रेस से बात कर सकें। प्रेस वार्ता के दौरान मौलाना तौकीर के आवास के बाहर सीओ और कोतवाल सहित तमाम पुलिसकर्मी निगरानी रखे हुए थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*