भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने पसमांदा मुद्दे पर प्रोफेसर फिरोज मंसूरी के कथन पर लिया संज्ञान एक कदम आगे बढ़कर फिरोज़ मंसूरी की मांग पर लगाई मोहर तारिक मंसूर कुरैशी को विधान परिषद सदस्य बनाने का लिया फैसला|

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

पसमान्दा समाज के चाणक्य हैं प्रो० फिरोज मंसूरी 


पटना,‌ प्रोफेसर डाक्टर फिरोज मंसूरी ने पिछले दिनों बीजेपी की‌ कथनी और करनी‌ पर जम कर ली थी खबर, सबूत के साथ किया था बेनकाब ,भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने पसमान्दा मुद्दे पर प्रोफेसर फिरोज मंसूरी के कथन पर लिया संज्ञान एक कदम बढ़ कर मंसूरी की मांग पर लगाई मुहर उत्तर प्रदेश में तारीक मंसूर कुरैशी को  विधान परिषद् सदस्य बनाने का लिया फैसला । बताते चलें इससे पहले बिहार में पसमान्दा मसले पर सेक्युलर दलों की प्रो० फिरोज मंसूरी ने ली थी खबर पसमान्दा हिस्सेदारी पर नितिश कुमार तेजस्वी यादव को‌ घेरा था पसमान्दा हिस्सेदारी की जारी की थी अपील, बिहार में जिसका हुआ था भारी असर कैबिनेट की फाईनल लिस्ट में रातों रात हुआ बदलाव इसराईल मंसूरी को कबिनेट में जगह मिली थी पसमान्दा समाज के चाणक्य हैं प्रो० फिरोज मंसूरी पसमान्दा हकमारी पर नहीं करते समझौता वंचित पसमान्दा नट पमरिया धोबी बक्खो भांट मदार सलमानी फकीर चुडिहारा दर्जी को राज्य सभा विधानसभा विधान परिषद में भेजने के लिये हमेशा उठाते हैं आवाज पिछले वर्ष  बहुजन पसमान्दा एकता के लिये सेंकडों मील गांव गांव डगर डगर यात्रा कर बिहार में बनाई है एक अलग पहचान सबको साथ लेकर चलने की कला इनमें कूट कूट कर भरी है पसमान्दा समाज के लिये कुछ भी कर गुजरने को रहते हैं तैयार हमें अपने लीडर पर नाज है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*