पीलीभीत समाजवादी पार्टी से नगर पालिका अध्यक्ष पद की उम्मीदवार नसरीन अंसारी का नामांकन रद्द कराने की कोशिशें विरोधियों की हुई नाकाम*

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट*

पीलीभीत नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के चुनाव में समाजवादी पार्टी के नेता समाज-सेवी व कॉलोनाइज़र नफीस अहमद अंसारी की पत्नी श्रीमती नसरीन अंसारी के समाजवादी पार्टी के टिकट पर पीलीभीत नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव मैदान में उतरने से सभी विरोधी पार्टियों के प्रत्याशियों में हड़कंप मच गया है, तथा सभी विरोधी



प्रतियाशियों के समीकरण ख़राब हो गए हैl श्रीमती नसरीन अंसारी के पति नफीस अंसारी की लोकप्रियता और उनकी जीत को निश्चित होते देख विरोधी खेमे में हड़कंप मचा हुआ है, विरोधी खेमा जानता है, कि चुनाव में श्रीमती नसरीन अंसारी को हराना आसान नहीं है तभी विरोधी दल के नेता बिना जानकारी के झूठी शिकायतें देकर श्रीमती नसरीन अंसारी को नगर पालिका परिषद, पीलीभीत के अध्यक्ष पद की उम्मीदवारी से उनका आवेदन निरस्त करवाने के उद्देश्य से जिला प्रशासन में शिकायते दे रहे है l जिससे विरोधियों की जीत का रास्ता आसान हो सके, परन्तु श्रीमती नसरीन अंसारी की दावेदारी को प्रशासन ने सही पाया है जिससे शिकायत करने वाले विरोधियों की उम्मीद पर पानी फिर गया है और विरोधियों की इस हरकत से श्रीमती नसरीन अंसारी की जीत को सुनिश्चित होने में और मज़बूती मिल रही है इससे यह प्रतीत होता है कि कोई विरोधी श्रीमती नसरीन अंसारी की टक्कर में नहीं है इस सब से श्रीमती नसरीन अंसारी के प्रचार-प्रसार को और ज़्यादा बल मिल रहा है। और चुनाव में विरोधियों पर जीत के अंतर को बड़ा रहा है। चुनाव में श्रीमती नसरीन अंसारी की लोकप्रिता और बढ़ रही है l

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र