बदलते मौसम में वायरल फीवर के मरीजों की लगातार बढ़ रही संख्या के कारण 70% लोग वायरल फीवर की चपेट में आ रहे हैं| डॉक्टर आसिफ रजा़

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट, 

बदलते मौसम के कारण विगत सप्ताह से लोगों में वायरल के मरीजों की संख्या में व्यापक बढ़ोतरी हुई है|


बरेली, ताजुशरिया हॉस्पिटल के डायरेक्टर  कय्यूम खांन बाबू राजा व डाक्टर आसिफ़ रजा़ ने कहा कि बरेली में मौसम के उतार चढ़ाव से वायरल फीवर के मरीजों की इन दिनो इलाके के मोहल्लों में क्लीनिक व ग्रामीण क्षेत्रों में  प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों व स्वास्थ्य केंद्रों में भीड़ उमड़ती नजर आ रही है। दरअसल पिछले आठ दिनो से इलाके मे वायरल बुखार का प्रकोप बढने लगा है । 


                      कय्यूम खांन बाबू रजा़

         मौसम मे हो रहे उतार चढ़ाव के कारण वायरल फीवर ने तेजी से अपने पैर पसार लिए है। वायरल फ्लू का प्रकोप बढ़ने से 100 से 150 मरीज हर रोज इलाके की हर डिस्पेंसरी व मोहल्लों के क्लीनिकों मे  उपचार कराने के लिए पहुंच रहे है। बदलते मौसम के कारण विगत सप्ताह से मरीजों की संख्या मे व्यापक बढोतरी हुई है। यह वायरल फीवर बच्चे , जवान व बुजुर्गों को तेजी से अपनी चपेट मे ले रहा है।डाक्टर आसिफ़ रजा़ ने बताया कि  बुखार की चपेट मे आने वाले रोगियो को सर्दी खांसी व गले मे तेज दर्द की परेशानी होती है और


डॉक्टर आसिफ़ रजा़

कमजोरी आ जाती है। वायरल बुखार के साथ साथ सिरदर्द , बदन दर्द , सांस लेने मे परेशानी आ रही है । मरीज इलाज के लिए  समय से पूर्व ही जाकर लाईन मे लग जाते है ।  ताजुश्शरिया हॉस्पिटल के डॉक्टर आसिफ रजा़ ने बताया कि शरीर मे तेज दर्द गले मे खरास और दर्द , मास पेशयो और जोड़ो मे दर्द कमजोरी महसूस होना सिर दर्द होने के साथ ही तेज बुखार खासी की शिकायत सहित अन्य लक्ष्ण वायरल बुखार से जुड़े है । उन्होंने बताया कि इस वायरल बुखार मे बुखार को आराम पहुंचने के बाद भी खांसी लम्बे समय तक बनी रहती है। उन्होंने बताया कि यादि किसी को वायरल हो जाता है तो उसको चाहिए की वह मास्क का प्रयोग करें, जिससे घर के अन्य सदस्य वायरल की चपेट मे आने से बच सके । डाक्टर आसिफ़ रजा़ ने बताया कि किसी को वायरल फीवर होता है तो उसे तुरंत चिकित्सक को दिखाना चाहिए । उहोने बताया कि वायरल फीवर सामान्य बुखार है इससे घबराने की जरूरत नहीं है। बल्कि सावधानी बरतें और बीमारी होने पर तुरंत इलाज कराएं|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश