फरीदपुर में स्वास्थय कर्मियों द्वारा महिला पत्रकार से अभद्रता किए जाने से क्षुब्ध पत्रकारों ने थाने पहुँच की उचित कार्यवाही की माँग*



Report By:Anita Devi
जनपद बरेली के नगर फरीदपुर  स्थित स्वस्थय केन्द्र में 11, मार्च को एक महिला पत्रकार अपने भाई को दबा दिलाने हेतु प्रातः10, बजे पहुँची थी जहाँ प्रसूता वार्ड में एक प्रसूता दर्द से कराह रही थी जहाँ प्रसूता के परिजनों ने मामले की जानकारी महिला पत्रकार को दी कि पीड़िता के पास कोई डॉक्टर नहीं है जिसकी क़बरेज महिला पत्रकार द्वारा करने पर स्वस्थय कर्मियों ने आग बबुला होकर अभद्रता की बिरोध करने पर स्वस्थय कर्मियों ने हमला कर दिया।साथ ही गुस्साए स्वस्थय कर्मियों ने क़बरेज करने बाले  कैमरा/मोबाइल तथा 4,हजार की नकदी को भी छीन लिया।घटना को लेकर घण्टे भर हँगामा हुआ था।जहाँ घटना देख तमाम लोगों की भीड़ एकत्रित होने के बाद मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस दोनों पक्षों को थाने बुला लाई जहाँ महिला पत्रकार की प्रथम तहरीर पर आरोपी स्वस्थय कर्मियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया।वहीं स्वस्थय कर्मियों ने भी बनावटी मामला तैयार कर कई प्रकार की तहरीर पुलिस को सौँपी थीं।थाना परिषर में मौजूद आईजी रेंज राकेश कुमार सिंह ने पीड़िता की प्रथम तहरीर को संज्ञान में लेते हुए मामले की पड़ताल के निर्देश अधिनिश्तों को दिए थे।इसके बाद पत्रकार स्तुति पाठक ने मामले की जानकारी ट्विटर के माध्यम से डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक को दी थी जिस पर डिप्टी सीएम ने सीएमओ बरेली बलबीर सिंह को तीन दिन में जाँच रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिए थे।युपी वर्किंग जर्नलिस्ट एशोसीयन के अध्यक्ष रविन्द्र सिंह सूर्यवंशी ने स्वस्थय कर्मियों द्वारा महिला पत्रकार के साथ किए गए हमले एवं अभद्रता की कड़ी निंदा करते हुए प्रदेश सरकार एवं आला अधिकारियों को ट्विट कर मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की माँग की थी।बताते चलें कि स्वस्थय कर्मियों के खिलाफ पुलिस द्वारा दर्ज किए गए मुकदमे में धारा 354 को दर्ज नहीं किए जाने से नाराज बरेली जिले के पत्रकारों ने आज रविवार को नगर फरीदपुर में पहुँचकर बीसलपुर रोड स्थित ओम पब्लिक स्कूल में बैठक का आयोजन किया जिसमें सभी पत्रकारों ने अपने अपने विचार व्यक्त कर मार्गदर्शन दिया।वहीं मुख्य अतिथि के रुप में मौजूद अनूप कुमार गुप्ता प्रबंधक ओम पब्लिक स्कूल ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि पत्रकार कोई छोटा या बड़ा नहीं होता पत्रकार समान हैं जो जनता की आवाज को अधिकारियों तक पहुंचाने का कार्य करते हैं और समाज की आवाज को मजबूत रखते हैं। बैठक के मार्गदर्शक रविंद्र सिंह सूर्यवंशी,अध्यक्ष युपी वर्किंग जर्नलिस्ट एशोशियन बरेली,ने समस्त पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि पत्रकार स्वतंत्र है और देश का चौथा स्तंभ कहलाता है तथा समाज में कहीं भी अन्याय होते नहीं दे सकता अगर कहीं कोई अन्याय करता है तो उसके खिलाफ पत्रकार आवाज उठाने का हकदार है और कवरेज कर खबर प्रकाशित भी कर सकता है।इसी क्रम में महिला पत्रकार द्वारा अपना फर्ज निभाने पर स्वास्थय कर्मियों द्वारा जो अभद्रता की गई है उसकी उन्होंने कड़ी निंदा करते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है।वहीं कहा कि जन मानस की आवाज उठाने को पत्रकार का हुआ है जन्म फिर पत्रकार के साथ बदसलुकी क्यों।बैठक के बाद दर्जनों पत्रकार थाना कोतवाली फरीदपुर पहुँचे जहाँ इंस्पेक्टर दयाशंकर से मिले और पीड़ित महिला पत्रकार के मामले में वार्ता की।वार्ता में रविंद्र सिंह ने कहा कि दर्ज की गई रिपोर्ट में जो दर्शाया गया है उस के आधार पर 354 धारा दर्ज नहीं की गई है जिसे दर्ज करना चाहिए था सीघ्र दर्ज करने की माँग की वहीं इंस्पेक्टर दया शंकर ने भी पत्रकार संघठन की माँग को संज्ञान में लेते हुए आश्वासन दिया कि शीघ्र ही 354 धारा को बढ़ाया जाएगा,वहीं इंस्पेक्टर दया शंकर ने कहा कि मामले की कुछ सीसी टीवी,फुटेज मिल चुकी है शेष मंगाई गई है फुटेज के आधार पर निष्पक्ष कार्रवाई की जाएगी।पत्रकारों में मुन्ना सिंह,रियाज अली,ब्रजेश कुमार,सुबोध कुमार शर्मा,वसीम भाई,जुबेर खान,खालिद अंसारी,सूरज गंगवार,अरविंद कुमार,राम अवतार,विजय कुमार,मुनीश कुमार,स्तुति पाठक,अनीता देवी, मोबीन कैफ श्रीपाल,मुनीश कुमार गुप्ता समेत आदि पत्रकार गण मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उज़मा रशीद को अपना बेशकीमती वोट देकर भारी बहुमत से विजई बनाएं

सपा समर्थित उम्मीदवार श्रीमती उजमा आदिल की हार की समीक्षा

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश