पुलिस की लापरवाही, विधवा महिला की निर्मम हत्या l

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए पीलीभीत से शाहिद खान की रिपोर्ट l

पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के गांव उदयपुर खुर्द कला निवासी ममता की कुल्हाड़ी से की ससुर और ससुरालियों ने निर्मम हत्या दरअसल महिला के पति दिनेश 10 माह पहले ही उसके ससुर ने जमीन की खातिर हत्या कर दी थी पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की थी पर गांव के लोगों के समझाने पर कोई कार्यवाही नहीं की थी उसके बाद महिला को ससुराल पक्ष के लोग घर में भी नहीं रख रहे थे महिला काफी समय तक अपने मायके में रही लोगों के समझाने के बाद ससुराल पक्ष के लोग


महिला और बच्चों को घर ले जाए जिस पर ₹1000 महीना खर्च देने की बात कही गई थी आरोप है कि महिला के पति की मौत के 3 माह बाद उसकी बाइक भी बेच दी थी महिला ने इस संबंध में भी कोतवाली पुलिस से शिकायत की थी पर मामले को पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया आरोप है दो मlह से पीड़ित महिला को ससुर खर्च भी नहीं दे रहा था जो गांव के लोगों ने तय कराया था पीड़ित महिला ने इस संबंध में भी कोतवाली शिकायत की थी जिस पर पुलिस रात महिला के घर आई थी और सुबह दोनों पक्ष के लोगों के बीच फैसला करने की बात कही थी तभी रात आरोप है छोटेलाल ससुर कृष्णा देवी और सुखलाल देवर सरिता देवी देवरानी हरद्वारी लाल नंदोई उषा देवी नंद ने मिलकर विधवा महिला की कुल्हाड़ी से हत्या कर दी और आरोपी ससुर कुल्हाड़ी लेकर मौके से फरार हो गया बताया जा रहा है कि महिला पर तीन बार कुल्हाड़ी से हमला किया गया समय रहते अगर पुलिस मामले को गंभीरता से लेकर कार्रवाई करती तो आज महिला की जान बच सकती थी पर पुलिस की लापरवाही के चलते विधवा महिला की भी निर्मम हत्या कर दी गई और तीन मासूम हर्षित उम्र 10 साल सुनैना उम्र 7 साल और रोहित 5 साल तीनों बच्चों के सर से माता-पिता का साया उठ गया l

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*