भरतपुर पुलिस ने मुस्लिम युवकों नासिर और जुनैदकी हत्या के मामले में एक आरोपी रिंकू सैनी को गिरफ्तार किया है.

 Report By: S A Betab

भरतपुर पुलिस ने मुस्लिम युवकों की हत्या के मामले में एक आरोपी रिंकू सैनी को गिरफ्तार किया है. भरतपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक गौरव श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस शुक्रवार सवेरे आधा दर्जन युवकों को हिरासत में लिया था. पूछताछ के बाद रिंकू जिसकी उम्र 32 साल है, निवासी नूंह जिला हरियाणा को गिरफ्तार किया गया है.

गौरव श्रीवास्तव ने बताया कि आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है. एफआईआर में जिन लोगों के नाम हैं, वे बजरंग दल से जुड़े हैं, लेकिन इस अपराध में उनकी भूमिका है या नहीं इसकी अभी जांच की जानी है. उन्होंने कहा कि जुनैद का गोवंश तस्करी का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड रहा है क्योंकि यह बात सामने आई है कि उसके खिलाफ अलग-अलग थानों में पांच मामले दर्ज हैं.मुस्लिम युवकों की हत्या का इल्जाम गौरक्षकों पर:परिवार बोला- पुलिस ने ही दोनों को हमलावरों को सौंपा, मोनू ने पहले भी एक कत्ल किया


बोलेरो में जुनैद और नासिर के कंकाल मिले हैं। गाडी के चेचिस नंबर से पहचान हुई कि यह किसकी है।



हरियाणा में दो मुस्लिम युवकों को जिंदा जलाने के मामले में नया खुलासा हुआ है। परिवार का आरोप है कि पुलिस ने जुनैद और नासिर की बोलेरो को टक्कर मारकर पकड़ा था। इसके बाद अधमरी हालत में उन्हें बजरंग दल के मोनू मानेसर और उनके साथियों को सौंप दिया।

इन्होंने गोतस्करी के शक में दोनों को बोलेरो समेत जिंदा जला दिया। भिवानी के लोहारू गांव के नजदीक बुधवार को इनकी बॉडी मिली। मोनू पर 20 दिन में 2 हत्या और 1 हत्या के प्रयास का आरोप है।

परिवार का दावा है कि घटना के वक्त फिरोजपुर-झिरका की क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (CIA) की टीम मौजूद थी। दोनों को पहले बुरी तरह पीटा गया। इसके बाद ये लोग जुनैद और नासिर को पुलिस स्टेशन ले गए, लेकिन पुलिस ने हालत देखकर हिरासत में लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद बोलेरो समेत जिंदा जलने की खबर आई।

उधर, पुलिस ने परिवार के आरोपों को झूठा बताया है। फिरोजपुर झिरका के CIA इंचार्ज वीरेंद्र सिंह का कहना है कि उनका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है। ना तो उन्होंने किसी आरोपी को पकड़ा और न ही बजरंग दल के लोगों को सौंपा। उनकी गाड़ी, स्टाफ और वह खुद उस दिन थाने में थे। उन्हें नहीं पता कि परिजन ऐसे आरोप क्यों लगा रहे है।

दोनों मृतक राजस्थान के रहने वाले थे

मृतक जुनैद (35) और नासिर (28) दोनों राजस्थान के जिला भरपुर के गांव घाटमीका के रहने वाले थे। ये गांव हरियाणा बॉर्डर के नजदीक है। जुनैद के चचेरे भाई इस्माइल ने बुधवार को गोपालगढ़ थाना (भरतपुर) में दोनों के अपहरण और मारपीट का मामला दर्ज कराया है। भिवानी और राजस्थान के भरतपुर जिला की पुलिस दोनों ही जांच में जुटी हैं। दोनों के कंकाल के सैंपल लिए गए है। DNA जांच कराई जा रही है।

अब पूरे मामले को समझिए... मृतक जुनैद के चचेरे भाई और परिवार की जुबानी

घटना के बाद जली बोलेरो की जांच करती पुलिस की टीम।


भाई की ससुराल से लौट रहे थे, बीच रास्ते में रोक लिया: मृतक जुनैद के चचेरे भाई इस्माइल ने बताया, 'जुनैद और नासिर मंगलवार को भोरूबास सिकरी गांव गए थे। यहां उनके भाई की ससुराल है। रात में वही रुक गए थे। बुधवार सुबह घर आ रहे थे। रास्ते में दोनों को CIA की टीम और बजरंग दल वालों ने रोका। इनका नाम पूछा। इसके बाद दोनों को गाड़ी से खींचकर बाहर निकालने की कोशिश की गई।'

वारिस को भी इन्हीं ने पीटकर मारा: इस्माइल ने बताया कि बजरंग दल वालों की वजह से इलाके में पहले ही दहशत फैली हुई है। इससे पहले नूंह में बजरंग दल वालों की कथित पिटाई से वारिस की मौत हो चुकी है। नासिर-जुनैद ने जैसे ही देखा कि उन्हें ये खींच रहे है, तो उन्होंने अपनी जान बचाने के लिए अपनी गाड़ी बोलेरो को भगा दिया।



बोलेरो को पीछा कर दोनों तरफ से टक्कर मारी गई :परिजनों का कहना है, 'जुनैद-नासिर को बोलेरो में जान बचाकर भागते देख फिरोजपुर-झिरका CIA ने गाड़ी को आगे से टक्कर मारी और पीछे से बजरंग दल वालों ने टक्कर मारी। उन्होंने कहा कि पुलिस इस हत्याकांड में बराबर शरीक है। ग्रामीण इसके सबूत दे रहे है। हमारे पास गवाह है। बिरूका चौतरी के रास्ते में दोनों को गाड़ी में डालकर फिरोजपुर-झिरका थाना में लेकर पहुंचे। जहां पर बजरंग दल वालों ने दोनों को पुलिस को सौंपने की कोशिश की, लेकिन दोनों की हालत इस कदर खराब कर दी थी कि पुलिस ने दोनों को रखने से मना कर दिया।'


गाड़ी के चेचिस नंबर से पता चला: परिवार का कहना है कि पुलिस के हिरासत में लेने से इनकार करने के बाद बजरंग दल के नेता मोनू मानेसर, रिंकू सैनी के अलावा 7 से 8 अन्य लोग हमारे दोनों भाईयों को भिवानी ले गए। वहां उन्हें पिछली सीट पर बैठाकर जिंदा जलाकर मार डाला। हमें सोशल मीडिया पर चली खबर के बाद दोनों की मौत का पता चला। गाड़ी के इंजन और चेचिस नंबर से पता चला कि ये हमारी गाड़ी है। मरने वाले हमारे दोनों भाई हैं।


जानिए कौन है आरोपी मोनू मानेसर; 20 दिन में 2 हत्या व 1 हत्या के प्रयास का आरोप



मोहित उर्फ मोनू मानेसर, जो हरियाणा में बजरंग दल में गौरक्षा प्रमुख के पद पर है।


आरोपी मोहित उर्फ मोनू मानेसर अंडरग्राउंड हो गया है। यह हरियाणा में गुरुग्राम जिले के मानेसर का रहने वाला है। बजरंग दल में गौरक्षा प्रमुख है। उसने वीडियो मैसेज में कहा कि जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे निराधार हैं। यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मोनू ने वॉट्सऐप स्टेटस में भी लिखा है कि इस घटना से उनका कोई संबंध नहीं है। उसे जबरन फंसाया जा रहा है। सोनू का कहना है कि घटना के वक्त वह एक होटल में था।


20 दिन में 2 हत्या व 1 हत्या के प्रयास का आरोप


28 जनवरी 2023 को भिवाड़ी-तावडू रोड पर सेंट्रो कार सवार वारिस की संदिग्ध मौत हुई थी। मौत से पहले का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें वारिस को कुछ कथित गौरक्षक धमकी भरे लहजे में नाम और उसके गांव का पता पूछ रहे थे। बाद में छाती में लगी चोट के कारण वारिस की मौत हो गई थी। वारिस के परिजनों ने मोनू मानेसर और उसके साथियों पर हत्या का आरोप लगाया था।


7 फरवरी 2023 को गुरुग्राम के पटौदी कस्बा में दो पक्षों में खूब हंगामा हुआ था। एक समुदाय की लड़की ने दूसरे समुदाय के लड़के से शादी कर ली थी। दोनों पक्षों में काफी तनाव हो गया था। तनाव के बीच ही एक पक्ष के समर्थन में बजरंग दल के गौरक्षा प्रमुख मोनू मानेसर भी पहुंचा था। जिसके बाद झगड़ा बढ़ा और दोनों तरफ से फायरिंग हुई। इसमें मोहिन नाम का एक युवक गोली लगने से घायल हुआ था।


हरियाणा के भिवानी में राजस्थान के 2 मुस्लिम युवकों जुनैद और नासिर को उनकी ही बोलेरो गाड़ी में जिंदा जला दिया गया। इस मामले में आरोप लग रहे हैं कि मोनू मानेसर और उसके साथियों ने उन्हें जिंदा जलाया। हालांकि मोनू मानेसर ने इस मामले में सफाई दी कि वह इसमें शामिल नहीं है।


विरोध के बाद सुपुर्दे खाक किए गए जुनैद-नासिर


जिंदा जले नासिर-जुनैद को लेकर परिवार दिनभर अंतिम संस्कार से इनकार करता रहा। हालांकि शाम 5 बजे दोनों मृतकों जुनैद और नासिर को सुपुर्दे खाक कर दिया है। इस मामले में राजस्थान पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है, लेकिन इस बारे में पुलिस ने कोई खुलासा नहीं किया है।


इससे पहले राजस्थान के भरतपुर में जुनैद और नासिर की मौत को लेकर समाज की पंचायत हुई। इसमें भरतपुर के कई गांवों के लोगों के साथ राजस्थान सरकार में राज्यमंत्री जाहिदा खान भी पहुंची। यहां मंत्री दोनों के परिवार को 20-20 लाख देने की घोषणा की।

शुक्रवार शाम नमाज के बाद जुनैद और नासिर को गांव के ही कब्रिस्तान में सुपुर्दे खाक किया गया।



 पुलिस ने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि क्या दोनों युवकों को बुरी तरह पीटा गया और उनकी मौत हो गई या उन्हें वाहन में जिंदा जला दिया गया.हरियाणा के भिवानी में 2 मुस्लिम युवकों की जिंदा जलाकर हत्या किए जाने के मामले में कांग्रेस हरियाणा सरकार पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला व इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्वीट कर सरकार को कटघरे में खड़ा किया।


हरियाणा सरकार पर ओवैसी का निशाना

इस बीच ​​​​​ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) सुप्रीमो और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जुनैद और नासिर की हत्या को लेकर हरियाणा की BJP सरकार पर निशाना साधा। ओवैशी ने कहा कि हरियाणा में गौ-रक्षकों के नाम पर चल रहे एक संगठित गिरोह ने जुनैद और नासिर की हत्या की है। इस अमानवीय हत्याकांड की जितनी निंदा की जाए, कम है। इस घटना में शामिल मोनू मानेसर और उसके साथियों को BJP और RSS का समर्थन प्राप्त है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) सुप्रीमो और हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी।

ओवैसी ने कहा कि मोनू मानेसर को हरियाणा में मनोहर लाल की अगुवाई वाली BJP सरकार संरक्षण देती है और इस नृशंस हत्याकांड के लिए हरियाणा सरकार ही जिम्मेदार है।

PM से चुप्पी तोड़ने की अपील

ओवैसी ने कहा कि BJP जिन कट्‌टरवादी लोगों को संरक्षण दे रही है, वो आने वाले समय में उसी के खिलाफ हो जाएंगे। इसलिए केंद्र और हरियाणा की BJP सरकार को ऐसे लोगों का न तो बचाव करना चाहिए और न ही उन्हें संरक्षण देना चाहिए। ओवैसी ने कहा कि क्या प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री इस बर्बर हत्याकांड पर अपनी चुप्पी तोड़ेंगे?

हरियाणा को अब ‘नफरत की फैक्ट्री’ बना रहे: सुरजेवाला

वहीं कर्नाटक कांग्रेस के प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हरियाणा को अब ‘नफरत की फैक्ट्री’ बना रहे हैं। दो भाइयों का अपहरण कर बजरंग दल के लोगों द्वारा जिंदा जलाने की दिल दहलाने वाली दुर्दांत व दर्दनाक घटना ने भारत की आत्मा को छलनी कर दिया है। साथ ही लिखा कि मोनू मानेसर पर पहले भी हिंसा के केस हैं। साफ है कि ये सरकार के संरक्षण में हो रहा है।


हरियाणा के दिग्गज कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला का ट्वीट।



इमरान बोले-लड़ेंगे इंसाफ की लड़ाई

वहीं दूसरी तरफ तरफ कांग्रेस के राज्यसभा सांसद इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्वीट कर लिखा कि हरियाणा के भिवानी में दो युवकों जुनैद और नासिर की गौ आतंकियों द्वारा जिंदा जला देने की घटना पर हरियाणा पुलिस की चुप्पी शर्मनाक है। राजस्थान निवासी इन दोनों युवकों के पीड़ित परिवार से संपर्क करके इंसाफ की लड़ाई में पूरी मदद करूंगा।


सांसद इमरान प्रतापगढ़ी का ट्वीट।


भिवानी में मिली थी दोनों की डेड बॉडी

दरअसल, जुनैद (35) और नासिर (28) दोनों हरियाणा बॉर्डर के साथ लगते राजस्थान के जिला भरपुर के गांव घाटमीका के रहने वाले थे। आरोप है कि दोनों को बुधवार की सुबह किडनैप कर लिया गया था। भरतपुर जिले में अपहरण और मारपीट का केस भी दर्ज है।


गुरुवार को नासिर और जुनैद दोनों की डेड बॉडी हरियाणा में भिवानी के कस्बा लोहारू में एक बोलेरो गाड़ी में कंकाल के रूप में मिली थी। दोनों के शव और गाड़ी पूरी तरह जली हुई थी। परिवार ने दोनों की हत्या का आरोप बजरंग दल और हरियाणा पुलिस की फिरोजपुर-झिरका सीआईए पर लगाया था। हालांकि बजरंग दल और पुलिस दोनों ही परिवार के आरोपों को नकार चुके है।


हरियाणा में दो मुस्लिम युवकों को जिंदा जलाने के मामले में नया खुलासा हुआ है। परिवार का आरोप है के पुलिस ने जुनैद और नासिर की बोलेरो को टक्कर मारकर पकड़ा था। इसके बाद अधमरी हालत में उन्हें बजरंग दल के लोगों को सौंप दिया। इन्होंने गोतस्करी के शक में दोनों को बोलेरो समेत जिंदा जला दिया। भिवानी के लोहारू गांव के नजदीक बुधवार को इनकी बॉडी मिली ।


कौन है मोनू मानेसर, जिसका नाम जुनैद-नासिर हत्या में आया:इतना मजबूत नेटवर्क, पुलिस से पहले गौतस्करी की खबर, 8 साल में फर्श से अर्श तक पहुंचा

राजस्थान के 2 मुस्लिम युवक जुनैद-नासिर को बोलेरो गाड़ी में जिंदा जलाने के केस में हरियाणा के मोनू मानेसर का नाम फिर चर्चा में है। हालांकि उसने सफाई दी कि इस केस से कुछ लेना-देना नहीं लेकिन जुनैद-नासिर का परिवार उसी पर आरोप लगा रहा है। ऐसे में सब यह जानना चाहते हैं कि मोनू मानेसर कौन है, आरोपी मोहित उर्फ मोनू मानेसर अंडरग्राउंड हो गया है। यह हरियाणा में गुरुग्राम जिले के मानेसर का रहने वाला है। बजरंग दल में गौरक्षा प्रमुख है। उसने वीडियो मैसेज में कहा कि जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वे निराधार हैं। यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मोनू ने वॉट्सऐप स्टेटस में भी लिखा है कि इस घटना से उनका कोई संबंध नहीं है। उसे जबरन फंसाया जा रहा है। सोनू का कहना है कि घटना के वक्त वह एक होटल में था।

20 दिन में 2 हत्या व 1 हत्या के प्रयास का आरोप

  • 28 जनवरी 2023 को भिवाड़ी-तावडू रोड पर सेंट्रो कार सवार वारिस की संदिग्ध मौत हुई थी। मौत से पहले का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें वारिस को कुछ कथित गौरक्षक धमकी भरे लहजे में नाम और उसके गांव का पता पूछ रहे थे। बाद में छाती में लगी चोट के कारण वारिस की मौत हो गई थी। वारिस के परिजनों ने मोनू मानेसर और उसके साथियों पर हत्या का आरोप लगाया था।
  • 7 फरवरी 2023 को गुरुग्राम के पटौदी कस्बा में दो पक्षों में खूब हंगामा हुआ था। एक समुदाय की लड़की ने दूसरे समुदाय के लड़के से शादी कर ली थी। दोनों पक्षों में काफी तनाव हो गया था। तनाव के बीच ही एक पक्ष के समर्थन में बजरंग दल के गौरक्षा प्रमुख मोनू मानेसर भी पहुंचा था। जिसके बाद झगड़ा बढ़ा और दोनों तरफ से फायरिंग हुई। इसमें मोहिन नाम का एक युवक गोली लगने से घायल हुआ था।
  • हरियाणा के भिवानी में राजस्थान के 2 मुस्लिम युवकों जुनैद और नासिर को उनकी ही बोलेरो गाड़ी में जिंदा जला दिया गया। इस मामले में आरोप लग रहे हैं कि मोनू मानेसर और उसके साथियों ने उन्हें जिंदा जलाया। हालांकि मोनू मानेसर ने इस मामले में सफाई दी कि वह इसमें शामिल नहीं है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र