देशप्रेमी और कर्मठ लोगों को भीम योद्धा अवार्ड से किया गया सम्मानित।

नई दिल्ली (अनवार अहमद नूर) भीम ब्रिगेड की दसवीं वर्षगांठ पर देशप्रेमी और कर्मठ लोगों को भीम योद्धा अवार्ड से सम्मानित किया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव जोली खोसला ने बताया कि भीम ब्रिगेड का गठन शेरे जम्मू कश्मीर प्रो भीम सिंह द्वारा जंतर मंतर से किया गया।


जनता को न्याय अधिकार दिलाने के लिए कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक निशान एक संविधान की आवाज़ प्रोफेसर भीम सिंह जी उठाते आए। प्रो भीम सिंह की सोच समता,समानता, एकता, शांति और उन्नति का पैग़ाम देते रहें हैं। भीम ब्रिगेड की दसवीं वर्षगांठ पर पूर्व न्यायाधीश ओ पी सपरा द्वारा सम्मानित किया गया। मुजफ्फरनगर से आए विजय कुमार जो पिछले 27 वर्षों से प्रशासन के ख़िलाफ़ धरना दे रहे हैं ने समारोह को सम्बोधित किया। नन्ही बच्ची कोली ने रंग दे बसंती पर खूबसूरत डांस किया। हितेश शर्मा ने प्रोफेसर भीम सिंह के जीवन की परफारमेंस को स्टेज पर प्रदर्शित किया। लोकेश शर्मा और सुरेंद्र , वैभवी, किरण ठाकुर,संगीतकार वर्माजी ने भी राष्ट्रभक्ति के परफॉर्मेंस करके सभी का मन मोह लिया। यहां सभी ने प्रो भीम सिंह को तहे दिल से नमन किया। कार्यक्रम में आई कश्मीरी पंडित नैंसी कौल ने भी प्रो भीम सिंह की उपलब्धियां बताईं। भीम ब्रिगेड ट्रस्ट के फाउंडर श्री सुशील खन्ना ने भी सभी का स्वागत किया व उपस्थित डीके मेंदीरत्ता, दक्ष गोयल,रोशनी रहेजा, रिया कोली, रूबी, मंजू, शिक्षा अभियान के अध्यक्ष संदीप, मौलाना जावेद सिद्धकी, हुकम सिंह, अंतर्राष्ट्रीय मोटरसाइकिल सवार एंथनी डिसूजा, अर्चना झा ,उत्तर भारत की प्रथम महिला ऑटो चालक सुनीता चौधरी ,बहन सविता शर्मा, नवीन, सुदामा, देशवाल, अखिलेश,सूरज भट्ट, के के राघव, देवेंद्र आर्य, मोनिश भगत,प्रेम सिंह, चेनपुरिया, अनवार अहमद नूर आदि ने अपनी भागीदारी निभाई।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*