खिरिया बाग में किसानों के समर्थन पहुंचे अखिल भारतीय किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष भारत सिंह

 खिरिया बाग, 18 नवंबर 2022. खिरिया बाग में चल रहे धरने के समर्थन में 37 वें दिन संयुक्त किसान मोर्चा और अखिल भारतीय किसान सभा, उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष भारत सिंह, वाराणसी से बल्लभ पाण्डेय, गांव के लोग से रामजी यादव, अपर्णा श्रीवास्तव, मनीष शर्मा, जय किसान आंदोलन के रामजन्म यादव आए.

आगरा से चलकर आए अखिल भारतीय किसान सभा, उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष भारत सिंह ने कहा कि ये सरकार भूमि अधिग्रहण न कर दलालों के माध्यम से करार करवाकर जमीन हड़पति है. सरकार ने गांव पर हमला किया है, जिंदगी पर हमला किया है. जनता में धर्म के नाम पर अंध्विश्वास फैलाकर हमारी जीवन पर हमला किया जा रहा. किसान आंदोलन में आंदोलनकारियों को आतंकवादी तक कहा गया. आज रेल की पटरियां नीलाम हो रहीं. पटरी हमारी रेल मुनाफाखोर कंपनियों का. ठीक यही हाल एयरपोर्ट का हमारी जमीन पर रन वे और हवाई जहाज कंपनियों के. बिजली बिल 2022 के नाम पर एक और हमला सरकार कंपनियों के साथ कर रही. 

भारत सिंह ने आगामी 26 नवम्बर को राजभवन घेराव में खिरिया बाग की जनता को आमंत्रित करते हुए कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा आपके मुद्दे को प्रमुख रूप से रखेगा.

गांव के लोग से अपर्णा श्रीवास्तव ने कहा कि महिलाओं की इस आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका है. आपकी हिम्मत को सलाम जो आप पिछले 37 दिनों से अपनी जमीन बचाने के लिए संघर्ष कर रही हैं. 

गांव के लोग के रामजी यादव ने कहा कि आपके आंदोलन ने साबित कर दिया है कि आप बिकाऊ नहीं हैं. आपकी दिन ब दिन बढ़ती ताकत ने इस आंदोलन को राष्ट्रीय बहस में ला दिया है. यह सिर्फ गांव, जिंदगी ही नहीं भविष्य बचाने की लड़ाई है.

वाराणसी से आए बल्लभ पाण्डेय ने कहा कि भूमि अधिग्रहण कानून साफ कहता है कि अगर आप सहमत नहीं हैं तो आपकी जमीन नहीं ली जा सकती है. यहां जो सर्वे की बात कही जा रही वो कानून को ताक पर रखकर किया गया है. सर्वे के नाम पर कोई सामाजिक आकलन नहीं किया गया. 

जय किसान आंदोलन के रामजन्म यादव ने कहा कि आप अपने मुद्दे पर अड़े रहेंगे तो पूरा देश आपके आंदोलन के साथ हैं. यह सिर्फ किसान-मजदूरों का ही नहीं समाज के सभी वर्गों का आंदोलन है. 

मनीष शर्मा ने कहा कि इस सरकार को बार-बार जनता के आंदोलन के सामने घुटने टेकने पड़े हैं. आंदोलनों के दम पर हमने मुल्क को आज़ाद कराया आज अपनी जमीनों को आज़ाद कराने का संघर्ष कर रहे हैं. ये कौन सा विकास है जो रोजगार छीनता है किसानों से जमीन छीनता है वो हमें नहीं चाहिए. हमको अपने बल पर ये लड़ाई लड़नी है.

मोर्चा के संयोजक रामनयन यादव ने बताया कि किसान नेता राजीव यादव, विनोद सिंह, राजेन्द्र यादव, प्रवेश निषाद, किस्मती, राम कुमार यादव, दुखहरन राम ने संबोधित किया.


रामनयन यादव- 9935503059

राजीव यादव- 9452800752

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया