बड़े आंदोलन के लिए कर्मचारी हर कुर्बानी को हुआ तैयार,चुनाव बाद होगा आंदोलन,सहारनपुर बैठक* *सम्पन्न*

 उत्तर प्रदेश मिनिस्ट्रीयल कलैक्ट्रेट कर्मचारी संघ के कर्मचारियों मांगो को लेकर हिंदुस्तानी कर्मचारियों को जगाने जिम्मा लिया हैं। इसी को लेकर सहारनपुर की बैठक को अहम माना जा रहा था। जिसके लिए प्रांतीय पदाधिकारी जनवरी में होने वाले दिल्ली धरनें सें पहले सभी रूपरेखा तैयार करेंगे। चुनाव बाद बड़े आंदोलन को तैयार रहने के लिए आह्वान किया ।


 विगत दिनों सें कर्मचारी मांगों को लेकर सहारनपुर जनपद की बैठक के फैसलें को आंख गड़ाए बैठें थें।नईं कर्मचारी लोबी मुख्य रूप से पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर अपने वरिष्ठ कर्मचारियों से आश बांध कर चल रहें हैं। 

           कलैक्ट्रेट मुखिया सुशील कुमार त्रिपाठी व महामंत्री अरविंद वर्मा नें वर्ष 2019 उच्च ग्रेड वेतनमान का शासनादेश अभी तक जारी न करने पर सरकार की नीतियों पर प्रेस वार्ता के दौरान रोष जताया तथा सरकार की नीतियों व कथनी- करनी पर प्रश्नचिन्ह लगाया।

    श्री त्रिपाठी नें प्रदेश के कर्मियों को संबोधित करते हुए स्पष्ट किया कि हिदुस्तानी कर्मचारी अपने हक को लेना जानता है। जनवरी में वें इसका आगाज़ दिल्ली सम्मेलन में कराएगें।वहीं महामंत्री अरविंद वर्मा नें संघ को कर्मचारियों की एकता पर निर्भर की ओर इशारा किया,साथ ही फर्जी संगठन तैयार करने वाले कर्मचारियों को माफी पर भी बल दिया।फिरोजाबाद से अजीत उपाध्याय,मेंरठ से मुकेश कुमार, अनिल मौर्य,राजेश वर्मा, आजमगढ़ से संतोष सिंह,आगरा से नरेन्द्र भारद्वाज,हाथरस से सचिन उपाध्याय,पीलीभीत से विमल सक्सेना,बुलंदशहर सें कुशलपाल सिंह,हमीरपुर सें जगदीशपुर निगम,मुजफ्फरनगर से नरेन्द्र सिंह,सहारनपुर सें नीरू सिंह,संजय शर्मा,शाहजहांपुर से विनाका मौर्य,प्रयागराज सें विनोद सिंह आदि ने मुख्य रूप से कलैक्ट्रेट पदाधिकारियों नें अगली रणनीति के लिए अपने ओजस्वी विचार व्यक्त किए। बैठक के कुशल संचालन के लिए प्रांतीय महामंत्री अरविंद वर्मा की सरहाना की गईं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत

पीलीभीत सदर तहसील में दस्तावेज लेखक की गैर मौजूदगी में उसका सामान फेंका, इस गुंडागर्दी के खिलाफ न्याय के लिए कातिब थाना कोतवाली पहुंचा*