कोरोना से जान गंवाने वाले 28 कोरोना योद्धाओं के परिवार को एक-एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि देगी केजरीवाल सरकार

 नई दिल्ली, 27 सितंबर, 2022 दिल्ली सरकार कोरोना महामारी के दौरान कोरोना होने से अपनी जान गंवाने वाले 28 कोरोना योद्धा के परिवारों को 1-1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देगी। इससे पहले दिल्ली सरकार द्वारा 31 कोरोना योद्धाओं की 1-1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि दी जा चुकी है| मंगलवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अध्यक्षता में ग्रुप ऑफ़ मिनिस्टर्स की बैठक में इसे मंजूरी दी गई। बैठक में परिवहन व राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत भी शामिल रहे| इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के कोरोना योद्धाओं ने महामारी के दौरान अपनी जान की परवाह किए बिना मानवता और समाज की रक्षा करने का काम किया और अपने जीवन का बलिदान दिया| उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार इनके जज़्बे को सलाम करती है। बेशक इस राशि से दिवंगत कोरोना योद्धाओं के परिवार के नुकसान की पूर्ति तो नहीं की जा सकती लेकिन उनके परिवार को एक सम्मानजनक जीवन जीने का जरिया ज़रूर मिलेगा।




इस मौके पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि कोरोना के दौरान अपनी जान की परवाह किए बिना लाखो जान बचाने वाले 28 कोरोना वारियर्स के परिवारों  के लिए आज दिल्ली सरकार ने एक-एक करोड़ रुपए की सहायता-सम्मान राशि स्वीकृत की है| हम कोरोना योद्धाओं के परिवारो की हर जरूरत में उनके साथ खड़े हैं।


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि कोरोना महामारी पूरी मानवता के लिए एक भयानक संकट थी| इस संकट ने सभी के मन में डर भय पैदा कर दिया था लेकिन हमारे कोरोना योद्धाओं ने अपनी जान को जोखिम में डालते हुए दिल्ली को इस संकट से उबारने का काम किया| डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, सहायक स्टाफ, सफाई-कर्मचारियों सहित हजारों कोरोना योद्धाओं ने दिन-रात काम करते हुए इस महामारी से लड़ने का काम किया| और कई कोरोना योद्धा लोगों की सेवा करते हुए शहीद हो गए| 


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की सरकार हमेशा कोरोना योद्धाओं के परिवारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। दिल्ली सरकार की ये योजना कोरोना योद्धाओं के परिवार को ये आत्मविश्वास देती है कि सरकार और समाज हमेशा उनके साथ है।


*इन दिवंगत कोरोना योद्धाओं के परिवारों को मिलेगी एक -एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि*


*1. श्री गणेश शाह, ऑपरेशन थिएटर अस्सिस्टेंट, जीटीबी अस्पताल*


जीटीबी अस्पताल में बतौर ओ.टी. अस्सिस्टेंट कार्यरत श्री गणेश साह एक समर्पित कर्मचारी थे, जिन्होंने महामारी के चरम पर होने पर भी कोरोना संक्रमित मरीजों रोगियों की सेवा की। वह एनेस्थिसियोलॉजी विभाग में गंभीर कोरोना रोगियों के साथ 'रेड ज़ोन' क्षेत्र में ड्यूटी करते थे। सर्जरी के दौरान भी उनकी ड्यूटी होती थी। रेड जोन में मरीजों की सेवा करते हुए वह स्वयं संक्रमित हो गए और 6 मई, 2021 को संक्रमण से उसकी मौत हो गई। केजरीवाल सरकार ने कोरोना गणेश शाह जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*2. प्रेम बाबू, ऑपरेशन थिएटर अस्सिस्टेंट, जीटीबी अस्पताल*


 प्रेम बाबू जीटीबी अस्पताल में एक समर्पित ओटी स्टाफ थे, जो अस्पताल के 'रेड जोन' में महामारी के दौरान गंभीर कोरोना रोगियों की सेवा कर रहे थे। उनके काम में आईसीयू में विभिन्न आवश्यक उपकरणों को लाना ले जाना शामिल था । गंभीर रूप से बीमार कोरोना रोगियों की सेवा करते हुए, वह कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए और 12 दिनों तक जीवन की कठिन लड़ाई लड़ने के बाद उनकी मृत्यु हो गई। केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर प्रेम बाबू जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*3. श्रीमती सतिंदर हंस, सीनियर नर्सिंग ऑफिसर, दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल* 


दिल्ली के सभी अस्पतालों में नर्सों ने महामारी के दौरान कोरोना रोगियों के जीवन को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनमें से एक दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में सीनियर नर्सिंग ऑफिसर सतिंदर हंस भी थी| जिनका अस्पताल में ड्यूटी करते हुए संक्रमित होने के बाद निधन हो गया। देहांत होने से 1 हफ्ते पहले तक सतिंदर जी हॉस्पिटल के ट्रामा ब्लाक में मरीजों की सेवा कर रही थी| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर सतिंदर हंस जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*4.डॉ. भूपिंदर गुप्ता, प्रोफेसर ऑफ़ मेडिसिन, उत्तरी डीएमसी मेडिकल कॉलेज व हिन्दूराव अस्पताल* 


कोरोना के दौरान हिंदू राव अस्पताल को कोरोना अस्पताल घोषित किया गया| कोरोना के दौरान डॉ भूपिंदर गुप्ता अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार कोरोना रोगियों की लगातार सेवा कर रहे थे। और रोगियों की देखभाल के दौरान वायरस से संक्रमित हो गए तथा उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर डॉ. भूपिंदर गुप्ता जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*5. डॉ. नेजम आलम, जीडीएमओ -II, दक्षिणी डीएमसी*


गंभीर रूप से बीमार कोरोना रोगियों की सेवा के लिए, डॉ नेज़म आलम को एम एंड सीडब्ल्यू केंद्र, रंगपुरी पहाड़ी (महिपालपुर) में एक मोबाइल वैन और एमयू 12 के सभी कर्मचारियों के साथ कोरोना से संबंधित कार्यों की निगरानी के लिए नियुक्त किया गया था। उन्हें कन्टेनमेंट ज़ोन इज़राइली कैंप में ड्यूटी के दौरान संक्रमण हुआ और कुछ दिनों बाद देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर डॉ. नेज़म आलम जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*6.डॉ. लक्ष्मीकांत परिदा, जीडीएमओ -II, हिन्दूराव अस्पताल, नार्थ डीएमसी* 


कोरोना के दौरान डॉ. लक्ष्मीकांत परिदा को हिंदू राव अस्पताल में एचओडी ब्लड बैंक के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया और उन्होंने कैजुअलिटी में भी नोडल अधिकारी की ड्यूटी निभाई। रोगियों की मदद करते हुए वे स्वयं भी संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर डॉ. लक्ष्मीकांत परिदा जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*7. डॉ. रमेश कुमार हिमथानी,एचओडी, डिपार्टमेंट ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर*


डॉ. रमेश कुमार हिमथानी, बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, तुगलकाबाद में गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के एचओडी के रूप में कार्यरत थे। जब महामारी अपने चरम पर थी तब वह अस्पताल के आईसीयू और कोविड वार्ड में निस्वार्थ भाव से मरीजों की सेवा कर रहे थे। वह ड्यूटी पर रहते हुए वायरस से संक्रमित हो गए और 5 मई, 2021 को उनकी मृत्यु हो गई। केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर डॉ. डॉ. रमेश कुमार हिमथानी जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*8. जेस्सी मैथ्यू, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट, इमरजेंसी लैब, लोक नायक अस्पताल* 


कोरोना महामारी के दौरान अस्पतालों के लैब में कर्मचारियों पर भारी दबाव में थे। उन्होंने समय पर कोरोना रिपोर्ट देने के लिए अस्पतालों के उच्च जोखिम वाले क्षेत्र में दिन रात काम किया। इन्ही में से एक लोक नायक अस्पताल के मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट जेसी मैथ्यू थी। उन्हें कोरोना रोगियों के सेंपल प्रोसेस करने के लिए आपातकालीन लैब में तैनात किया गया था। वह अस्पताल की प्रयोगशाला में अपनी ड्यूटी करते हुए वायरस से संक्रमित हो गई और 27 अप्रैल, 2021 को उसकी मृत्यु हो गई। केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर जेस्सी मैथ्यू जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*9.श्री सतनाम सिंह, सिविल डिफेन्स वालंटियर, डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस, शहादरा* 


श्री सतनाम सिंह को जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय, शाहदरा के अधिकार क्षेत्र में आने वाले क्षेत्रों में कोरोना प्रोटोकॉल के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए कोरोना ड्यूटी पर तैनात किया गया था। ड्यूटी के दौरान उन्हें कोरोना संक्रमण हो गया और कुछ दिनों बाद उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर सतनाम सिंह जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*10. श्री मदन लाल, सिविल डिफेन्स वालंटियर, साउथ डिस्ट्रिक्ट*


श्री मदन लाल जी बतौर सिविल डिफेन्स वालंटियर, बेगमपुर डिस्पेंसरी में वैक्सीनेशन सेंटर पर कार्यरत थे| वहां वह लोगों के लिए कोरोना प्रोटोकॉल और टीकाकरण के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करते हुए, वायरस से संक्रमित हो गया। और एक सप्ताह बाद उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर मदन लाल जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*11. श्रीमती रीना , सिविल डिफेन्स वालंटियर, नार्थ-ईस्ट डिस्ट्रिक्ट*


महामारी के दौरान केजरीवाल सरकार ने राजधानी भर में विभिन्न खाद्य वितरण अभियान चलाए थे। श्रीमती रीना को निगम प्रतिभा विद्यालय, अरविंद विहार और ईडीएमसी प्राथमिक विद्यालय, गौतम विहार-द्वितीय में खाद्य वितरण केंद्रों में नियुक्त किया गया था। महामारी के दौरान लोगों को भोजन के लिए उनकी दैनिक आवश्यकता को पूरा करने में मदद करते हुए वे स्वयं भी कोरोना से संक्रमित हो गई और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्रीमती रीना जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*12. श्री राजेन्द्र पाल, सेनिटेशन वर्कर, हिन्दूराव अस्पताल* 


हिंदू राव अस्पताल को महामारी के दौरान  कोरोना अस्पताल घोषित किया गया| यहां निःस्वार्थ भाव से मरीजों की सेवा करने वाले कई कोरोना योद्धाओं में एक सफाई कर्मचारी श्री राजेंद्र पाल भी थे, जो चिकित्सा अपशिष्ट को संभालते थे और अस्पताल को साफ रखते थे। ड्यूटी पर रहते हुए वह कोरोना से संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री राजेन्द्र पाल जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*13. श्रीमती ममता रानी, पीआरटी, निगम स्कूल, सुल्तानपुरी* 


स्कूली बच्चों की शिक्षा सुनिश्चित करने के साथ-साथ,  शिक्षकों ने महामारी के दौरान जरूरतमंदों के बीच भोजन वितरण सुनिश्चित करने का काम भी किया। उनमें से एक श्रीमती ममता रानी भी थीं। जो कोरोना ड्यूटी के दौरान संक्रमित हो गई और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्रीमती ममता रानी जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*14. श्री कृष्ण कांत कपिल, टीजीटी गणित* 


श्री कृष्णकांत कपिल जी को कोरोना के दौरान जरूरतमंद परिवारों को सूखा राशन वितरण के लिए नियुक्त किया गया था। उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी परिवार को राशन की कमी के कारण नुकसान न उठाना पड़े। उनके प्रयासों ने महामारी के दौरान कई परिवारों को बचाया लेकिन उन्होंने कोरोना में संक्रमण से अपनी जान गंवा दी। केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री कृष्ण कांत कपिल जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



 *15. श्री नितिन चेरियन, हॉस्पिटल एग्जीक्यूटिव, दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टिट्यूट*


दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टिट्यूट में बतौर अस्सिस्टेंट तैनात श्री नितिन चेरियन, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान वैक्सीनेशन साईट पर क्लिनिकल असिस्टेंस देने का कार्य कर रहे थे| ड्यूटी के दौरान नितिन चेरियन स्वयं कोरोना संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर नितिन चेरियन जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    



*16. श्री रविन्द्र कुमार भट्ट, सीनियर मैनेज़र एकाउंट्स, श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट-मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल*


श्री बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टिट्यूट-मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में बतौर सीनियर मैनेज़र एकाउंट्स कार्यरत श्री रविन्द्र कुमार भट्ट कोरोना के दौरान अस्पताल में पब्लिक डीलिंग का काम कर रहे थे और कोरोना संक्रमितों के अटेंडेंट के साथ सीधे संपर्क में थे| इसी दौरान ड्यूटी करते हुए वे स्वयं भी संक्रमित हो गए और कुछ समय बाद संक्रमण के कारण उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर रविन्द्र भट्ट जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*17.श्री हेमंत कुमार, टी.जी.टी कंप्यूटर साइंस *


शिक्षा विभाग में बतौर टीजीटी, कंप्यूटर साइंस के पद पर तैनात श्री हेमंत कुमार कोरोना के दोनों लहर के दौरान उत्तरी दिल्ली में कन्टेनमेंट ज़ोन में ऑन ड्यूटी रहकर लोगों की मदद कर रहे थे| कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लोगों की मदद करते हुए वे स्वयं कोरोना संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री हेमंत कुमार जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*18. डॉ. अमित गुप्ता, सीनियर रेजिडेंट, सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल*


डॉक्टर अमित गुप्ता, सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में सीनियर रेजिडेंट के पद पर कार्यरत थे| कोरोना की दूसरी लहर में इस अस्पताल को कोविड अस्पताल घोषित किया गया| यहां डॉ.अमित कुमार ने कोरोना संक्रमितों के बीच जाकर उनका इलाज किया| इसी दौरान कोविद ड्यूटी करते हुए वे स्वयं संक्रमित हो गए जिस कारण उनका देहांत हो गया|  केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर डॉ. अमित गुप्ता जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*19.श्री रौशन लाल, टीजीटी संस्कृत*


श्री रौशन लाल की ने कोरोना के दूसरे लहर के दौरान नरेला में विभिन्न कन्टेनमेंट ज़ोन में कोविड ड्यूटी की| मई 2021 में पहले हफ्ते में जब कोरोना अपने चरम पर था तब वे ड्यूटी के दौरान खुद भी संक्रमित हो गए और बाद में तबियत बिगड़ने से उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री रौशन लाल जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*20. श्री मुकेश पाल, टीजीटी,गणित*


शिक्षा विभाग में टीजीटी, गणित के पद पर कार्यरत श्री मुकेश पाल जी को कोरोना दूसरी लहर के दौरान कोविड ड्यूटी पर तैनात किया गया| लोगों की सेवा और मान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दिखाते हुए श्री मुकेश पाल जी ने 2 महीने से ज्यादा समय तक बिना कोई छुट्टी लिए काम किया| इस दौरान वे स्वयं संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर मुकेश पाल जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*21. श्री रविन्द्र सिंह, दिल्ली होम गार्ड*


श्री रविन्द्र सिंह, डीटीसी बस डिपो सरोजनी नगर में बतौर बस मार्शल तैनात थे| कोरोना में लॉकडाउन के दौरान उन्हें स्पेशल हायर बसों में सुरक्षा के लिए तथा कोरोना संबंधी नियमों के पालन के लिए ड्यूटी पर तैनात किया गया| ड्यूटी के दौरान वो स्वयं भी संक्रमित हो गए और इलाज के दौरान अस्पताल में उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर रविन्द्र सिंह जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|    


*22. श्री लाल सिंह, ड्राईवर, डीटीसी*


राजघाट डिपो में ड्राईवर के पद पर कार्यरत श्री लाल सिंह जी ने कोरोना के दौरान अस्पतालों के लिए तैनात स्पेशल बसों, डीसी/एसडीएम कार्यालय में कोविड ड्यूटी के लिए तैनात की गई बसों, क्वारंटीन फैसिलिटीज़ में  लगाई गई बसों सहित कोटा से विद्यार्थियों को दिल्ली लाने सहित कई अन्य कोरोना ड्यूटी में काम किया| अपने काम के दौरान वे भी कोरोना संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर लाल सिंह जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*23. श्री रामनाथ, ड्राईवर, डीटीसी*


अम्बेडकर नगर टर्मिनल में ड्राईवर के पद पर तैनात श्री राम नाथ जी ने कोरोना के दूसरे लहर के दौरान उन्हें डॉक्टर,सुरक्षा कर्मी तथा अन्य जरुरी सेवाओं के लिए तैनात बसों में कोविड ड्यूटी में लगाया गया| इस दौरान वे स्वयं भी संक्रमित हुए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री रामनाथ जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*24.श्री रोहित,कंडक्टर,डीटीसी*


कोरोना के दूसरे लहर में श्री रोहित जी को डीटीसी की कोरोना ड्यूटी के लिए स्पेशल हायर बसों में  ड्यूटी पर तैनात किया गया| इस दौरान उन्होंने डीसी/एसडीएम कार्यालय में कोविड ड्यूटी के लिए तैनात की गई बसों, वैक्सीनेशन के ऑपरेशनलाइजेशन के लिए तैनात बसों, एअरपोर्ट व अस्पताल के लिए तैनात बसों में कोरोना ड्यूटी की| इसी दौरान वे कोरोना संक्रमित हुए और उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री रोहित जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*25. श्री सुनील कुमार, कंडक्टर,डीटीसी*


श्री सुनील कुमार कोरोना के दूसरे लहर में डॉक्टरों, मीडियल स्टाफ व अन्य कोरोना ड्यूटी में लगे स्टाफों की लाने- ले जाने के लिए तैनात की गई बसों में कोरोना ड्यूटी पर लगाया गया| ड्यूटी के दौरान तबियत बिगड़ने पर जब उन्होंने कोरोना टेस्ट करवाया तो वे संक्रमित पाए गए और कुछ दिनों बाद उनका देहांत हो गया|  केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री सुनील कुमार जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*26. श्री. आनंद कुमार मिश्रा, एग्जीक्यूटिव इंजिनियर, डीएसआईआईडीसी*


डीएसआईआईडीसी में बतौर एग्जीक्यूटिव इंजिनियर(सिविल) तैनात श्री आनंद कुमार मिश्रा जी ने कोरोना के दुसरे लहर के दौरान कोरोना अस्पताल घोषित किए गए चौधरी ब्रह्म प्रकाश आयुर्वेदिक चरक संस्थान में ड्यूटी पर तैनात किया गया| इस दौरान वे स्वयं कोरोना संक्रमित हो गए और उनका देहांत हो गया|  केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री आनंद कुमार मिश्रा  जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*27. श्री अरुण कुमार रक्षित, ओएसडी, स्वास्थ्य मंत्री*


श्री अरुण कुमार रक्षित जी कोरोना के दौरान स्वास्थ्य मंत्री के कैंप ऑफिस में आने वाले लोगों की कोरोना से जुडी मदद करने, अस्पतालों से कोआर्डिनेट करने का काम कर रहे थे| इस दौरान उन्होंने सैकड़ों लोगों की मदद की लेकिन ड्यूटी करते वो स्वयं भी संक्रमण की चपेट में आ गए और कोरोना की दूसरी लहर में उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री अरुण कुमार रक्षित  जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|


*28. श्री करमबीर सिंह, सब-इंस्पेक्टर(ड्राईवर), दिल्ली पुलिस*


दिल्ली पुलिस में एसआई श्री करमबीर सिंह, कोरोना के दूसरी लहर के दौरान एसीपी,सीलमपुर के ड्राईवर के रूप में तैनात थे| कोरोना के दौरान लॉकडाउन एन्फोर्समेंट सहित फ़ूड डिस्ट्रीब्यूशन के लिए दिल्ली पुलिस ने एसीपी स्तर के अधिकारियों को नोडल ऑफिसर बनाया था| एसीपी के साथ ड्यूटी पर तैनात करमबीर सिंह जी दूसरी लहर में स्वयं भी संक्रमित हो गए और कुछ दिनों बाद उनका देहांत हो गया| केजरीवाल सरकार ने कोरोना वॉरियर श्री करमबीर सिंह जी के परिवार को 1 करोड़ रूपये की सम्मान राशि देने की घोषणा की है|

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया