ओमान के ग्रैंड मुफ्ती के सामने झुकी बीजेपी

 अरब देशों में सबसे पहले ओमान के ग्रैंड मुफ्ती शेख अहमद बिन हमाद अल खलीली ने भाजपा के खिलाफ ट्वीट कर इस मुहिम को चलाया। उन्होंने लिखा कि भाजपा ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ अश्लील टिप्पणी की है।

ओमान के ग्रैंड मुफ्ती शेख अहमद बिन हमाद अल खलीली ने बीजेपी के खिलाफ ट्वीट किया था। उन्होंने कहा कि भारत में सत्तारूढ़ पार्टी के आधिकारिक प्रवक्ता ने इस्लाम के दूत के खिलाफ ढीठ और अश्लील टिप्पणी की है। ग्रैंड मुफ्ती ने कहा कि ये एक ऐसा मामला है जिसके खिलाफ सभी मुस्लिमों को एक राष्ट्र के रूप में उठना चाहिए। अल खलीली के बयान के बाद अरब देशों में भारत का विरोध देखने को मिला, जिसे लेकर बीजेपी ने अपनी साफाई दी।रविवार को बीजेपी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि पार्टी किसी भी धर्म के खिलाफ नहीं है। बयान में कहा गया, 'हजारों साल के इतिहास में भारत में कई धर्म फले-फूले हैं। बीजेपी सभी धर्मों का सम्मान करती है। बीजेपी किसी भी धर्म के अपमान की कड़ी निंदा करती है। आजादी के 75वें वर्ष पर हम भारत को एक महान देश बनाने में लगे हैं, जहां हर व्यक्ति सम्मान के साथ रह सके।' बीजेपी ने बयान में कहा कि वह इस तरह की किसी भी विचारधारा का समर्थन नहीं करती है। ओमान में भारतीय दूतावास ने भी इस बयान को रीट्वीट किया था।तालिबान के समर्थक हैं अल खलीली

ओमान के ग्रैंड मुफ्ती शेख अहमद बिन हमाद अल खलीली कई इस्लामिक मुद्दों पर अपनी राय रखते रहते हैं। स्वीडन में कुरान को जलाने और तालिबान को लेकर भी उन्होंने अपना राय रखी है। कुरान जलाने को लेकर उन्होंने कहा था कि कुरान जलाने से सिर्फ किताब के अक्षर खत्म होंगे लेकिन उसकी सच्चाई नहीं खत्म होगी। वहीं अफगानिस्तान पर तालिबान के शासन संभालने पर बधाई देते हुए उसे जीत बताया था। अपने बयान में उन्होंने कहा था कि, 'हम स्पष्ट जीत और हमलावर आक्रमणकारियों की शानदार जीत के लिए अफगानिस्तान के मुस्लिम भाईचारे को बधाई देते हैं।'मिल चुका है निशान-ए-पाकिस्तान
ओमान के ग्रैंड मुफ्ती अहमद अल खलीली 79 साल के हैं। नियमित तौर इस्लाम से जुड़े सवालों का जवाब वह टीवी पर देते रहते हैं। ओमान में शराब बैन करने की भी वह सरकार से मांग कर चुके हैं। हालांकि ग्रैंड मुफ्ती को धार्मिक सहिष्णुता का प्रबल समर्थक माना जाता है। इसके अलावा ग्रैंड मुफ्ती को पाकिस्तान का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान निशान-ए-पाकिस्तान भी मिल चुका है। इसके अलावा निशान-ए-इम्तियाज भी उन्हें दिया जा चुका है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया