ख़ानकाहे सक़लैनिया शराफ़तिया में जश्ने यौमे विलादत हज़रत किब्ला शाह शराफ़त अली मियां रह. अलैह पीरो मुरशिद शाह सक़लैन मियां हुज़ूर की सरपरस्ती में मनाया गया,

 बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए बरेली से मुस्तकीम  मंसूरी की रिपोर्ट, 

जरूरतमंद 27 महिलाओं को सिलाई मशीन वितरण कार्यक्रम का आग़ाज़ पीरो मुर्शिद शाह सक़लैन मियां हुज़ूर के द्वारा किया गया, 

बरेली, आज बतारीख़ 29 अप्रैल बरोज़ जुमा तुल विदा मुताबिक 27 रमज़ान उल मुबारक हज़रत किबला शाह मौलाना शराफ़त अली मियां रहमतुल्लाह अलैह की यौमे विलादत का जश्न मनाया गया। मुरीदों व अकीदतमंदों ने देश भर में किब्ला शाह शराफ़त मियां हुज़ूर का जश्ने यौमे विलादत खूब शान ओ शौकत के साथ मनाया,





इस मुबारक ओ पुरनूर मौके पर मुरीदों ने नियाज़ नज़्र व लंगर का बड़े पैमाने पर एहतिमाम किया और लोगों को खाना तकसीम किया, शरबत की सबीलें लगाईं, ज़रूरतमंदो की मदद की, इसके अलावा विदेशों में रहने वाले मुरीदों ने भी इस खुशी में फातिहा ख्वानी कराई और लंगर किया।हज़रत किबला शाह मौलाना शराफ़त अली मियां हुज़ूर की पैदाइश मुबारक कस्बा ककराला के ज़िला बदायूं में सन् 1893 ईस्वी 27 रमज़ान उल मुबारक को अलविदा के दिन ठीक खुतबे के वक्त हुई, आपकी पैदाइश के वक्त आपकी वालिदा रोज़े से थी, आपसे कई लोगों ने रोज़ा तोड़ने को कहा लेकिन आपने रोज़ा न तोड़ा, आपकी वालिदा माजिदा निहायत नेक, तय्यबा, ज़ाहिदा, इबादत गुज़ार खातून थी, आपकी वालिदा अक्सर अल्लाह से ये दुआ करती थी कि ऐ अल्लाह वो कैसी माएं होती हैं जिनके शिकम (पेट) से तू अपने औलिया(अल्लाह वाले) पैदा होते हैं, अल्लाह ने आपकी ये दुआ कुबूल की और आपके शिकम से एक अज़ीम, साहिबे कश्फ बुज़ुर्ग शाह मौलाना शराफत अली मियां हुज़ूर की पैदाइश फरमाई, आप हज़रत किब्ला ओ काबा हज़रत शाह मुहम्मद बशीर मियां हुज़ूर के खलीफ़ा ओ जांनशीन थे, आपने मखलूके खुदा की दादरसी व फरयादरसी के लिए सन् 1950 ईसवी में मोहल्ला शाहबाद में खानकाह शरीफ़ कायम की, आपकी शख्सियत मोहताजे तार्रुफ नहीं आप एक अज़ीम बुज़ुर्ग निहायत ही मुत्तकी, परहेज़गार, इबादत गुज़ार थे

आज यौमे विलादत के इस मुबारक मौके पर ख़ानकाहे सक़लैनिया शराफ़तिया पर फातिहा ख्वानी व लंगर का बड़े पैमाने पर एहतिमाम किया गया, शाम को बाद नमाज़ असर 5:30 बजे दरगाह शरीफ़ पर पीरो मुरशिद शाह सक़लैन मियां हुज़ूर ने फातिहा की, फातिहा के बाद मियां हुज़ूर ने मुसलमानों की हिफाज़त व मुल्क के सुकून ओ सलामती के लिए खुसूसी दुआएं की, इसके बाद दरगाह शरीफ़ के मेहमान खाने में तमाम अकीदतमंदों का रोज़ा अफ़तार कराया गया, जिसमें हज़ारों की तादाद में रोज़ेदारों ने शिरकत की। 

यौमे विलादत के मौके पर 27 सिलाई मशीन वितरण

यौमे विलादत के इस शुभ अवसर पर फैज़ाने शाह सकलैन फाउंडेशन की तरफ़ से 27 वें रमज़ान को हुई विलादत की मुनासिबत से 27 ज़रूरतमंद ख्वातीन (महिलाओं) को सिलाई मशीन तकसीम की गईं, सिलाई मशीन वितरण कार्यक्रम का आगाज़ पीरो मुरशिद शाह सकलैन मियां हुज़ूर के दस्ते मुबारक (कर कमलों) द्वारा किया गया।

ये कार्यक्रम दरगाह शरीफ़ के पास ही फैज़ाने शाह सकलैन कार्यालय पर आयोजित किया गया। 

इस मौके पर हज़रत मुनतखब मियां,हज़रत गाज़ी मियां, सादकैन मियां, हाफ़िज़ गुलाम गौस, गुलाम मुर्तुजा, इंतिखाब अहमद, हाफ़िज़ अमान, हाशिम सकलैनी,  असदक सकलैनी, नज़ीफ सकलैनी, यावर सकलैनी, तनवीर सकलैनी, शारिक सकलैनी, सय्यद आतिफ,, आदि कार्यक्रम में मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया