अल्पसंख्यकों की भागीदारी से ही बदलेगी देश की तस्वीर : इफ़्तेख़ार महमूद

ऑल इंडिया तंज़ीम-ए-इंसाफ का तीन दिवसीय तीसरा राष्ट्रीय सम्मेलन राँची में जारी।

राँची : 27 मार्च को राँची में ऑल इंडिया तंज़ीम-ए-इंसाफ का तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन  के दूसरे दिन अलग-अलग राज्य के प्रतिनिधि वक्ताओं ने सम्मेलन को सम्बोधित किया। राँची के फादर कामिल बुल्के मार्ग स्थित लॉयला ट्रेनिंग सेंटर में चल रहे सम्मेलन में आज केरल, पुडुचेरी, महाराष्ट्र, बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड एवं दिल्ली के प्रतिनिधियों ने भाषण दिया। इसके अलावा अंजुमन इस्लामिया की तरफ से इबरार अहमद ने अपने विचार रखे। 

तीन दिनों तक चले वाले तंज़ीम-ए-इंसाफ के इस राष्ट्रीय सम्मेलन का आज दूसरा दिन है। सम्मेलन में अलग - अलग राज्यों से 155 प्रतिनिधियों ने भाग ले रहे हैं। सम्मेलन की अध्यक्षता पुर्व सांसद एवं तंज़ीम-ए-इंसाफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष अज़ीज़ पाशा कर रहे हैं। 

सम्मेलन में तंज़ीम-ए-इंसाफ के दिल्ली राज्य कमेटी की तरफ से मेज़बान राज्य झारखंड को बेहतर इंतजाम करने के लिए स्मृति चिन्ह प्रदान किया। दिल्ली राज्य कमेटी की ओर से मुस्लिम मोहम्मद ने राष्ट्रीय परिषद सदस्य इफ़्तेख़ार महमूद को स्मृति चिन्ह भेंट किया। 

तीसरे सम्मेलन के  स्वागत समिति के महासचिव इफ़्तेख़ार अहमद ने बताया कि "झारखंड राज्य कमेटी को इन बात की बेहद खुशी है कि यहाँ राँची को सम्मेलन की मेजबानी का मौका मिला है। देश जिस मुश्किल दौर से गुजर रहा है, ऐसे समय में अकलियतों को जागरूक और एकजुट किये बगैर धर्मनिरपेक्षता और राष्ट्रीय एकता की रक्षा नहीं की जा सकेगी।"

सम्मेलन में तंज़ीम के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. ए. ए. खान, पूर्व सांसद हन्नान मुल्ला, झारखंड के अब्दुल कलाम रशीदी, पूर्व सांसद अज़ीज़ पाशा, इफ़्तेख़ार महमूद सहित सैकड़ों प्रतिनिधि शामिल थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग