भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" देश को टूटने नहीं देगा : सैयद असलम

साम्प्रदायिक ताकतों के लिये एक बड़ा अभियान चलाने की तैयारी है। 


नई दिल्ली / शामली मुज़फ्फरनगर (अनवार अहमद नूर) 

 "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" के प्रदेश प्रवक्ता  सैयद असलम ने कहा कि कुछ लोग देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं। सत्ता के मद में चूर बीजेपी भी इनमें शामिल है।  लेकिन ऐसा किसी भी कीमत पर  नहीं होने दिया जाएगा। देश में हिन्दू-मुस्लिम एकता बरकरार रहेगी।"भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" साम्प्रदायिक ताकतों के लिये एक बड़ा विकल्प है। देश में किसी का भी शोषण नही होने दिया जायेगा। राजनैतिक दलो ने हमेशा मुस्लिम समाज का शोषण किया है, नुकसान किया है और अपने हित सीधे किये हैं "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" ने मुस्लिम समाज के हर मुद्दे पर साथ दिया और बोला है और आज भी लड़ाई जारी है।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय गुर्जर की कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है  वे सभी को पूरा सम्मान देते हैं और खास कर मुस्लिम समाज का दिल से सम्मान करते हैं। मैं बता देना चाहता हूं कि डासना मन्दिर के महंत का मामला हो या मौलाना कलीम सिद्दीक़ी जी का मामला हो, कासगंज के अल्ताफ का मामला हो या दिल्ली दंगों का, सी ए एन आर सी की बात हो या राजस्थान का मामला हो। सभी मुद्दों पर मुस्लिम समाज के हित के लिए लड़ा है और लड़ता रहेगा "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आन्दोलन।
हम सभी को एक होकर "भारत बचाओ, संविधान  बचाओ आंदोलन" के साथ जुड़कर देश और समाजों के सम्मान के लिये लड़ाई लड़नी होगी।मौजूदा सरकारे हमको हिन्दू -मुस्लिम में उलझा कर देश के नैतिक मुद्दों से भटकाना चाहती हैं, हमको एक जुट होकर सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ लड़ना होगा। देश मे हिन्दू समाज मे 85 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो मुस्लिम समाज से कोई भेद नही रखते हैं केवल 15 प्रतिशत लोग ही इस तरह के है जो हिन्दू -मुस्लिम के नाम पर बांटकर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं। देश के सकारात्मक सोच के हिन्दू और मुसलमानों को चार कदम आगे निकलकर इस तरह की मानसिकताओं से मुकाबला करना होगा जो हमको आपस मे बांटने का प्रयास कर रहे हैं। "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" की नीति और विचारधारा साफ है और इसमें कोई भेद-भाव नही है। हम हक की बात करते हैं आज संगठन में लाखों लोग जुड़ चुके है और आगामी समय में और अधिक लोग जुड़ेंगे इसलिए मेरा देश के तमाम आवाम से अनुरोध है कि देश की सभी समस्याओं के समाधान के लिये,एकता और अखंडता व भाई चारे के लिये हिन्दू- मुस्लिम एकता का बड़ा पैगाम केवल "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन" ही दे रहा है।बाकी सब लोगों को किसी न किसी बहाने बांटने में लगे हैं और राजनीतिक लाभ की चिंता में लगे है। हमे देश की चिंता है देश बचेगा तभी राजनीति होगी, जब देश ही नही बचेगा तो राजनीति कहां की जायेगी। देश का पीड़ित आवाम 6 महीने साथ दे दे तो सभी समस्या हल करने की गारंटी है। हमारा मकसद शोषण के खिलाफ है आज गरीब जनता,पिछड़े- अगड़े व मुस्लिमो का शोषण किया जा रहा है इसके खिलाफ किसी को तो खड़ा होना था आज "भारत बचाओ, संविधान बचाओ आंदोलन ही एक मात्र ऐसा संगठन है जो मौका परस्त, फिरका परस्त व फासीवादी ताकतों से डट कर मुकाबला कर रहा है और ईद के बाद बड़ी लड़ाई लड़ी जाने की तैयारी है। पूरे प्रदेश को पद यात्राओं के माध्यम से जनता को जागरूक कर जोड़ने के लिये हमारी पूर्ण तैयारी है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

विधायक अताउर्रहमान के भाई नसीम उर्रहमान हज सफर पर रवाना

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र