यूक्रेन पर रूसी हमले के ख़िलाफ़ प्रदर्शन और जमकर हुई नारेबाज़ी।

यूक्रेन दूतावास पर शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि। 

नई दिल्ली (अनवार अहमद नूर) 
रूस के यूक्रेन  पर बड़े सैन्य हमले और तबाही बर्बादी के बाद पूरी दुनिया के देशों में इसकी निंदा हो रही है। साथ ही अमेरिका और नाटो देशों को तुरंत हस्तक्षेप न करने के लिए भी आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है।



भारत की राजधानी दिल्ली में भी आज का दिन यूक्रेन पर रूस के हमले का विरोध करने का रहा। कई संगठन कनाट प्लेस से जंतर-मंतर तक प्रचंड प्रदर्शन करना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया। लेकिन प्रदर्शनकारियों ने रूस के बर्बर हमले का विरोध करते हुए जमकर नारेबाजी की। उधर वसंत विहार में यूक्रेन दूतावास पर पहुंचे लोगों ने हमले में मारे गए लोगों को याद करते हुए उन्हें अपनी शोक श्रद्धांजलि अर्पित की। कैंडल जलाईं। रूसी हमले के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे आइसा संगठन तथा दूसरे लोगों ने नारे लिखे प्ले कार्ड्स हाथों में ले रखे थे। और वह जमकर नारेबाजी करते हुए मांग कर रहे थे कि - 
यूक्रेन में जंग बंद करो, सीरिया में जंग बंद करो, सोमालिया पर हमला बंद करो, यमन पर हमला बंद करो, साम्राज्यवादी हमले बंद करो, रूसी सरकार शर्म करो, यूएस - नाटो शर्म करो, यूक्रेन पर हमला बंद करो। भारतीय विद्यार्थियों को सकुशल वापस लाओ। 
प्रदर्शनकारियों का कहना था कि आम नागरिकों की जान जा रही है और विश्व के देश मूकदर्शक बन कर देख रहे हैं। यूक्रेन को देखते ही देखते नष्ट होने दिया जा रहा है। जो सरासर गलत है। यूक्रेन की तुरंत मदद की जानी चाहिए। और रूस की तानाशाही तथा बर्बरता पर लगाम कसी जानी चाहिए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग