बेताब समाचार बुलेटिन में आपका स्वागत है , Meerut मेरठ में लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के अजंता कॉलोनी में ट्रांसफार्मर की एंगल में सोमवार को करंट उतरने से चार साल के मासूम की मौत हो गई

 बेताब समाचार बुलेटिन में आपका स्वागत है , Meerut मेरठ में लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के अजंता कॉलोनी में ट्रांसफार्मर की एंगल में सोमवार को करंट उतरने से चार साल के मासूम की मौत हो गई, आक्रोशित कॉलोनी के लोगों ने शव सड़क पर रखकर दो घंटे बिजली विभाग के खिलाफ नारेबाजी की, बिजली के अफसरों ने मौके पर पहुंचकर आर्थिक सहायता का भरोसा दिला कर जाम खुलवाया,ईदगाह गोल्डन कॉलोनी में गुलाम नबी परिवार के साथ रहते हैं उनका चार साल का बेटा इब्राहिम अन्य बच्चों के साथ घर से कुछ ही दूरी पर अजंता कॉलोनी में खेल रहा था,अजंता कॉलोनी में रखे ट्रांसफार्मर की एंगल में करंट आने से इब्राहिम चपेट में आ गया,करंट से बच्चे की मौत हो गई, जिस पर आक्रोशित कॉलोनी के लोगों ने शव सड़क पर रखकर करीब दो घंटे जाम लगा दिया, बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई, बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा आर्थिक सहायता का भरोसा दिलाकर जाम खुलवाया जमीयत उलेमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने मुसलमानों से अपने बच्चों को उच्च शिक्षा दिलाने का आह्वान किया, साथ ही दीनी माहौल में बच्चों को आधुनिक शिक्षा दिलाने के लिए स्कूल और कालेजों की स्थापना पर जोर दिया,

मौलाना अरशद मदनी ने एक बयान में कहा कि देश में जिस तरह की धार्मिक और वैचारिक जंग अब शुरू हुई है, इसका मुकाबला किसी टैक्नोलोजी से नहीं किया जा सकता, बल्कि इसमें सफलता प्राप्त करने का एकमात्र रास्ता शिक्षा है,

सच्चर कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक मुसलमान शिक्षा के क्षेत्र में दलितों से भी पीछे हैं। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि सत्ता में आने सभी सरकारों ने हमें शैक्षिक पिछड़ेपन का शिकार बनाए रखा। कहा कि मुसलमान शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़े तब ही वह अपनी योग्यता और क्षमता को दिखा सकते हैं,

मदनी ने कहा कि अब समय आ गया है कि मुसलमान पेट पर पत्थर बांधकर अपने बच्चों को उच्च शिक्षा दिलाएं, हमें ऐसे स्कूल और कॉलेजों की अति आवश्यकता है जिनमें दीनी माहौल में हमारे बच्चे उच्च आधुनिक शिक्षा किसी बाधा और भेदभाव के बिना प्राप्त की जा सके,

बवाना इलाके में डंपर की चपेट में आने से एक बाइक चालक की मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है, पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है,जानकारी के मुताबिक मृतक युवक की पहचान सुदेश के रूप में हुई है, वह परिवार के साथ सेक्टर-4 बवाना इलाके में रहता था। बवाना पुलिस को एक पीसीआर कॉल मिली थी,कॉलर ने बताया था कि बवाना औद्योगिक क्षेत्र सेक्टर-2,ओ ब्लॉक,भगवती चौक के पास एक डंपर वाले ने बाइक चालक को टक्कर मार दी है,

खबर दिल्ली से है,

बेगमपुर इलाके में एक राहगीर महिला को दो गड्डीबाजोंं ने कागज की गड्डी थमाकर हजारों रुपये ठग लिये। वारदात के बाद आरोपी मौके पर पर से फरार हो गए। पुलिस पीडि़त के बयान पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालकर आरोपियों की पहचान करने की कोशिश कर रही है। जानकारी के मुताबिक बुद्ध विहार फेज-2 में रहने वाले शिकायतकर्ता पूनम ने पुलिस को बताया। बीते सोमवार दोपहर करीब दो बजे सेक्टर-24 रोहिणी स्थित एक बैंक में गई थी। वहां पर अपनी जेठानी के खाते में दस हजार रुपये डालने थे। जब वह बैंक के बाहर पहुंची, दो लडक़ों ने उसको रोक लिया,उनमें से एक ने कहा कि उसको दस हजार रुपये खुल्ले चाहिए। अगर आपके पास हैं तो दे दो, एक लडक़े ने उसको एक गड्डी दिखाई,जिसमें ऊपर का नोट असली था, लडक़े ने उसे गड्डी देकर उससे दस हजार रुपये ले लिये, लडक़े ने कहा कि आप यहीं पर रहना हम अभी आकर अपने रुपये ले लेगें,


असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने सहारनपुर जिले की देवबंद विधानसभा सीट से मौलाना उमैर मदनी को मैदान में उतारा है, जिससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुस्लिम वोटों की लड़ाई अब और तेज हो गई है, मौलाना उमैर मदनी देवबंद के एक प्रमुख मदनी परिवार से संबंध रखते हैं, उनके पिता मौलाना मसूद मदनी उत्तराखंड सरकार में पूर्व मंत्री थे, उनके चाचा मौलाना महमूद मदनी जमीयत उलमा-ए-हिंद के अध्यक्ष हैं और उनके दादा अरशद मदनी इस्लामिक मदरसा दारुल उलूम देवबंद के प्रिंसिपल हैं,परिवार का क्षेत्र में मुसलमानों पर काफी प्रभाव है,एक स्थानीय पत्रकार तौफीक कुरैशी ने कहा, "विधानसभा चुनावों में मदनी परिवार के सदस्य के प्रवेश ने पश्चिमी यूपी क्षेत्र में प्रतियोगिता को दिलचस्प बना दिया है क्योंकि उनका स्थानीय लोगों पर प्रभाव है,सहारनपुर और आसपास के जिलों में उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करने में मुस्लिम वोट निर्णायक है,मुस्लिम बहुल रोहिलखंड क्षेत्र में अपने उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए सपा, बसपा और एआईएमआईएम मुस्लिम वोटों के लिए होड़ कर रहे हैं,एआईएमआईएम ने संभल से मुशीर तरीन, असमोली विधानसभा सीट से शकील अशरफी, नगीना सीट से ललिता कुमार, बरहापुर सीट से मोहिउद्दीन, बिलारी सीट से खालिद जामा, नानपारा सीट से मौलाना लाइक और कुर्सी विधानसभा सीट से हाजी कुमैल अशरफ खान को मैदान में उतारा है,दिलचस्प बात यह है कि बहुजन समाज पार्टी भी मुस्लिम वोटों के लिए बोली लगा रही है। पार्टी ने पहले चरण में मतदान के लिए जाने वाले निर्वाचन क्षेत्रों में 16 और दूसरे चरण में 23 मुसलमानों को मैदान में उतारा है। दोनों चरण पश्चिमी यूपी में हैं,पिछले हफ्ते, असदुद्दीन ओवैसी ने 2022 के यूपी विधानसभा चुनावों के लिए मुसलमानों, अन्य पिछड़े वर्गों (ओबीसी) और दलितों के समर्थन वाले दलों को शामिल करते हुए एक नया मोर्चा, भागीदारी परिवर्तन मोर्चा शुरू करने की घोषणा की थी,मोर्चे में बाबू सिंह कुशवाहा के नेतृत्व वाली जन अधिकार पार्टी, वामन मेश्राम के नेतृत्व में भारत मुक्ति मोर्चा, अनिल सिंह चौहान के नेतृत्व वाली जनता क्रांति पार्टी और राम प्रसाद कश्यप के नेतृत्व वाली भारतीय वंचित समाज पार्टी शामिल हैं,



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया