दिल्ली की बड़ी आबादी ने कल पटाखे नहीं जलाए, लेकिन बीजेपी के लोगों ने जानबूझकर पटाखे जलवाए, जिसकी वजह से आज प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई है- गोपाल राय*

 नई दिल्ली, 05 नवंबर, 2021दिल्ली के पर्यावरण मंत्री  श्री गोपाल राय ने आज बताया कि  दिल्ली की सड़कों पर बड़ी एंटी-स्मॉग गन से पानी के छिड़काव की शुरूआत कर दी गई है।अधिक प्रदूषण वाले चौराहों/सड़कों पर 20 बड़ी तथा घूमने वाली एंटी-स्मॉग गन लगायी जाएंगी। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आईटीओ के पास लगाई गई एंटी स्मॉग गन का निरीक्षण किया। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में पिछले सप्ताह एक हजार जगहों पर पराली जलाई जा रही थी, जबकि कल से 3500 से अधिक जगह पर पराली जलाई जा रही है।


दिल्ली की बड़ी आबादी ने कल पटाखे नहीं जलाए, लेकिन कुछ लोगों ने जानबूझकर पटाखे जलाए। जिसकी वजह से आज प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय शुक्रवार को आईटीओ के पास लगाई गई एंटी स्मॉग गन का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली के अंदर प्रदूषण के खिलाफ जो अभियान चल रहा है उसका अक्टूबर के महीने में काफी सकारात्मक परिणाम दिखा। दिल्ली में पिछले 5 साल में सबसे कम प्रदूषण अक्टूबर के महीने में रहा। लेकिन दिल्ली में पिछले 3 दिनों से लगातार प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। जिसके पीछे दो कारण हैं, पहला तेजी के साथ पराली जलने की घटना बढ़ी हैं। अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में 1 हजार जगहों पर पराली जलने की घटनाएं सामने आ रही थीं। वहीं कल से 3500 से अधिक जगह पर पराली जलने का आंकड़ा नासा के चित्र से सामने आया है। एक हजार की जगह 3500  से अधिक जगह पर पराली जलने की घटनाओं का असर दिख रहा है।उन्होंने कहा कि दिल्ली के उन लोगों को बधाई देना चाहता हूं जिन्होंने कल पटाखे नहीं जलाए। लेकिन बीजेपी के लोगों ने जानबूझकर पटाखे जलवाए हैं। जिसके कारण एक्यूआई का स्तर बढ़ा है। इसी वजह से सरकार लोगों और विपक्ष से अपील कर रही थी कि पटाखे ना जलाएं। राजनीतिक फायदे के लिए और जबरन सरकार को बदनाम करने के लिए लोगों को ना उकसाएं। दिल्ली की बड़ी आबादी ने कल पटाखे नहीं जलाए। लेकिन कुछ लोगों ने जानबूझकर पटाखे जलवाए। जिसकी वजह से आज प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई है।गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार अपने अभियान को लगातार जारी रखेगी। दिल्ली के अंदर सड़कों पर आज से स्मॉग गन  पीडब्ल्यूडी द्वारा लगाए जा रहे हैं। दिल्ली के अंदर 20 बड़ी तथा घूमने वाली स्मॉग गन मशीनें लगाने का निर्देश दिया है। दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में जहां पर प्रदूषण का स्तर ज्यादा है, वहां पर केजरीवाल सरकार द्वारा आज से स्मॉग गन के माध्यम से जगह-जगह पानी के छिड़काव की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। जिससे प्रदूषण का स्तर बढ़ा है उसे कम किया जा सके। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री ने कहा कि जब से पटाखा बैन करने की घोषणा हुई, तभी से विपक्ष बयान बाजी कर रहा था। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने हर समय यह बयानबाजी की कि पटाखे जलाने से कुछ नहीं होता। यह धर्म और त्योहार का मसला है। जबकि बार-बार वैज्ञानिक कह रहे हैं कि पटाखे से प्रदूषण होता है। दो दिन पहले तक वायु गुणवत्ता का जो स्तर था वह आज नहीं है। उसमें सिर्फ दो ही चीजें पराली और पटाखे ही जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली का जो बेस प्रदूषण का स्तर पहले था वह अभी भी है। लेकिन पराली और पटाखे, दिवाली के समय प्रदूषण के स्तर को बढ़ाते हैं। हम सब देख रहे हैं कि पटाखे की वजह से प्रदूषण बढ़ा है। दिल्ली के लोगों के हम शुक्रगुजार हैं कि बड़े स्तर पर लोगों ने पटाखे नहीं जलाए। उसकी वजह से आज हमें थोड़ी राहत है। पराली जलने की घटनाएं बढ़ी हैं। हमें लगता है कि जो आज स्थिति है, उसमें धीरे-धीरे सुधार होगा। सरकार के स्तर पर अपने प्रयासों को और तेज करेंगे। जिससे दिल्ली के प्रदूषण को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि पराली जलने की घटनाएं आगामी एक-दो दिनों में बढ़ेगी। एजेंसियों के अनुमान दिखा रहे हैं कि बारिश की वजह से पराली जलना बंद हुई थी, वह अब तेजी के साथ शुरू हुई है। इसलिए हमारा प्रयास है कि दिल्ली के अंदर के प्रदूषण को कम करें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया