पूर्वोत्तर रेलवे, इज्जतनगर मंडल पर 26 नवंबर को मनाया गया संविधान दिवस,

बरेली 26 नवम्बर, 2021: पूर्वोत्तर रेलवे, इज्जतनगर मंडल पर 26 नवम्बर, 2021 को ’’संविधान दिवस’’ समारोह वृहद स्तर पर आयोजित किया गया। प्रधानमंत्री, भारत सरकार श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 11.00 बजे संविधान की प्रस्तावना (प्रियम्बल) पढ़े जाने के लाइव टेलीकास्ट के उपरान्त मंडल रेल प्रबंधक श्री आशुतोष पंत ने अपर मंडल रेल प्रबंधक (परिचालन) श्री अजय वाष्र्णेय, अपर मंडल रेल प्रबंधक (इन्फ्रास्ट्रक्चर) श्री विवेक गुप्ता सहित मंडल के शाखा अधिकारी एवं समस्त रेलकर्मियों को संविधान की प्रस्तावना का पाठ वर्चुअल मीडिया के माध्यम से कराया। इस अवसर पर सभी रेलकर्मियों को मौलिक कर्तव्यों की शपथ भी दिलायी गई।


मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर प्रस्तावना अंकित बैनर पर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया जिसमें स्वयं मंडल रेल प्रबंधक, अपर मंडल रेल प्रबंधक सहित शाखा अधिकारी एवं रेलकर्मियों ने हस्ताक्षर कर संविधान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया। 


इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक श्री आशुतोष पंत ने बताया कि 26 नवम्बर, 1949 को संविधान सभा ने हमारे देश को संविधान दिया था, जिसे 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया। उन्होंने  बताया कि भारतीय संविधान को अंगीकार किये जाने की 72वीं वर्षगांठ पर केन्द्र सरकार द्वारा 26 नवम्बर, 2021 को ’’संविधान दिवस’’ मनाने का निर्णय लिया गया है। 72वीं वर्षगांठ पर आयोजित होेने वाले आयोजन का मुख्य बिन्दु भारतीय संविधान में समाहित ’’मौलिक कर्तव्य’’ है। इस अभियान के तहत मौलिक कर्तव्यों पर आधारित अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गये, जिसमें ब्रोशर, पोस्टर, स्टैण्डीज तथा फ्लायर्स आदि के माध्यम से मौलिक कर्तव्यों के संबंध में जन-जागरण अभियान चलाया गया। इस अवसर पर भारत के संविधान एवं उसमें दिए गए मूल कत्र्तव्यों पर वेबिनार का आयोजन किया गया जिसमें संविधान में प्रदत्त मूल कत्र्तव्यों पर विस्तार से चर्चा की गई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग