पेट में बनने वाली गैस से भरे जाएंगे रसोई गैस के सिलेंडर।

Report By : S A Betab 

नवभारत टाइम्स के रिपोर्टर नीरज बधवार ने  एक फनी  खबर लिखी है। वो खबर बड़ी दिलचस्प है  कि अब  पेट की गैस से भरे जाएंगे घरेलू गैस सिलेंडर। खबर पढ़कर आपके गैस सिलेंडर की कीमत तो कम नहीं होगी लेकिन आपके पेट में जो गैस बन रही है उससे घर के सिलेंडर को भरकर चलाने का आईडिया जरूर मिल जाएगा।

उनकी खबर पढ़कर आपको  एक दो बार हंसी भी आ सकती है जिसे आप को रोकना जरूरी है यदि आपने हंसी नहीं रोकी तो  आपके पेट में जो गैस बन रही है  वह कम हो जाएगी और फिर आप अपनी रसोई का गैस सिलेंडर  इतनी जल्दी नहीं भर पाएंगे क्योंकि फिर आपको पेट में गैस बनाने के लिए  कुछ चीजों का सेवन करना पड़ेगा उसके बाद आपके पेट में गैस बनेगी और तब आपके घर का सिलेंडर भर पाएगा  तो उनके द्वारा लिखी गई खबर अब हम आप को पढ़ाते हैं  उन्होंने लिखा है कि "सिलेंडर गैस की कीमतों से परेशान लोगों के लिए अच्छी ख़बर है। रसोई गैस मामले में लोगों को आत्मनिर्भर बनाने क लिए सरकार ने Fart up India योजना शुरू की है। योजना के बाद आम आदमी अपने पेट की गैस से अपना रसोई गैस का सिलेंडर खुद भर पाएगा। इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए पेट गैस मंत्री फनीशंकर प्रसाद ने बताया कि कि आज आम आदमी दो तरह की गैस से काफी परेशान हैं। एक उसके पेट की गैस और दूसरा रसोई गैस। आम आदमी पेट की गैस कमरे में छोड़ता है तो घर का माहौल खराब होता है और यही गैस वो सोशल मीडिया पर छोड़ता है तो देश का माहौल खराब होता है। इसी को देखते हुए हमने Fart up India योजना शुरू की है ताकि दोनों गैस की प्रॉब्लम एक साथ सॉल्व किया जा सके।आपको बता दें कि इसके लिए केंद्र सरकार ने खास किस्म के सिलेंडर तैयार किए हैं जिसमें लगे पाइप को आम आदमी की तशरीफ में इंस्टॉल किया जाएगा। आम आदमी के गैस छोड़ते ही वो पाइप से होते हुए सिलेंडर में लगे कंवर्टर से सीधे LPG गैस में कंवर्ट हो जाएगी।


फनीशंकर प्रसाद ने बताया कि एक आदमी कितनी गैस बना पाएगा ये इस बात पर डिपेंड करता है कि उसे किस बात पर कितनी गैस बनती है। मतलब जिन लोगों को न्यूज़ चैनलों पर धार्मिक डिबेट देखकर गैस बनती है उनका सिलेंडर एक घंटे में ही भर जाएगा। जिनको क्रिकेट मैच देखकर एक्सपर्ट Opinion देने की गैस बनती है उनका सिलेंडर भी मैच वाले दिन ही भर जाएगा। और जो लोग इनमें से कोई काम नहीं करते उनके पेट में गैस बनाने के लिए हम उन्हें सस्ते रेट पर मूली के परांठे और छोले भटूरे खिलाएंगे।

आखिर में यूनिवर्सिटी ऑफ ढोलकपुर की रिसर्च का हवाला देते हुए मंत्री ने बताया कि आंकड़े बताते हैं कि मूली के दो परांठे खाने के बाद आम आदमी रसोई गैस के 3 सिलेंडर भर सकता है। सिलेंडर भरने के बाद वो उस पर भी मूली के परांठे बनाकर खा ले, तो 10 और लोगो को सिलेंडर भरके दे सकता है। और वो दस लोग आगे हज़ारों सिलेंडर भर सकते हैं। इस तरह महज़ एक महीने में हम इस देश को रसोई गैस के मामले में आत्मनिर्भर बना देंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बरेली के बहेड़ी थाने में लेडी कांस्‍टेबल के चक्‍कर में पुलिस वालों में चलीं गोलियां, थानेदार समेत पांच पर गिरी गाज

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

लोनी नगर पालिका परिषद लोनी का विस्तार कर 11 गांव और उनकी कॉलोनियों को शामिल कर किया गया