शहीद लोकेंद्र की पिछले वर्ष ही शादी हुई थीI वह घर का अकेला वारिस थाI

 मध्य प्रदेश की आष्टा विधानसभा के ग्राम गवाखेड़ा के रहने वाले लोकेंद्र सिंह ठाकुर 4 वर्ष पहले आर्मी में भर्ती हुए थेI  अभी जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में तैनाती के दौरान आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए गोली लगने से शहीद हो गएI उनकी शहीदी की खबर लगते ही गांव में शोक छा गया। वहीं पुलिस और प्रशासन की टीम भी शुक्रवार को ग्राम गवाखेड़ा पहुंची। उसके घर पहुंचकर उसके पिता से मिले और उन्हें धैर्य बंधाया।आज शहीद का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा यहां उनका अंतिम संस्कार किया गया। शहीद लोकेंद्र की पिछले वर्ष ही शादी हुई थीI  वह घर का अकेला वारिस थाI लोकेन्द्र ठाकुर के शहीद होने की खबर जैसे ही उसके परिजनों को लगी जैसे उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई हो। क्षेत्र के लोग सोशल मीडिया पर ही श्रद्धांजलि देने लगेI  


आज सुबह शनिवार को शहीद के शव को पैतृक गांव गवाखेड़ा पहुंचा तो हज़ारों लोगों का जन समूह उसे श्रद्धांजलि देने पहुंचा Iगांव के जिन बुजुर्गों की आंखों के सामने गलियों में लोकेन्द्र खेला करता था उन्हीं आंखों के सामने उसकी अर्थी निकली तो लोगों की आंखों से अश्रुधारा निकल पड़ीI शहीद की शवयात्रा में युवको की टोली भारत माता की जय और लोकेन्द्र सिंह ठाकुर अमर रहे के जयघोष के साथ चल रहे थेI  हर कोई शहीद लोकेन्द्र को अपने मोबाइल में कैद कर रहा थाI शहीद को अंतिम सलामी दी गई व पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत