मौलाना अरशद मदनी के तालिबान समर्थित बयान पर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के शहर अध्यक्ष अनीस अंसारी ने कड़े शब्दों में की आलोचना।

बेताब समाचार एक्सप्रेस के लिए मुस्तकीम मंसूरी की रिपोर्ट

अरशद मदनी जैसे लोग भारत के मुसलमानों को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं, अनीस अंसारी

बरेली , भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के महानगर अध्यक्ष/पूर्व प्रदेश मंत्री अनीस अंसारी ने मौलाना अरशद मदनी के बयान के कड़े शब्दों में आलोचना की है और अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अरशद मदनी जैसे लोग भारत में तालिबान समर्थित विचारों का प्रसार कर रहे हैं।अनीस अंसारी ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय जमाल सिद्दीकी साहब ने भी इस मामले में विरोध दर्ज कराया है की अरशद मदनी जैसे लोग भारत के मुसलमानों को बदनाम करने की साज़िश रच रहे हैं।ये लोग मुसलमानों को कट्टरपंथी विचारधारा की बेड़ियों में जकड़ना चाहते हैं।देश में मुसलमानों के पिछड़ेपन का सबसे बड़ा कारण अरशद मदनी जैसे लोग ही हैं।मुस्लिम महिलाओं की 'को-एजूकेशन' पर सवाल उठाना इनकी संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है।अरशद मदनी को ज्ञात होना चाहिए कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है,यहाँ चीज़ें संविधान से चलती हैं ना कि उनकी तालिबानी सोच से।


वर्षों तक तीन तलाक़ जैसी कुरीतियों से मुस्लिम महिलाओं को बांधकर रखा और अब उनकी शिक्षा पर भी पाबंदियां लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

अनीस अंसारी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में मुस्लिम महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए भाजपा सरकार द्वारा बहुत से ठोस क़दम उठाये जा रहे हैं परन्तु धर्म के ठेकेदारों को यह बात हज़म नही हो रही है।मुस्लिम महिलाओं के पिछड़े होने का सबसे बड़ा कारण कांग्रेस की घटिया राजनीति है जिसने अपनी वोट बैंक की राजनीति के कारण कभी इन महिलाओं के हक़ के लिए आवाज़ नही उठायी।मगर इसके विपरीत भाजपा सरकार ने मोदी जी के संकल्प 'सबका साथ,सबका विकास और सबका विश्वास' को चरितार्थ करते हुए समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को मुख्यधारा से जोड़ने का काम किया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग