आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के सिपाही भाजपा के इन दो कौड़ी के नोटिस और समन से घबराने वाले नहीं - राघव चड्ढा*

नई दिल्ली, 22 सितंबर, 2021मोदी सरकार के सबसे चहेते विभाग प्रवर्तन निदेशालय की ओर से भेजे गए नोटिस पर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव आज ईडी के सामने पेश हुए। उनके साथ मौजूद ‘आप’ के वरिष्ठ प्रवक्ता एंव विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि देश भर में आम आदमी पार्टी के बढ़ते ग्राफ और अरविंद केजरीवाल की बढ़ती लोकप्रियता से भाजपा घबरा गई है और ईडी से नोटिस भिजवा कर हमारी छवि धूमिल करने की कोशिश कर रही है। भाजपा जब हमें इलेट्रोरली असेसिनेट नहीं़ पा रही है, तो हमारा इलेट्रोरल असेसिनेशन करने पर उतर आई है। उत्तराखंड, पंजाब, गुजरात और गोवा के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ‘आप’ को परेशान और प्रताड़ित करने के लिए भाजपा षड्यंत्र के तहत यह नोटिस भेज रही है। उन्होंने कहा कि बीते 7 सालों में भाजपा के एक भी नेता को ईडी का नोटिस नहीं आया, लेकिन ‘आप’ को हर साल नोटिस आए और हमें हर मामले में क्लीन चिट मिली है। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि भाजपा को लोगों के दिलों में जगह बनानी है और ‘आप’ को चुनौती देनी है, तो अरविंद केजरीवाल की तरह की काम की राजनीति करनी पड़ेगी, बदले की राजनीति से यह नहीं होगा। 

*आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल की बढ़ती लोकप्रियता और जनाधार से डरी भाजपा ने अपनी सारी एजेंसियों के घोड़े खोल दिए हैं- राधव चड्ढा*


आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता एवं विधायक राघव चड्ढा ने आज प्रवर्तन निदेशालय के मुख्यालय पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी की बढ़ती लोकप्रियता और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल की बढ़ती लोकप्रियता और बढ़ता जनाधार को देखकर भारतीय जनता पार्टी बहुत बौखला और घबरा गई है। भाजपा इतना डर गई है कि अब उन्होंने अपनी सारी एजेंसियों के घोड़े खोल दिए हैं और आम आदमी पार्टी को बदनाम व परेशान करने के लिए और हमारा समय बर्बाद करने व हमारे रिसोर्सेज बर्बाद करने के लिए हमें नोटिस और समन भेजना शुरू कर दिया है। उसी श्रृंखला में आज प्रवर्तन निदेशालय जो नरेंद्र मोदी सरकार का सबसे चहेता विभाग है, जिसे हर राजनैतिक विरोधी पर छोड़ दिया जाता है। आज उसी प्रवर्तन निदेशालय ने आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव को समन किया है। नोटिस भेज कर पूछताछ के लिए हमें यहां 11ः30 बजे बुलाया गया है। 
*आम आदमी पार्टी की उत्तराखंड में इंट्री से घबराई भाजपा को दो-दो बार अपना मुख्यमंत्री बदलना पड़ा- राघव चड्ढा*

राघव चड्ढा ने कहा कि जिस रास्ते पर हम चले हैं, इस पर कठिनाइयां तो जरूर आएंगी। हमारे नेता अरविंद केजरीवाल ने हमेशा हमें यही सिखाया है कि इस रास्ते पर बहुत कठिनाइयां आएंगी, लेकिन हम लोग डटकर इन कठिनाइयों का सामना करेंगे। भारतीय जनता पार्टी के इन मंसूबों और गीदड़ भभकियों से आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से भेजे गए नोटिस की टाइमिंग सवाल खड़े करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उत्तराखंड जाते हैं, वहां काम की राजनीति की बात करते हैं और उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी की एंट्री होती है। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी को उत्तराखंड में दो-दो बार अपना मुख्यमंत्री बदलना पड़ता है और भाजपा आम आदमी पार्टी को देख बौखला जाती है। 

*अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में भाजपा के गढ़ सूरत में ‘आप’ ने 27 सीटें जीत कर चुनौती दी, तो भाजपा को गुजरात में भी अपना मुख्यमंत्री बदलना पड़ा- राघव चड्ढा*

इसी तरह, आम आदमी पार्टी गुजरात जाती है और अरविंद केजरीवाल के नाम पर भारतीय जनता पार्टी के गढ़ सूरत में आम आदमी पार्टी 27 सीटें जीतकर भाजपा को चुनौती देती है और भाजपा गुजरात में भी अपना मुख्यमंत्री बदलने को मजबूर हो जाती है। आम आदमी पार्टी गोवा जाती है। कांग्रेस को खदेड़ कर मुख्य विपक्ष की भूमिका में आकर भाजपा को चुनौती देती है। आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल जी पंजाब जाते हैं, जहां सारे ओपिनियन पोल दिखा रहे हैं कि आम आदमी पार्टी आने वाले समय में पंजाब में सरकार बनाने जा रही है। इससे स्पष्ट है कि आने वाले उत्तराखंड, पंजाब, गुजरात और गोवा के चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी अब आम आदमी पार्टी को परेशान और प्रताड़ित करने के लिए षड्यंत्र के तहत हमें यह नोटिस भेज रही है। 

*बीते 7 सालों में भाजपा के एक भी नेता को ईडी का नोटिस नहीं आया, जबकि आम आदमी पार्टी को हर साल नोटिस आए- राघव चड्ढा*

‘आप’ के वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा ने मीडिया के संज्ञान में लाते हुए कहा कि बीते 7 सालों में भारतीय जनता पार्टी के एक भी नेता को ईडी का नोटिस नहीं आया, लेकिन जब से आम आदमी पार्टी बनी है, तब से लेकर आज तक हर असेसमेंट ईयर में इनकम टैक्स के नोटिस आए। हमारे 21-21 विधायकों पर फर्जी मुकदमे किए गए। 20 विधायकों को विधानसभा से निलंबित कर उनकी सदस्यता रद्द की गई। केजरीवाल सरकार की 450 फाइले सुंगलू कमेटी को भेजकर जांच करवाई गई। मुख्यमंत्री के कार्यालय, उप मुख्यमंत्री के घर और स्वास्थ्य मंत्री के घर पर रेड कराई गई। यहां तक कि हमारे विधायक सोमनाथ भारती के कुत्ते तक को दिल्ली पुलिस ने अरेस्ट किया। यह दुर्भावना से प्रेरित भारतीय जनता पार्टी के हथकंडे हैं। लेकिन इन सारे मामलों में जितनी जांच हुई, चाहे वह 2012, 2015 व 2017 में मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स द्वारा किए गए फॉरेन फंडिंग की जांच हो, हर असेसमेंट ईयर में इनकम टैक्स द्वारा भेजे गए नोटिस हो, हर मामले में आम आदमी पार्टी को क्लीन चिट मिली है। इसलिए क्लीन चिट मिली है, क्योंकि हम पाक साफ हैं और इन गीदड़ भभकियों से डरते नहीं है। 

*आम आदमी पार्टी के लोग और अरविंद केजरीवाल के सिपाही भाजपा के इन दो कौड़ी के नोटिस और समन से घबराने वाले नहीं- राघव चड्ढा*

राघव चड्ढा ने भाजपा को सलाह देते हुए कहा कि भाजपा को अगर हमसे लड़ाई लड़नी है, तो अरविंद केजरीवाल की तरह काम की राजनीति करके लोगों के दिल जीतने की कोशिश करे। यह नोटिस और यह समन भेजकर तुम्हें अगर लगता है कि तुम हमें डरा सकते हो, खदेड़ सकते हो और हम घबरा जाएंगे, तो मैं यह कहना चाहता हूं कि आम आदमी पार्टी के लोग और अरविंद केजरीवाल जी के सिपाही इस मिट्टी के नहीं बने हैं कि तुम्हारे इन दो कौड़ी के नोटिस और समन से हम घबरा जाएं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से लेकर गुजरात और पंजाब से लेकर गोवा तक आम आदमी पार्टी के बढ़ते ग्राफ और अरविंद केजरीवाल की बढ़ती लोकप्रियता देख भारतीय जनता पार्टी इतना घबरा गई है कि जब वह हमें इलेट्रोरली असेसिनेट नहीं़ पा रही है, तो वे हमारा इलेट्रोरल असेसिनेशन करने पर उतर आए हैं। भाजपा यह नोटिस भेज हमें परेशान व प्रताड़ित करके हमारी छवि धूमिल करने की कोशिश कर रही है। 

*‘आप’ कानून के शासन में विश्वास रखती है और हम जांच में पूरा सहयोग करेंगे- राघव चड्ढा*

उन्होंने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी वालों को कहना चाहूंगा कि हम हर जांच के लिए तैयार हैं। आज भी हम ईडी के सामने पेश होंगे। हमें कोई चिंता नहीं है। हमारे सारे बही खाते और सारे अकाउंट, आपकी सारी एजेंसियां दसियों बार देख चुकी हैं। हमें किसी बात का डर नहीं है, लेकिन अगर लोगों के दिलों में जगह बनानी है, आम आदमी पार्टी को चुनौती देनी है, तो अरविंद केजरीवाल की तरह अच्छे काम की राजनीति करके करो, बदले की राजनीति से यह नहीं होगा। आम आदमी पार्टी पूरी तरह से रूल ऑफ लॉ में विश्वास रखती है और हम यही प्रार्थना करते हैं कि रूल ऑफ वेंडटा पॉलिटिक्स ( बदले की भावना से की जा रही राजनीति की हार हो) हारे और रुल ऑफ लॉ इस लड़ाई में जीते। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी कानून के शासन में विश्वास रखती है। हम जांच में पूरी तरह सहयोग करेंगे। लेकिन यह कहना चाहते हैं कि यह कानूनी नोटिस नहीं है, बल्कि यह राजनीतिक नोटिस है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरधना के मोहल्ला कुम्हारान में खंभे में उतरे करंट से एक 11 वर्षीय बच्चे की मौत,नगर वासियों में आक्रोश

जिला गाजियाबाद के प्रसिद्ध वकील सुरेंद्र कुमार एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को देश में समता, समानता और स्वतंत्रता पर आधारित भारतवासियों के मूल अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लिखा पत्र

ज़िला पंचायत सदस्य पद के उपचुनाव में वार्ड नंबर 16 से श्रीमती जसविंदर कौर की शानदार जीत