राबिया सैफी सिविल डिफेंस पुलिसकर्मी हत्याकांड में सीबीआई जांच हो उसके परिवार को 5 करोड़ आर्थिक सहायता और एक सरकारी नौकरी मिले*


( इंदौर जिले में चूड़ी बेचने वाले तस्लीम एवं जावेद मंसूरी के साथ हुई मोब लिंचिंग की अंजाम देने वाले ब्राह्मण वादियों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा पंजीकृत हो)

मेरठ:- सिविल डिफेंस दिल्ली में महिला पुलिसकर्मी राबिया उर्फ सर्बिया सैफी के साथ सामूहिक बलात्कार और मर्डर एव प्राइवेट पार्ट काट दिए जाने की घोर निंदा करते हुए बहुजन क्रांति मोर्चा राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा एवं बहुजन मुक्ति पार्टी ने मिलकर एक ज्ञापन दिया।


 राबिया सैफी दिल्ली एवं मध्य प्रदेश राज्य के तस्लीम चूड़ी बेचने वाले एवं देवास जिले के जीरा बेचने वाले जावेद मंसूरी के साथ हुई मॉब लिंचिंग की घटना को अंजाम देने वाले ब्राह्मण वादियों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मुकदमा पंजीकृत कर उच्च स्तरीय जांच कराए जाने हेतू एक ज्ञापन जिला मेरठ जिला अधिकारी के द्वारा सौंपा गया। जिसमें अपराधियों को कठोर से कठोर सजा देने की मांग की गई और सबिया के परिवार वालों को 5 करोड़ सहयोग राशि एवं एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग की यह धरना प्रदर्शन उत्तर प्रदेश के 550 जिलों में जिला मुख्यालयों द्वारा दिया गया।


बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आरडी गादरे ने कहां की राबिया सैफी पीड़िता सिविल डिफेंस विभाग में सेवा में कार्य कर रथी लेकिन पुलिस की शुरुआती पूछताछ में निजामुद्दीन नामक उसके ही विभाग का एक व्यक्ति को कुबूल कराया गया कि वह उसका लेकिन उसका कोई दस्तावेज पेश नहीं किया गया। सबिया के परिवार के अनुसार कोई शादी कोर्ट मैरेज नही प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है और हो सकता है अफसरों कर्मचारियों के द्वारा निजामुद्दीन नामक व्यक्ति को मोहरा बनाकर पेश किया जा रहा हो। सबिया के परिवार के सदस्यों को कॉल रिकॉर्डिंग से भी पता चलता है कि उसकी साथी महिला कुछ छुपा रही है और मृतक सर्बिया को दिल्ली पुलिस में हिरासर के केस में फरीदाबाद हरियाणा ले जाने का कोई औचित्य नहीं था तो इसमें डीएम कार्यालय या पुलिस विभाग के अफसर या कर्मचारियों का शामिल होना भी प्रश्नचिन्ह लगाता है आए दिन देश प्रदेशों में एससी एसटी ओबीसी माइनॉरिटी की बहन बेटियों के साथ दुर्व्यवहार के अत्याचार की घटना आम हो चुकी है और मोदी योगी सरकार इसमें संध्या के मामले में आती है सर्बिया और शराबिया के शरीर और प्राइवेट अंगों को काटना और 50 100 जख्मी शरीर पर मिलना साबित करता है कि इसमें बहुत सारे दरिंदों का हाथ है प्रदेश मीडिया प्रभारी आर डी गादरे ने आगे बताया कि मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के चूड़ी बेचने वाले तस्लीम और देवास जिले में जीरा बेचने वाले जावेद मंसूरी के साथ मॉब लिंचिंग की घटना को अंजाम देने वाले ब्राह्मणवादियों के खिलाफ देशद्रोह राजद्रोह का मुकदमा पंजीकृत कर उच्च स्तरीय जांच भी कराई जानी चाहिए। अपराधियों को कठोर से कठोर सजा दी जानी चाहिए ज्ञापन के जरिए से भारत सरकार माननीय महामहिम राष्ट्रपति जी से यह भी विनती की गई कि सबिया उर्फ  राविया के सामूहिक बलात्कारियों और हत्या के मामले में माननीय उच्च न्यायालय माननीय सर्वोच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति जजों के द्वारा जांच कर मुख्य सूत्रधारो को सजा दिलाने के लिए जांच कमेटी का गठन कर पीड़िता के दोषियों को सजा दी जाए और पीड़ित परिवार को 5 करोड़ का मुआवजा देकर परिवार के कोई एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। ज्ञापन देने वालों में डॉ एस पी सिंह बहुजन क्रांति मोर्चा राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा के डॉक्टर फारुख हुसैन बहुजन मुक्ति पार्टी के जिला अध्यक्ष ओमवीर सिंह प्रदेश मीडिया प्रभारी आर डी गादरे आई पी एल ए के एडवोकेट रियासत अली हैदर जैदी एडवोकेट अतर सिंह गुप्ता एडवोकेट सलीम खान एडवोकेट राजीव मौर्या भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष एडवोकेट राहुल कुमार भारतीय महिला संघ मूलनिवासी आयुष मती दीपा दीपांकर भोजन मुक्ति पार्टी के संगठन मंत्री मेरठ दक्षिण विधानसभा सूफी अमजद अली अंसारी अखिल भारतीय युवा समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरडी गादरे प्रसिद्ध शायर परवाना साहब दिष्ट इंटरनेशनल श्री रविंद्र कुमार खेड़ा राष्ट्रीय किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष चौधरी इश्तियाक राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुनील कुमार सैनी महेंद्र पाल चौधरी तालिब शहजाद सेक्सी इम्तियाज मलिक नरेश जाटव मुकेश गुर्जर रविंद्र भडाना वीरेश कश्यप आदि दर्जनों संगठनों के पदाधिकारी मौजूद रहे

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग