बलात्कार नही सामूहिक बलात्कारी दरिन्दों,साबिया के दोषियों को फांसी दो-गादरे*



*बेटियों के साथ इस तरह की घटना देश प्रदेश में चारो ओर  से क्यों आए दिन घटित हो रही है*


मेरठ:- दिल्ली यूपी और तमाम देश में आए दिन बलात्कार ही नहीं सामूहिक बलात्कार की घटनाएं आम हो गई हैं। केंद्र सरकार प्रदेश सरकार का नारा बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ धूमिल हो रहा है। केंद्र सरकार दिल्ली सरकार या यूपी सरकार या अन्य प्रदेशों के सरकार आंखें बंद कर दोषियों को सह दे रही हैं। 

बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे ने प्रेस को बताया कि आज देश में बेटियाँ सुरक्षित नही हाल फिलहाल की घटना साबिया urf (RAVIYA ) उम्र 21 पिता का नाम शमीद । पता बंकाबाला ठाकुरद्वारा मुरादाबाद उत्तरप्रदेश से दिल्ली संगम विहार में रहने लगे। साबिया के परिवार से हुई बातचीत अनुसार जिलाधिकारी के आफिस में लड़की संविदा पर जॉब करती थी। जॉब करते हुए अभी सिर्फ चार महीने हुए थे। सब कुछ घर में अच्छा चल रहा था । लड़की खुश थी मां बाप खुश थे । 27/08/2021 की रात 8 bje से लड़की जॉब से घर नहीं लौटी। मां बाप ने पुलिस थाने भी जा कर देखा। हर जगह गए डीएम ऑफिस में जॉब करती थी। लड़की वहा से भी कोई मदद नहीं मिली। सुबह तक मां बाप ने रो रो कर इंतजार किया । किसी पर शक नही था क्योंकि लड़की की किसी से दुश्मनी नहीं थी । वो हमेशा समय से घर आती थी उस दिन की रात उसके साथ रेप हुआ बलात्कार नही सामूहिक बलात्कार किया और उसके साथ काम करने वाली लड़की भी सामिल थी। उसको काफी जगह चाकू घोंपा गया। उसके शरीर को नोचा गया। सीने को नोचा गया , दोनो स्तन को काट दिया गया। मैं शर्म दिलाना चाहता हूं दिल्ली सरकार को, और आवाहन करता हूं अपने देश के नागरिकों का ओर अपने अधिवक्ता समाज का की इस तरह के कैसो में लड़कियों को इंसाफ दिलाने में आगे आये। जिससे पुलिस असली गुनाहगारो को गिरफ्तार करके माननीय न्यायाल के समक्ष पेश कर सके, बात यहां हिन्दू या मुस्लिम की नही हैं बल्कि एक बेटी की हैं।



 इस तरह की हरकत करने वाले जानवरो को सजा दिलाने में और  उनकी औकात याद दिलाने में बहुजन मुक्ति पार्टी की सरकार लाना होगा जिससे 85% मूल निवासियों को हक अधिकार दिलाये जाये।  इस केस को दबाने के लिए निजामुद्दीन नामक व्यक्ति अपने आप को साबिया का पति बताकर अपने आप को हत्यारा बताकर पेश किया गया है। लेकिन जिस तरह से शरीर की और म्रतक की स्धिति मिली वो बयां कर देने वाली घटना कि बलात्कार नही सामूहिक बलात्कार हत्याया की गयी। साबिया उर्फ राविया के परिवार वालों ने बताया कि सबिया ने कभी अपनी मा भाई बाप किसी को प्यार या शादी निकाह का कुछ नही किया गया। यानी निजामुद्दीन नामक व्यक्ति किसी षडयन्त्र का आगाज बयां कर देने वाली घटना सुनकर भारतीय संस्कृति पर धब्बा है बहुजन मुक्ति पार्टी सी बी आई जाँच की माँग करती है और गुनाहगारों को फांसी की सजा की मांग करती है। सूफी अमजद अली अन्सारी परवाना मेरठी एड अतर सिंह गुप्ता एडवोकेट तौफीक हकीमुद्दीन काज़िम अहमद रामकुमार बौद्ध संजय कुमार महमूद महाराज सैफी सोहनबीर सिंह मोहन कुशवाहा राकेश कुमार चौ शहजाद शादाब आरिफ खुर्शीद आलम ओमवीर सिंह आदि ने मा राष्ट्रपति महोदय न्यायालय से न्याय की रक्षा करने मे सहयोग देने की मांग की।  

justiceForRabiya

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग