उत्तर प्रदेश में अब रात 9:00 बजे से लागू होगा कुरौना कर्फ्यू, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जारी किए आदेश।

रात के कर्फ्यू में बढ़ेगी सख्ती, नौ बजे से होगी गश्त 

 मुस्तकीम मंसूरी
की रिपोर्ट

प्रदेश में कोरोना वायरस को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। केरल और महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आने के बाद यूपी में सतर्कता बढ़ा दी गई है। रात 9:00 बजे से कोरोना कर्फ्यू लागू करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। इस दौरान पुलिस गश्त करेगी। यह निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस नियंत्रण की समीक्षा बैठक के दौरान दी। प्रदेश में कोरोना वायरस नियंत्रित है। प्रतिदिन करीब ढाई लाख से अधिक लोगों की जांच की जा रही है। टीकाकरण का ग्राफ भी 7 करोड़ से अधिक हो गया है। उसके बाद भी किसी तरह की ढिलाई खतरनाक हो सकती है। महाराष्ट्र से तमाम लोगों का उतर प्रदेश आना जाना रहता है। ऐसे में यहां भी घर से बाहर निकलने पर मास्क की अनिवार्यता बरकरार रखने का निर्देश दिया गया है। लोगों से अपील की गई है कि भीड़-भाड़ वाली जगहों से परहेज करें। लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन के लिए फिर से जागरूक किया जा रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रात्रिकालीन कर्फ्यू को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए हैं। सीएम के आदेश के बाद रात 10 बजे तक बाजार बंद हो जाएंगे और सड़कों पर अनावश्यक घूमते लोगों के साथ सख्ती की जाएगी। रात्रिकालीन कर्फ्यू को प्रभावी बनाने के लिए रात 9:00 बजे से ही  पुलिस टीम हूटर बजाकर अथवा लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को 10 बजे तक घर जाने की अपील करेगी।    

अस्पतालों में तैयारी बढ़ाने के निर्देश

कोरोनावायरस की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए अस्पतालों एवं मेडिकल कॉलेजों में इलाज व्यवस्था को बेहतर करने का काम तेजी से जारी है। बच्चों के लिए पीकू और पीकू जैसी विशेष चिकित्सा सुविधाएं की जांच की जा चुकी है।इसी तरह ऑक्सीजन युक्त आइसोलेशन बेड को बढ़ोतरी के निर्देश दिए गए हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पीलीभीत के थाना जहानाबाद की शाही पुलिस चौकी के पास हुआ हादसा तेज़ रफ्तार ट्रक ने इको को मारी टक्कर दो व्यक्तियों की मौके पर हुई मौत, एक व्यक्ति घायल|

सिविल डिफेंस में काम करने वाली राबिया की हत्या करके हत्यारा हरियाणा से दिल्ली के कालंदिकुंज थाने में आकर क्यों करता है सिरेंडर, खड़े हो रहे हैं कुछ सवाल?

लापता दो आदिवासी युवकों की संदिग्ध मौत की तुरंत जांच की मांग